Submit your post

Follow Us

सैलरी मांगने पर कोच के साथ भारतीय फ़ेडरेशन ने ये क्या सलूक किया?

रेसलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (WFI) चर्चा में है. चर्चा का कारण थोड़ा अजीब भी है और चौंकाने वाला भी. ख़बर है कि WFI ने विमिंस टीम के विदेशी कोच एंड्रयू कुक को बाहर का रास्ता दिखा दिया है. सीनियर ऑफिसर्स ने इसके पीछे तर्क दिया है कि कुक सिर्फ अपनी सैलरी के लिए काम करते थे, उन्हें भारतीय कुश्ती से लगाव नहीं था. WFI का कहना है कि अमेरिका के रहने वाले कुक ने सैलरी न मिलने के चलते स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया (SAI) के एक वेबिनार में भाग लेने से इनकार कर दिया था.

WFI के फैसले से चौंके कुक का कहना है कि उन्होंने सिर्फ सेशन का विषय बदलने की मांग की थी और SAI ने ऐसा करने से इनकार कर दिया था.

# नहीं मिली थी सैलरी

मार्च में कोरोना के मामले बढ़ने के बाद नेशनल कैंप टल गया था. इसके बाद कुक सिएटल स्थित अपने घर लौट गए थे. उनका दावा है कि कई बार याद दिलाने के बावजूद उन्हें मार्च, अप्रैल और मई की सैलरी नहीं मिली है. हाल ही में SAI ने कुक को अपने ऑनलाइन सेशंस में से एक में भाग लेने के लिए कहा था. WFI ने इस बारे में PTI से कहा कि कुक ने इस मांग के जवाब में कहा था कि जब तक उन्हें उनकी बकाया सैलरी नहीं मिल जाती, वह इसमें भाग नहीं लेंगे.

WFI के असिस्टेंट सेक्रेटरी विनोद तोमर ने PTI से कहा,

‘यह व्यवहार स्वीकार्य नहीं है. यह दिखाता है कि कुक सिर्फ सैलरी के लिए काम करते हैं और उनमें भारतीय रेसलिंग के प्रति उत्साह नहीं है. SAI ऑफिशल्स ने हमें उनके इनकार करने वाले संदेशों के स्क्रीनशॉट दिखाए. इसके बाद हमने उनसे कहा कि वह सेशंस में भाग लें और उन्हें भरोसा दिलाया कि उनकी सैलरी क्लियर कर दी जाएगी.

इसके बाद उन्होंने कुछ सेशंस में भाग लिया, लेकिन हमें उनका व्यवहार पसंद नहीं आया. हमने रेसलर्स से पूछा कि क्या उनकी सच में जरूरत है. रेसलर्स ने हमसे कहा कि उनके बिना भी काम चल सकता है, इसलिए हमने उनकी सर्विस खत्म करने का फैसला किया.’

बताते चलें कि कुक का कॉन्ट्रैक्ट अगस्त में खत्म होने वाला था. उन्हें हर महीने 4500 डॉलर मिलते थे. कुक ने ‘इंडियन एक्सप्रेस’ से बात करते हुए कहा कि उन्हें इसलिए निकाला गया, क्योंकि उन्होंने अपनी सैलरी की बात की. साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि वेबिनार के दौरान उनसे अमेरिकी टीम सेलेक्शन पर बात करने के लिए कहा गया था. जब उन्होंने ऐसा करने से इनकार किया, तो उन्हें निकालने का फरमान सुना दिया गया.


साक्षी मलिक को हराकर ओलंपिक क्वालिफायर्स में एंट्री करने वाली सोनम मलिक के किस्से

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

कोरोना का ट्रायल वैक्सीन लेने वाले हरियाणा के मंत्री कोरोना पॉजिटिव पाए गए

कोरोना का ट्रायल वैक्सीन लेने वाले हरियाणा के मंत्री कोरोना पॉजिटिव पाए गए

कोरोना की वैक्सीन के तीसरे चरण के ट्रायल के दौरान टीका लगाया गया था.

उइगर मुस्लिम ने बताया, 'चीन में हमें ज़बरदस्ती सूअर का मांस खिलाया जाता था'

उइगर मुस्लिम ने बताया, 'चीन में हमें ज़बरदस्ती सूअर का मांस खिलाया जाता था'

नसबंदी न करवाने पर उइगर मुस्लिमों के साथ क्या होता है?

सरकार और किसानों के बीच साढ़े सात घंटे तक चली बैठक में क्या नतीजा निकला, जान लीजिए

सरकार और किसानों के बीच साढ़े सात घंटे तक चली बैठक में क्या नतीजा निकला, जान लीजिए

कृषि मंत्री ने बताया, सरकार किन-किन बातों पर राजी हो गई है

दुनिया को मिली पहली 'भरोसेमंद' कोरोना वैक्सीन, अगले हफ्ते से लगेंगे टीके

दुनिया को मिली पहली 'भरोसेमंद' कोरोना वैक्सीन, अगले हफ्ते से लगेंगे टीके

ब्रिटेन पहला पश्चिमी देश है, जहां कोविड-19 वैक्सीन को हरी झंडी दी गई है

सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज लोकुर ने कहा, जबरन धर्मांतरण पर यूपी का क़ानून लोगों की आजादी के खिलाफ़ है

सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज लोकुर ने कहा, जबरन धर्मांतरण पर यूपी का क़ानून लोगों की आजादी के खिलाफ़ है

UAPA और दिल्ली दंगों पर जस्टिस लोकुर ने क्या कहा?

वो गेंद स्टंप पर नहीं मारता था, खुद लपक कर स्टंप बिखेर देता था

वो गेंद स्टंप पर नहीं मारता था, खुद लपक कर स्टंप बिखेर देता था

मोहम्मद कैफ़ का आज जन्मदिन है. इस बहाने आज उनकी फील्डिंग के चंद किस्से.

पिता ने चिट्ठी लिखकर गंभीर इल्ज़ाम लगाए तो शेहला राशिद ने क्या कहा?

पिता ने चिट्ठी लिखकर गंभीर इल्ज़ाम लगाए तो शेहला राशिद ने क्या कहा?

चिट्ठी में कहा कि शेहला घर में एंटी-नेशनल काम कर रही हैं.

दिल्ली दंगा : वीडियो सबूत होने के बाद भी पुलिस ने जांच नहीं की, कोर्ट ने दिया FIR का ऑर्डर

दिल्ली दंगा : वीडियो सबूत होने के बाद भी पुलिस ने जांच नहीं की, कोर्ट ने दिया FIR का ऑर्डर

सलीम की शिकायत, 'सुभाष और अशोक ने मेरे घर पर हमला किया'

कृषि बिलों पर वोटिंग के दौरान किसके कहने पर सांसदों के माइक बंद किए गए थे?

कृषि बिलों पर वोटिंग के दौरान किसके कहने पर सांसदों के माइक बंद किए गए थे?

बहुत हंगामा हुआ था, अब कहानी सामने आयी.

देश की आर्थिक सेहत बताने वाले GDP के आंकड़े आ गए हैं. ये डराने वाले हैं और उम्मीद जगाने वाले भी

देश की आर्थिक सेहत बताने वाले GDP के आंकड़े आ गए हैं. ये डराने वाले हैं और उम्मीद जगाने वाले भी

इस वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही के जीडीपी आंकड़े क्या बताते हैं, जान लीजिए