Submit your post

Follow Us

WHO की चीफ साइंटिस्ट ने भारत में कोरोना को लेकर क्या आगाह किया है?

डॉक्टर सौम्या स्वामीनाथन. WHO यानी विश्व स्वास्थ्य संगठन में चीफ साइंटिस्ट हैं. WHO के जिनीवा स्थित हेडक्वाटर में काम करती हैं. उन्होंने भारत में कोरोना की हालत को लेकर इंडिया टुडे के साथ बातचीत की. कहा कि हम भारत की स्थिति को लेकर और कुछ अन्य देशों के हालात पर काफी चिंतित हैं. वायरस के नए वैरिएंट सामने आए हैं. उसने खुद को बदला है, इवॉल्व किया है. दुनिया के कई देशों में ये पैटर्न देखने को मिला कि वायरस धीरे-धीरे फैलता रहा, और कम्युनिटी ट्रांसमिशन के वक्त ही इसकी गंभीरता पता चल सकी. उस समय तक केस हजारों की तादाद में पहुंच चुके थे.

भारत में सुपर स्प्रेडर इवेंट्स को लेकर उनसे सवाल किया गया तो उन्होंने कहा,

“कोरोना संक्रमण के लिहाज से आउटडोर, इनडोर से सेफ हैं, लेकिन अगर हजारों लोग एक जगह जमा होंगे, जहां कोई फिजिकल डिस्टेंसिंग नहीं होगी, मास्क नहीं होंगे तो वायरस तो फैलेगा ही. भारत में भी काफी चीजों का ध्यान नहीं रखा गया. हमें अब आगे देखना चाहिए क्यों वायरस अभी खत्म नहीं हुआ.”

सौम्या स्वामीनाथन ने कहा कि पहले हमें केवल वुहान स्ट्रेन के बारे में पता चला था. इसके बाद यूके में एक वैरियंट मिला. फिर ब्राजील के एक वैरियंट की जानकारी मिली, जो एंटीबॉडी को भी ब्लॉक कर देता है. भारत से जो वैरिएंट सामने आया है, उसके डेटा का अध्य्यन किया जा रहा है. फिलहाल जो जानकारी है, वो चिंतिंत करने के लिए काफी है. लेकिन इसे रोका सकता है. इसके लिए संक्रमण की चेन तोड़नी होगी.

WHO की चीफ साइंटिस्ट ने कहा,

“हम डेटा की जांच कर रहे हैं कि जिन्होंने वैक्सीन ली, उन पर इसका क्या असर हुआ, और जिन्होंने नहीं ली, उन पर कैसा असर रहा. कोरोना से बचने के लिए हमें वैक्सीन के बाद भी मास्क, फिजिकल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखना होगा. भारत में इस वक्त पॉजिटिविटी रेट अधिक है. ग्रामीण इलाकों में स्वास्थ्य व्यवस्था अच्छी नहीं है. हमें वहां एंटीजन टेस्ट कराने होंगे. पंचायत और सेल्फ हेल्प ग्रुप्स की मदद लेनी होगी. आयुष्मान भारत एक अच्छी योजना है. ऐसी योजनाएं बनती रहनी चाहिए. “

डॉ. स्वामीनाथन ने कहा,

“इसमें कोई शक नहीं कि भारत में मौतों के आंकडे़ पर संदेह है. हमें डेटा को लेकर काम करना होगा. पुराने तरीकों को बदलना होगा. प्राइमरी हेल्थ में इनवेस्ट करना होगा. मैं केवल महामारी की बात नहीं कर रही. चीजें एक दिन में ठीक नहीं होतीं. पब्लिथ हेल्थ को लेकर जागरुक होना होगा.”

सौम्या ने कहा कि कोरोना हवा से फैलने वाला इन्फेक्शन है. खांसने और छींकने से फैलता है. ऐसे में 6 फीट की दूरी की बात कही जाती है. बंद कमरे में यदि कुछ लोग हैं जिनमें से एक या दो वायरस से पीड़ित हैं तो कमरे में मौजूद सभी लोगों तक वायरस पहुंच सकता है. अगर सभी ने मास्क पहने हैं तो खतरा 70 फीसदी तक कम हो सकता है. आप अगर ऐसी जगह हैं, जहां दूरी नहीं बनाई जा सकती है तो डबल मास्क पहनें.

WHO की चीफ साइंटिस्ट ने कहा,

“वैक्सीन जरूरी है. भारत ने काफी पैसा इस पर इनवेस्ट किया है. भारत में 80 से 90 फीसदी फ्रंटलाइन वर्कर्स को वैक्सीन मिल चुकी है. हम जानते हैं कि इस प्रक्रिया में वक्त लगेगा, और इसीलिए कहते हैं कि सेफ्टी रखें. सभी वैक्सीन का एफिकेसी रेट 70 से 80 प्रतिशत तक है. भारत बहुत बड़ा देश है, इसलिए लॉकडाउन की बात कहना काफी कठिन है. हां, लॉकडाउन से फायदा तो होता है. राज्य काफी सावधानी बरत रहे हैं, टेस्ट भी बढ़ाए गए हैं. लेकिन लॉकडाउन का फैसला लीडर्स को लेना है.”

स्वामीनाथन ने कहा कि कोरोना की तीसरी वेव को लेकर अभी कुछ नहीं कहा जा सकता, लेकिन हमें तैयार रहना चाहिए. हमारे पास ऐसा डेटा नहीं है कि तीसरी वेव बच्चों को इफेक्ट करेगी. फिलहाल तक 10 साल से कम उम्र के बच्चों में बहुत ही कम केस देखने को मिले हैं. मुझे उम्मीद है कि हम इस महामारी से उबर जाएंगे.


वीडियो- रिसर्च जर्नल दि लैंसेट ने भारत में कोरोना के बिगड़े हालातों पर मोदी सरकार की क्लास लगाई!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

डॉक्टरों की सबसे बड़ी संस्था IMA ने कोरोना पर सरकार को खूब सुनाया है!

डॉक्टरों की सबसे बड़ी संस्था IMA ने कोरोना पर सरकार को खूब सुनाया है!

कहा-स्वास्थ्य मंत्रालय का रवैया हैरान करने वाला.

दिल्ली में फिर बढ़ा लॉकडाउन, इस बार और भी सख़्ती

दिल्ली में फिर बढ़ा लॉकडाउन, इस बार और भी सख़्ती

दिल्ली के सीएम ने क्या बताया?

बंगाल में केंद्रीय मंत्री के काफिले पर हमला हुआ तो ममता बनर्जी ने उलटा क्या आरोप मढ़ दिया?

बंगाल में केंद्रीय मंत्री के काफिले पर हमला हुआ तो ममता बनर्जी ने उलटा क्या आरोप मढ़ दिया?

लगातार हो रही हिंसा की जांच के लिए होम मिनिस्ट्री ने अपनी टीम बंगाल भेज दी है.

पंजाबी फ़िल्मों के मशहूर एक्टर-डायरेक्टर सुखजिंदर शेरा का निधन

पंजाबी फ़िल्मों के मशहूर एक्टर-डायरेक्टर सुखजिंदर शेरा का निधन

कीनिया में अपने दोस्त से मिलने गए थे, वहां तेज बुखार आया था.

सलमान खान ने मदद मांगने वाले 18 साल के लड़के को यूं दिया सहारा!

सलमान खान ने मदद मांगने वाले 18 साल के लड़के को यूं दिया सहारा!

कुछ दिन पहले ही कोरोना से अपने पिता को गंवा दिया.

उत्तराखंड में एक और आपदा, उत्तरकाशी और रुद्रप्रयाग के पास बादल फटा

उत्तराखंड में एक और आपदा, उत्तरकाशी और रुद्रप्रयाग के पास बादल फटा

भारी नुक़सान की ख़बरें लेकिन एक राहत की बात है

क्या वाकई केंद्र सरकार ने मार्च के बाद वैक्सीन के लिए कोई ऑर्डर नहीं दिया?

क्या वाकई केंद्र सरकार ने मार्च के बाद वैक्सीन के लिए कोई ऑर्डर नहीं दिया?

जानिए वैक्सीन को लेकर देश में क्या चल रहा है.

Covid-19: अमेरिका के इस एक्सपर्ट ने भारत को कौन से तीन जरूरी कदम उठाने को कहा है?

Covid-19: अमेरिका के इस एक्सपर्ट ने भारत को कौन से तीन जरूरी कदम उठाने को कहा है?

डॉक्टर एंथनी एस फॉउसी सात राष्ट्रपतियों के साथ काम कर चुके हैं.

रेमडेसिविर या किसी दूसरी दवा के लिए बेसिर-पैर के दाम जमा करने के पहले ये ख़बर पढ़ लीजिए

रेमडेसिविर या किसी दूसरी दवा के लिए बेसिर-पैर के दाम जमा करने के पहले ये ख़बर पढ़ लीजिए

देश भर से सामने आ रही ये घटनाएं हिला देंगी.

कुछ लोगों को फ्री, तो कुछ को 2400 से भी महंगी पड़ेगी कोविड वैक्सीन, जानिए पूरा हिसाब-किताब

कुछ लोगों को फ्री, तो कुछ को 2400 से भी महंगी पड़ेगी कोविड वैक्सीन, जानिए पूरा हिसाब-किताब

वैक्सीन के रेट्स को लेकर देशभर में कन्फ्यूजन की स्थिति क्यों है?