Submit your post

Follow Us

अफगानिस्तान किन गलतियों से श्रीलंका से जीता-जिताया मैच हार गया?

594
शेयर्स

वर्ल्डकप का 7वां मैच. एशिया वर्सेज एशिया. माने दो एशियन टीमों की भिड़ंत. श्रीलंका और अफगानिस्तान. पिछले रिकॉर्ड्स को देखें तो श्रीलंका बड़ी टीम दिखती है. मगर अफगानिस्तान ने जिस तरह से लगातार क्रिकेट की दुनिया में अपना दबदबा बनाया है, उससे ये टीम किसी को भी हराने का माद्दा रखती दिखती है. फिर श्रीलंका जिस तरह पिछला मैच न्यूजीलैंड से हारी, जनता उससे वापसी की उम्मीद कर तो रही थी, पर ये आसान भी नहीं लग रहा था. मगर श्रीलंका ने अपने फैंस को निराश नहीं किया. कांटे के मैच में श्रीलंका ने ये मैच जीत लिया.

श्रीलंका अच्छी शुरुआत के बाद ढही

मैच की शुरू से बात करें तो टॉस जीतकर अफगानिस्तान ने गेंदबाजी का फैसला किया. पहले बैटिंग करने उतरी श्रीलंका की शुरुआत देख लगा कि लड़के वापसी के मूड में हैं. 21 ओवरों में ही 1 विकेट खोकर 140 से ज्यादा रन बना दिए. करीब 7 का रनरेट. लगा आज 300 पार तो तय है. मगर मगर मगर… फिर कुछ ऐसा हुआ जिस पर श्रीलंका खुद विश्वास नहीं करना चाहेगी. जिस टीम का स्कोर 144 पर 1 था. वो 159 पर 6 विकेट हो गया. और श्रीलंका की इस दुर्गत का कारण अफगानिस्तान के टॉप स्पिनर राशिद खान नहीं थे. बल्कि अंडर रेटेड मोहम्मद नबी थे. बंदे ने एक ओवर में 3 विकेट झटक लिए. ये था मैच का 22वां ओवर. नबी ने इस ओवर की दूसरी गेंद पर चलता किया थिरिमाने को. बोल्ड मारके. चौथी बॉल पर स्लिप में धरे गए मेंडिस. स्लिप में कैच. मैदान पर अब आए मैथ्यूज. भाईसाहब पिछले मैच में 0 पर आउट हुए थे. तो इस बार हर हाल में रन बनाने थे. पांचवीं गेंद संभल कर खेली. पर छठी गेंद पर फिर ठुस्स… बढ़िया अपना रिकॉर्ड मेंटेन करते दिखे. स्लिप में कैच देकर फिर एक बार 0 पर चले गए.

मैथ्यूज फिर एक बार 0 पर आउट हुए.
मैथ्यूज फिर एक बार 0 पर आउट हुए.

और इधर नबी हीरो बन चुके थे. श्रीलंका के साथ भी कुछ वही हुआ कि तैयारी थी राशिद खान की और नबी कोर्स से बाहर आ गए. नबी के झटके के बाद डी सिल्वा और परेरा भी आउट हो गए. अब श्रीलंका 300 तो छोड़ो, 250 पार करती भी नहीं दिख रही थी. लगा कि लंका को अब भगवान ही बचाएं. तो ये हो गया. बारिश शुरू हो गई. 33 ओवर पूरा करने के बाद. स्कोर था 182 पर 8 विकेट. लंका तो चा ही रही होगी कि ये बारिश न ही रुके. पर ऐसा हुआ नहीं. बारिश रुकी. मैच के ओवर घटा के हो गए 41. पर लंका पूरे खेल नहीं सकी. 37 ओवर में बनाए 201 रन.

अफगानिस्तान एक बड़ी पार्टनरिशप को तरसा

बारिश के बाद वाला गुणा गणित लगाके अफगानिस्तान को टार्गेट मिला 187 का. 41 ओवरों में. ओपनिंग आए शहजाद और हजरतुल्लाह. हजरतुल्लाह ने उड़ाना शुरू किया. मगर 34 रन के स्कोर पर शहजाद मलिंगा का शिकार बने. फर्स्ट डाउन आए रहमत शाह भी तीन ओवर बाद 42 के स्कोर पर तो सेट दिख रहे हजरतुल्लाह भी एक के बाद एक आउट हो गए. कुल मिलाके अफगानिस्तान अब लंका की राह पर चल दिया था. तू चल मैं आया. 57 रन पर पांच विकेट हो गए. भरोसेमंद नबी और शाहिदी भी जा चुके थे. श्रीलंका के प्रदीप की बॉलिंग ने गर्दा उड़ा दिया था. मगर अफगानिस्तान ने अभी हार नहीं मानी थी. उसकी बैटिंग में डेप्थ का असर दिखना शुरू हुआ.

लंका ने की अच्छी बॉलिंग.
लंका ने की अच्छी बॉलिंग.

कप्तान गुलबदीन नाइब और नजीबुल्लाह जादरान के बीच पार्टनरशिप शुरू हुई. स्कोर 121 तक पहुंच गया. बस 66 रन और चाहिए थे. लगा लड़के मैच निकाल लेंगे. टुकुर-टुकुर करके. मगर फिर एक बार लंका के काम आए प्रदीप. गुलबदीन को बोल्ड मार दिया. अगले ही ओवर में राशिद खान को भी चलता कर दिया. स्कोर हो गया 123 पर 7. नजीबुल्लाह एक तरफ जमे थे. स्कोर धीरे-धीरे आगे बढ़ रहा था. नजीबुल्लाह का साथ दे रहे थे दौलत जादरान. प्रदीप के ओवर खत्म हो चुके थे. ऐसे वक्त में लंका के काम आया एक्सपीरियंस. मलिंगा का. मलिंगा ने 31वें ओवर में दौलत का यॉर्कर मार डंडा उड़ा दिया. स्कोर 136 पर 8 विकेट हो गया. नजीबुल्लाह को ज्यादा से ज्यादा स्ट्राइक अपने पास रखनी थी. और इसी चक्कर में वो 32वें ओवर की आखिरी बॉल पर रनआउट हो गए. इसे थ्रो कहें या ताबूत में आखिरी कील जिसे ठोंका लंका के कप्तान करुणारत्ने ने. बची कसर यानि आखिरी विकेट एक बार फिर उखाड़ा मलिंगा ने अपनी यॉर्कर से. अफगानिस्तान की टीम 152 पर ऑलआउट.

नुवान प्रदीप रहे मैन ऑफ द मैच.
नुवान प्रदीप रहे मैन ऑफ द मैच.

और श्रीलंका ने इस तरह ये कांटे का मैच 34 रन से जीत लिया. तमाम गल्तियों के बावजूद. वजह ये कि अफगानिस्तान ने अच्छी बॉलिंग के बाद बैटिंग में ज्यादा गल्तियां कीं. शुरुआती बल्लेबाज एक ढंग की पार्टनरशिप नहीं कर सके. लगातार विकेट गंवाते रहे. जाहिर सी बात है जो ज्यादा गल्तियां करेगा, वो हारेगा. खैर श्रीलंका ये मैच जीत जरूर गई है मगर उसका स्लो ओवर रेट उसकी मुश्किलें बढ़ा सकता है. बड़ी बात नहीं कि इसकी गाज उनके कप्तान पर गिरे और उन्हें नया कप्तान ढूंढना पड़े.

अच्छी बात ये है कि फाइनली अब बारी आ गई है अपने भाई लोगों की. टीम इंडिया के मैच की. साउथ अफ्रीका से. उम्मीद है ये मैच मजेदार होगा और भारतीय टीम अपना खाता जीत से खोलेगी.


लल्लनटॉप वीडियो देखें-

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

जब जेटली के घर के बाहर टांग दी गई थी- नो विजिटर अलाउड की तख़्ती

उस वक्त पहली बार ख़बर आई थी कि जेटली गंभीर रूप से बीमार हैं.

वेस्टइंडीज में टीम इंडिया अरुण जेटली को इस तरह दे रही है श्रद्धांजलि

जेटली बीसीसीआई में वाइस-प्रेसिडेंट रहे हैं.

मोदी पर फिल्म बनाने के बाद अब विंग कमांडर अभिनंदन पर फिल्म लेकर आ रहे हैं विवेक ओबेरॉय

विवेक ओबेरॉय क्यों कह रहे हैं कि 'बालाकोट एयरस्ट्राइक' के साथ करेंगे न्याय!

जांच रिपोर्ट में खुलासा, बालाकोट स्ट्राइक के दौरान क्रैश हुआ हेलिकॉप्टर वायु सेना की मिसाइल से गिरा था

बडगाम में क्रैश हुए Mi 17 में पायलटों समेत 6 वायुसैनिक मारे गए थे.

नहीं रहे पूर्व वित्तमंत्री अरुण जेटली

पिछले 15 दिनों से एम्स के आईसीयू में थे भर्ती

बुमराह का ये रिकॉर्ड टेस्ट क्रिकेट में उन्हें इंडियन बॉलिंग की सनसनी साबित करने के लिए काफी है

वनडे के बाद टेस्ट मैचों में बुमराह का कमाल.

बाबा रामदेव ने बताया क्यों बिगड़ी थी आचार्य बालकृष्ण की तबीयत

अचानक तबीयत खराब होने के बाद आचार्य बालकृष्ण को एम्स में भर्ती कराना पड़ा था.

ऑस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड से कहा- करारा जवाब मिलेगा और लंका लगा दी

एक ओर जोफ्रा आर्चर थे तो दूसरी ओर हेजलवुड.

BCCI की टाइटल राइट्स डील में क्या झोल है?

ई-ऑक्शन नहीं होने को लेकर सवाल उठाए जा रहे हैं.

पतंजलि वाले बालकृष्ण को हार्ट अटैक आया, रेफर होने के बाद एम्स में भर्ती

पहले हरिद्वार के पतंजलि योगपीठ के पास भूमानंद अस्पताल में भर्ती कराया गया था.