Submit your post

Follow Us

मुज़फ़्फ़रनगर दंगे में भाजपा विधायक नामज़द थे, योगी सरकार ने केस वापिस लेने की सिफ़ारिश कर दी

यूपी का 2013 का मुज़फ़्फ़रनगर दंगा. इस दंगे में भाजपा नेताओं सुरेश राणा, संगीत सोम और कपिल देव का नाम सामने आया था. 2017 में ये तीनों भाजपा के टिकट पर विधायक बन गए. अब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भाजपा विधायकों के खिलाफ़ दर्ज मुक़दमों को वापिस लेने की सिफ़ारिश कर दी है.

इन तीनों नेताओं पर सितम्बर 2013 के दौरान मुज़फ़्फ़रनगर के नगला मंडोर गांव में आयोजित महापंचायत में भड़काऊ भाषण देने का आरोप है. आरोप है कि इसी भाषण के बाद मुज़फ़्फ़रनगर में जाट और मुस्लिम समुदाय के बीच हिंसा भड़की थी. 

संगीत सोम
संगीत सोम

वर्तमान में संगीत सोम मेरठ की सरधना विधानसभा से विधायक हैं, सुरेश राणा शामली के थाना भवन से और कपिल देव मुज़फ़्फ़रनगर सदर की सीट से विधायक हैं. इन तीनों के अलावा साध्वी प्राची का भी नाम इस लिस्ट में हैं.

आरोप ये भी है कि इन तीनों नेताओं ने सरकार के आदेशों का उल्लंघन किया, सरकारी तंत्र के साथ बहस में उतर आए और आगजनी में शामिल थे. इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में सरकारी वक़ील राजीव शर्मा ने बताया है कि केस वापिस लेने की याचिका कोर्ट में लगा दी गयी है, और अभी मामला लम्बित है.

सुरेश राणा
सुरेश राणा

भाजपा विधायकों और पूर्व सांसद हरेंद्र सिंह मलिक के खिलाफ़ शिखेड़ा पुलिस थाने में केस दर्ज किया गया था. आरोप लगा कि उन्होंने महापंचायत में एक ख़ास समुदाय के खिलाफ़ भाषण दिया. निषेधाज्ञा का उल्लंघन किया और बिना किसी अनुमति के महापंचायत का आयोजन किया. इन पर IPC की धारा 188, 353, 153A, 341 और 435 के तहत मुक़दमे दर्ज किए गए. राज्य सरकार द्वारा गठित SIT ने संगीत सोम, सुरेश राणा, कपिल देव, साध्वी प्राची और हरेंद्र मालिक के खिलाफ़ चार्जशीट भी दायर कर दी थी.

Kapil Dev
कपिल देव अग्रवाल

इसके बाद साल 2017 में प्रदेश की सत्ता बदली. योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री बने. फ़रवरी 2018 में भाजपा सांसद संजीव बालियान की अध्यक्षता में खाप चौधरियों का एक दल मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिला. इंडियन एक्सप्रेस की ख़बर की मानें तो इस दल ने आदित्यनाथ से मुज़फ़्फ़रनगर दंगों में हिंदुओं के खिलाफ़ दर्ज मुक़दमों को वापिस लेने की सिफ़ारिश की. इसके बाद राज्य सरकार ने तमाम पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों से राय मांगी, ताकि मुक़दमा वापसी की प्रक्रिया शुरू की जा सके.

हुआ क्या था?

27 अगस्त 2013. जाट समुदाय के दो युवकों सचिन और गौरव की कवाल गांव में हत्या हो गयी थी. कैसे? ख़बरें बताती हैं कि सचिन और गौरव ने एक मुस्लिम युवक शाहनवाज़ क़ुरैशी की हत्या कर दी थी, जिसके बाद मुस्लिम समुदाय की भीड़ ने सचिन और गौरव की पीट-पीटकर हत्या कर दी.

7 सितंबर 2013. नगला मंडोर गांव के एक इंटर कॉलेज में जाट समुदाय ने इसी विषय पर महापंचायत का आयोजन किया. ख़बरें बताती हैं कि महापंचायत से लौट रहे लोगों पर हमला हुआ, जिसके बाद मुज़फ़्फ़रनगर में दंगा भड़क गया. आसपास के कुछ जिलों तक दंगों की आंच पहुंची. कुल 65 लोग मारे गए थे, जबकि 40 हज़ार से ज़्यादा लोग विस्थापित हुए थे. कुल 510 केस दर्ज किए गए, जिसमें से 175 केसों में पुलिस ने चार्जशीट दायर की. कहा जाता है कि बाक़ी बचे मुक़दमों में पुलिस ने या तो क्लोज़र रिपोर्ट लगा दी या तो केस ही बंद कर दिया.


लल्लनटॉप वीडियो : दिल्ली दंगा: कपिल मिश्रा ने पुलिस से कहा, ‘मैंने कोई भाषण नहीं दिया था’

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

हाथरस के मंदिर में रात को 3 लोग आए, 5 बार हाथ जोड़े और वॉशिंग मशीन, दानपेटी उठा ले गए

हाथरस के मंदिर में रात को 3 लोग आए, 5 बार हाथ जोड़े और वॉशिंग मशीन, दानपेटी उठा ले गए

पुलिस का दावा है कि मामला चोरी का नहीं है

UP की फैक्ट्री में बड़ा हादसा, दो लोगों की मौत हो गई और 15 लोग घायल हैं

UP की फैक्ट्री में बड़ा हादसा, दो लोगों की मौत हो गई और 15 लोग घायल हैं

अमोनिया गैस लीक होने के चलते हुए हादसा.

कभी कृषि कानूनों की पक्षधर रहीं पार्टियों ने अब यूटर्न क्यों ले लिया है?

कभी कृषि कानूनों की पक्षधर रहीं पार्टियों ने अब यूटर्न क्यों ले लिया है?

जानिए पहले क्या था इन राजनीतिक दलों का स्टैंड

क्या बढ़िया फ्रिज न होने के कारण इंडिया में कोरोना वैक्सीन लगने में और लेट हो सकती है?

क्या बढ़िया फ्रिज न होने के कारण इंडिया में कोरोना वैक्सीन लगने में और लेट हो सकती है?

कोल्ड चेन का पूरा तिया पांचा यहां समझिए.

साल 2015 के बाद गुजरात, केरल, बंगाल, महाराष्ट्र और बिहार के बच्चों में बढ़ा कुपोषण

साल 2015 के बाद गुजरात, केरल, बंगाल, महाराष्ट्र और बिहार के बच्चों में बढ़ा कुपोषण

सर्वे का दावा, बच्चों की लम्बाई और वज़न ख़तरनाक तरीक़े से घट रहे

क्या कोरोना की नई वैक्सीन लगवाने के बाद लोगों को लकवा मार जा रहा है?

क्या कोरोना की नई वैक्सीन लगवाने के बाद लोगों को लकवा मार जा रहा है?

वैक्सीन लगवाने पर कुछ लोगों में एलर्जी की समस्या भी सामने आई है.

किसान आंदोलन के समर्थन में वैज्ञानिक ने केंद्रीय मंत्री के हाथ से अवॉर्ड लेने से मना कर दिया

किसान आंदोलन के समर्थन में वैज्ञानिक ने केंद्रीय मंत्री के हाथ से अवॉर्ड लेने से मना कर दिया

पत्र में कहा, 'ये मेरी अंतरात्मा के खिलाफ़ है'

350 करोड़ का स्कैम उजागर करने वाले RTI एक्टिविस्ट की मौत पर पुलिस और फ़ैमिली अलग कहानी क्यों बता रहे?

350 करोड़ का स्कैम उजागर करने वाले RTI एक्टिविस्ट की मौत पर पुलिस और फ़ैमिली अलग कहानी क्यों बता रहे?

पुलिस ने कहा कि दुर्घटना में मौत हुई, परिवार हत्या का आरोप लगा रहा

एनकाउंटर पर सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज ने कहा, 'ऐसा ही चलता रहा तो कोई भी शिकार बन सकता है'

एनकाउंटर पर सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज ने कहा, 'ऐसा ही चलता रहा तो कोई भी शिकार बन सकता है'

हैदराबाद के ICFAI लॉ स्कूल में रूल ऑफ लॉ पर लेक्चर दे रहे थे जस्टिस चेलमेश्वर.

कोरोना का ट्रायल वैक्सीन लेने वाले हरियाणा के मंत्री कोरोना पॉजिटिव पाए गए

कोरोना का ट्रायल वैक्सीन लेने वाले हरियाणा के मंत्री कोरोना पॉजिटिव पाए गए

कोरोना की वैक्सीन के तीसरे चरण के ट्रायल के दौरान टीका लगाया गया था.