Submit your post

Follow Us

योगी सरकार ने कांग्रेस विधायक अदिति सिंह को क्यों दी Y+ सुरक्षा?

7
शेयर्स

अदिति सिंह. पहली पहचान अखिलेश सिंह की बेटी. दूसरी पहचान ये कि वो रायबरेली की सदर सीट से कांग्रेस की विधायक हैं. वही रायबरेली जो सोनिया गांधी का संसदीय क्षेत्र है. अदिति के पिता अखिलेश सिंह अवध के सबसे बड़े नेताओं में से एक माने जाते थे. रायबरेली से ताल्लुक रखते थे. 20 अगस्त को उनका निधन हो गया. इससे पहले उन्होंने अनुच्छेद 370 और 35a हटाने के फैसला को सही ठहराया था. उन्होंने कहा था,

“मैं मोदी और अमित शाह को साधुवाद देता हूं कि उन्होंने देश को एक किया. अनुच्छेद 370 देश को बांट सकता था.”

उन्होंने कांग्रेस के स्टैंड पर भी सवाल उठाए थे. अखिलेश सिंह ने News 18 से कहा था,

“देश पहले है. देशद्रोह की भाषा नहीं बोलनी चाहिए. कांग्रेस ने देश को बंटवाया. कांग्रेस की भाषा पाकिस्तान की भाषा है. आज पूरे देश में जश्न है. आज सही मायने में देश आज़ाद हुआ है.”

इन्हीं बयानों के बाद से कयास लगाए जाने लगे कि अदिति सिंह बीजेपी जॉइन कर सकती हैं.

2 अक्टूबर, 2019. राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती. योगी सरकार की ओर से 36 घंटे तक चलने वाला विधानसभा सत्र बुलाया गया. बीएसपी सपा और कांग्रेस सहित पूरे विपक्ष ने इसका बायकॉट किया. इसी दिन प्रियंका गांधी का लखनऊ में पैदल मार्च था. लेकिन अदिति सिंह नहीं आईं. पार्टी लाइन को नजरअंदाज करते हुए देर शाम विधानसभा के विशेष सत्र में पहुंच गईं. सत्र की चर्चा में हिस्सा भी लिया.

बाद में मीडिया से बात करते हुए अदिति सिंह ने कहा, ‘अपने भाषण में मैंने केवल विकास की बात की. जब भी विकास पर चर्चा होती है, हमें पार्टी लाइन से परे सोचना चाहिए. सत्र में भाग लेने के मेरे फैसले पर पार्टी जो भी फैसला लेगी मुझे मंजूर है. लेकिन मेरी प्राथमिकता हमेशा मेरे निर्वाचन क्षेत्र में लोगों की सेवा रहेगी.’

यह पूछे जाने पर कि क्या वह पार्टी लाइन से भटक गई हैं? अदिति ने कहा, ‘मैंने पार्टी लाइन से ऊपर उठ कर विकास पर बोलने की कोशिश की. यह मेरी पहली और सबसे बड़ी प्राथमिकता है. अदिति सिंह ने कहा कि अगर आपने मेरा भाषण सुना, तो मैंने केवल विकास और सतत विकास लक्ष्यों के बारे में बात की. मैंने अपने पिता से राजनीति सीखी है. जो मुझे सही लगता है, मैं करती हूं.


इसके बाद 3 अक्टूबर को एक खबर आई. योगी आदित्यनाथ की सरकार ने अदिति सिंह को Y+ सुरक्षा दे दी. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, अदिति सिंह ने रायबरेली में उन पर हुए हमले के बाद सुरक्षा मांगी थी. अपनी सुरक्षा की मांग को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात भी की थी. लोकसभा चुनावों के दौरान अदिति सिंह के काफिले पर हमले की खबर आई थी. हमले में अदिति सिंह की कार पलट गई थी. काफिले की तीन गाड़ियां भी पलटी थीं. इसमें अदिति सहित कई नेता घायल हुए थे. अवधेश सिंह पर हमला करवाने के आरोप लगे थे.

कौन हैं अदिति सिंह

अदिति सिंह 2016 में कांग्रेस में शामिल हुई थीं. उत्तर प्रदेश के 2017 के विधानसभा चुनाव में अदिति सिंह ने सदर से चुनाव लड़ा. उन्होंने जीत दर्ज की. जीत के बाद के डेढ़-दो साल तक अदिति सिंह को उतना नाम नहीं मिला था, जितना ‘नाम’ उन्हें राहुल गांधी के साथ एक फोटो के बाद मिला था. राहुल गांधी के साथ उनकी फोटो सामने आई. सोशल मीडिया पर अफवाह उड़ी कि अदिति सिंह राहुल गांधी की प्रेमिका हैं. लोगों ने अदिति सिंह और राहुल गांधी की एक दूसरे से ख़याली शादी तक करा दी. लेकिन फिर अदिति सिंह ने बात को साफ़ किया. सोशल मीडिया पर आयीं और कहा कि राहुल गांधी न सिर्फ पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं, बल्कि उनके राखी बड़े भाई हैं. इसके बाद अफवाहों पर लगाम लगी.

अदिति का शुरू से रायबरेली से कोई जुड़ाव नहीं रहा है. बोर्डिंग स्कूल में पढ़ी हैं. बारहवीं की पढ़ाई दिल्ली से की है. इसके बाद अमेरिका निकल गईं. उन्हें प्रियंका गांधी का करीबी माना जाता है. कहा जाता है कि प्रियंका ही उन्हें कांग्रेस में लेकर आई थीं. लेकिन अदिति उसी प्रियंका के कार्यक्रम में नहीं गईं. शाम को विधानसभा के विशेष सत्र में चली गईं.

वाई प्लस सुरक्षा मिलने को लेकर कहा जा रहा है कि कांग्रेस से बगावत कर विशेष सत्र में भाग लेने का इनाम अदिति सिंह को मिला है. इसके साथ ही एक बार फिर अदिति सिंह के बीजेपी में शामिल होने की चर्चा होने लगी है.


नितिन गडकरी ने ‘गोबर से बना साबुन’ और बैम्बू बॉटल लॉन्च कर दी है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

चिन्मयानंद को बचाने के लिए वकील ने कोर्ट में गजब का तर्क दिया है

और ऐसी बात जिसका केस से कोई संबंध नहीं.

योगी का नया ऐप ये काम कर देगा, किसी ने सोचा भी नहीं था

ये क्या बवाल मोल ले लिया योगी जी ने.

चिन्मयानंद और कुलदीप सेंगर के फोन में ऐसा क्या ख़ास है कि पुलिस उलझ गयी है

माथापच्ची हो रही, लेकिन उनका फोन नहीं खुल पा रहा.

13 साल की लड़की 'भाई, भाई' कहते गिड़गिड़ाती रही, लड़के रेप करते रहे, वीडियो बनाते रहे

एक ऐसा बर्बर वीडियो वायरल किया गया, जिसे देखा नहीं जा सकता.

गोरखपुर हादसा : यूपी सरकार ने जांच में कफ़ील खान को क्लीन चिट दे दी

जांच रिपोर्ट में और क्या कहा गया है?

अयोध्या : मुस्लिम पक्ष ने कोर्ट में वो बात कह दी जो किसी ने सोचा भी नहीं होगा

मस्जिद के नीचे खुदाई में किसके अवशेष मिले थे?

शाहजहांपुर रेप केस : पीड़िता के बाप ने बताया कि योगी सरकार कैसे चिन्मयानंद को बचा रही है

और बताया कि बात के बहाने कैसे पीड़िता की गिरफ्तारी हो गयी.

RBI के फैसले से हड़कंप, इस बैंक से 1000 रुपए से ज्यादा नहीं निकाल पाएंगे आप

आपसे जुड़ा मामला हो सकता है, पढ़ लीजिए.

अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट ने मुस्लिम पक्ष से बहुत रोचक सवाल पूछ दिया है

फिर जवाब भी मिला है सोचने वाला.

UP : छात्रा का गैंगरेप हुआ, फिर उसके स्कूल ने जो किया, वो और भी बुरा है

और स्कूल ने बचाव करने में खुद को और फंसा लिया.