Submit your post

Follow Us

दो महीने पहले कोरोना, एक महीने पहले चोट...फिर भी देश के लिए लाया मेडल

टोक्यो ओलंपिक्स में नीरज चोपड़ा के गोल्ड मेडल जीतने की खुमारी अभी उतरी नहीं कि भारत के युवा एथलीटों ने एक और जश्न मनाने का मौका दे दिया. बुधवार के दिन अंडर-20 एथलेटिक्स वर्ल्ड चैंपियनशिप में भारत को कांस्य पदक मिला. 4X 400 मीटर की मिक्स्ड रिले रेस में युवा एथलीटों ने इतिहास रच दिया. भरत श्रीधर, प्रिया, सम्मी और कपिल की चौकड़ी ने कांस्य पदक जीता. पहली बार भारत की रिले टीम ने अंडर-20 एथलेटिक्स वर्ल्ड चैंपियनशिप में कोई मेडल जीता है.

वैसे तो इस जीत में सब बराबर के हकदार हैं. लेकिन भरत श्रीधर के लिए ये कांस्य पदक कई मायनों में स्पेशल है. वो इसलिए क्योंकि इस रेस से महीने भर पहले उन्हें पता तक नहीं था कि वो चैंपियनशिप में हिस्सा लेंगे भी या नहीं. जब खिलाड़ी इंजरी से जूझ रहा हो, तो वापसी करना आसान नहीं होता है. और अगर वापसी कर भी लें, तो रिदम में आने में वक्त लग ही जाता है. श्रीधर के पास वक्त ही नहीं था. आइये जानते हैं कैसे इस मुश्किल सफर से पदक तक पहुंचे श्रीधर.

श्रीधर का रहा कांटो भरा सफर

दरअसल, ठीक एक महीने पहले श्रीधर लिगामेंट इंजरी से जूझ रहे थे. जिसकी वजह से ये भी साफ नहीं था कि वो नैरोबी की फ्लाइट में बैठे रहे हैं या नहीं? 18 साल के इस नौजवान धावक को जून के महीने में कोरोना भी हुआ था. और लगभग एक महीने तो श्रीधर प्रैक्टिस ही नहीं कर सके. जैसा कि सभी को पता है, कोरोना कितनी खतरनाक बीमारी है. जो कोरोना संक्रमित होता है, उसे अंदर से इतना कमजोर कर देता है कि उबरने में कम से महीने-दो महीने का वक्त तो लग ही जाता है.

डॉक्टर की साफ हिदायत थी कि घर पर बैठिये और आराम करिये. लेकिन शुक्रिया अदा करना होगा नेशनल कैंप के फिजियो का. जिन्होंने इंजरी से उबरने में श्रीधर की खूब मदद की. इतना ही नहीं, कोच ने भी वर्कलोड को अच्छी तरह से मैनेज किया. आपको जानकर हैरानी होगी कि रिले रेस के हीट राउंड में भी श्रीधर नहीं दौड़े थे. ये कोच का फैसला था. सीधे फाइनल में उनके हाथ में बैटन आया और उन्होंने इतिहास रच दिया.

कांस्य पदक जीतने के बाद श्रीधर काफी भावुक भी दिखे. उन्होंने अपने संघर्ष के दिनों को याद किया. श्रीधर ने कहा,  

अंबात्तुर में, मैं अपने कोच के साथ कीचड़ का 200 मीटर का ट्रैक बनाया था. तो जब मैं नेशनल कैंप में आया, तो सिंथेटिक ट्रैक पर दौड़ते हुए चोटिल हो गया था. 400 मीटर के इस ट्रैक की तुलना में 200 मीटर के उस ट्रैक में घुमाव भी कम था. इस कारण मुझे सिंथेटिक ट्रैक पर दौड़ने की आदत डालने में काफी वक्त लग गया.

उधर, भारत के मेडल जीत के बाद एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया के प्रेसिडेंट आदिल सुमरिवाला का बयान आया है. सुमरीवाला ने अपने बयान में नीरज चोपड़ा को क्रेडिट दिया है. गौर हो, नीरज ने टोक्यो ओलंपिक्स में भारत के लिए ट्रैक एंड फील्ड इवेंट में पहली बार गोल्ड जीतकर इतिहास रचा. नीरज चोपड़ा का उदाहरण देते हुए आदिल सुमरिवाला ने कहा,

“अब तक ओलंपिक में एथेलटिक्स में हमलोगों ने कभी भी मेडल नहीं जीता है. हमारी यही सोच हमेशा से रही कि सब कुछ हम लोगों ने किया. लेकिन कभी मेडल नहीं जीत सके. लेकिन नीरज चोपड़ा की जीत के बाद से युवाओं के भीतर आत्मविश्वास जगा है कि वे भी मेडल जीत सकते हैं. वरना, हम हमेशा यही मिस करते थे कि बाकी देशों में ऐसा क्या है, जो हमारे में नहीं है? नीरज चोपड़ा के गोल्ड मेडल ने युवा एथलीटों के मन से मेडल न जीतने के डर को हटा दिया है.”

वैसे, चाहे नीरज चोपड़ा हो या फिर भरत श्रीधर, प्रिया, सम्मी और कपिल. चाहे कोई भी हो. भारतीय एथलीटों ने अब जीतना सीख लिया है. और आने वाले सालों में बड़े-बड़े इवेंट्स में इसी तरह भारत के नाम मेडल आते रहेंगे. उम्मीद तो इतना अपने एथलीटों से कर ही सकते हैं.


लॉर्ड्स में पांचवें दिन विराट कोहली ने ऐसा क्या कहा, कि टीम इंडिया ने गदर मचा दिया?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

ये रिपोर्ट कान खड़े कर देगी.

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

इस्तीफे में पराग अग्रवाल के लिए क्या-क्या बोले जैक डोर्से?

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

क्या समीर वानखेड़े को NCB जोनल डायरेक्टर पद से हटा दिया गया है?