Submit your post

Follow Us

Wimbledon क्वार्टर फाइनल में पहुंचकर रॉजर फेडरर ने बनाया रिकॉर्ड

सोमवार की रात रोजर फेडरर ने बारिश से प्रभावित मुकाबले जीत एक बार फिर से कमाल कर दिया है. 40 साल के हो चुके रॉजर फेडरर अपने चौथे राउंड का मैच खेलने इटली के लोरेंजो सोनेगो के सामने सेंटर कोर्ट पर उतरे. मैच कांटे का चल ही रहा था कि बारिश ने बीच में खलल डाल दी. और बारिश के बाद जब मैच दुबारा शुरू हुआ तो मानो खेल ही पलट गया.

बारिश से एक तरफ ऐसा लग रहा था कि शायद यह टूर्नामेंट का सबसे बड़ा उलटफेर हो सकता है. वहीं बारिश की वजह से आए ब्रेक के बाद फेडरर ने मैच तीन सीधे सेट से जीत लिया. मैच में हावी चल रहे सोनेगो का खेल देख लग रहा था वो मैच जीत सकते हैं. लेकिन बारिश के बाद वो एक सेट भी नहीं जीत पाए. सवा दो घंटे तक चले इस मैच को फेडरर ने 7-5, 6-4, 6-2 से जीत 18वीं बार विंबलडन के क्वार्टर फाइनल में अपनी जगह सुनिश्चित कर ली. बता दें कि यह फेडरर की 118वीं विम्बलडन जीत थी.

# बारिश ने किया खेला

सोमवार को आठ बार के विम्बलडन चैंपियन फेडरर का मुक़ाबला इटली के लोरेंजो सोनेगो से था. मैच में फेडरर की शुरुआत कुछ ख़ास नहीं रही. 23वीं रैंक के सोनेगो 20 बार ग्रैंड स्लैम जीत चुके फेडरर पर भारी पड़ते दिखाई दिए. देखते ही देखते पहला सेट 5-5 की बराबरी पर आ गया. सोनेगो इतना बेहतरीन खेल रहे थे कि उन्हें फेडरर के खिलाफ एक पॉइंट जीतने पर दर्शकों से स्टैंडिंग ओवेशन भी मिला. बारिश ने खेल में खलल डाला. और मैच 20 मिनट तक रुका रहा. मैच दुबारा शुरू हुआ तो मानो इटली का खिलाड़ी खेलना ही भूल गया.

बारिश के बाद मैच के शुरू होते ही सोनेगो ने डबल फाल्ट किया और फेडरर को ब्रेक पॉइंट दे डाला. उसके बाद फेडरर ने पीछे मुढ़कर नहीं देखा. देखते ही देखते फेडरर ने मैच अपनी झोली में कर रिकॉर्ड बना डाला. फेडरर इस मैच को जीत ओपन एरा में विम्बलडन के क्वार्टर फाइनल में पहुंचने वाले सबसे वरिष्ठ खिलाड़ी बन गए.

मैच के बाद दिए इंटरव्यू में फेडरर ने बताया कि किस तरह हल्का सा भी ध्यान भंग होना किस तरह आपको मैच हरा सकता है. फेडरर ने कहा,

”यह देख कर बड़ी हैरानी हुई कि एक छोटे से ब्रेक से खेल कितना बदल सकता है. एक आउटडोर गेम और एक इंडोर गेम में, हालात अचानक से बदल सकते हैं. मुझे लगता है कि कंडीशंस काफी ट्रिकी थी पर पहले सेट के बाद मैं गेम को कंट्रोल करने में कामयाब रहा.”

जब फेडरर से उनकी उम्र को लेकर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा,

”जब आप एक ऐसी उम्र में पहुंच जाते हो जैसी उम्र में फिलहाल मैं हूं तो आपको आपके चारों तरफ सवाल ही सवाल नजर आते हैं, उन सभी का आपको जवाब देना होता है. ऐसे में आपको बार बार खुद को साबित करना पड़ता है कि आप अभी भी खेल सकते हो. हालांकि तीन सीधे सेट्स में जीतना अपने आप में एक ख़ुशी की बात होती है पर फिर भी यह देखना होगा कि मुझमे अभी कितना खेल और बाकी है.”

अब क्वार्टर फाइनल में फेडरर का मुक़ाबला या तो रूस के दूसरी रैंक के खिलाड़ी डैनिल मेदवादेव से होगा या फिर पोलैंड के ह्यूबर्ट हुरकाज़ से होगा.


टीम इंडिया को रवि शास्त्री की जगह राहुल द्रविड़ को कोच बनना चाहिए?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

मुस्लिम औरतों की बोली लगाने वाली वेबसाइट की लिंक शेयर कर घिरा राइट विंग 'पत्रकार'

बवाल हुआ तो शिकायत करने वाली औरतों को ही कोसने लगे.

नेमावर हत्याकांड: आरोपी सुरेंद्र चौहान की प्रॉपर्टी पर चली जेसीबी, CBI जांच की मांग उठी

कांग्रेस का आरोप है कि भाजपा नेता होने के चलते सुरेंद्र चौहान को इस मामले में संरक्षण मिला.

जम्मू एयरफोर्स स्टेशन पर धमाका, DGP दिलबाग सिंह बोले-ड्रोन से हुआ हमला

दो संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है.

आंदोलन के सात महीने पूरे, किसानों ने देशभर में राज्यपालों को सौंपे ज्ञापन,कुछ जगहों पर झड़प

चंडीगढ़ और पंचकुला में बवाल.

कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ही नहीं, शशि थरूर का अकाउंट भी लॉक कर दिया था ट्विटर ने

ट्विटर ने क्या वजह बताई?

एक्ट्रेस पायल रोहतगी को अहमदाबाद पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया

मामला एक वायरल वीडियो से जुड़ा है.

CBSE और ICSE की परीक्षाएं रद्द करने के खिलाफ याचिकाओं को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज किया

नंबर देने के फॉर्मूले से सुप्रीम कोर्ट भी सहमत.

LJP में कलह की वजह बताए जा रहे सौरभ पांडेय के बारे में रामविलास पासवान ने चिट्ठी में क्या लिखा था?

चिराग को राजनीति में आने की सलाह किसने दी थी?

सरकार फिल्मों के सर्टिफिकेशन में क्या बदलाव करने जा रही, जो फ़िल्ममेकर्स की आज़ादी छीन सकता है?

कुछ वक़्त से लगातार हो रहे हैं फ़ेरबदल.

यूनिवर्सिटी-कॉलेजों में लग रहे 'थैंक्यू मोदी' के बैनर पर बवाल क्यों हो रहा है?

क्या यूनिवर्सिटीज़ और कॉलेजों को सरकारी प्रचार के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है?