Submit your post

Follow Us

भारत में कहां-कहां कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा हालत खराब है?

चीन से निकला कोरोना भारत में भी लगातार फैलता जा रहा है. यहां कोरोना के 649 एक्टिव केस हैं, 13 लोगों की मौत हो गई है. भारत में महाराष्ट्र और केरल कोरना से सबसे ज्यादा प्रभावित हैं. दोनों राज्य में कोरोना के मामले 100 पार कर चुके हैं. आइये जानते हैं कि ये दोनों राज्य कोरोना से कैसे निपट रहे हैं.

महाराष्ट्र

कुल एक्टिव केस – 124
डिस्चार्ज किये गए – 1
मौत – 3

महाराष्ट्र में देशभर में सबसे ज्यादा कोरोना वायरस के केस हैं. यहां देशभर में सबसे ज्यादा तीन मौत भी हुई है.  महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने राज्य के लोगों से कहा है,

यह विश्वयुद्ध ही है और युद्ध के दौरान आप घर से बाहर न निकलें. हम नहीं जानते कि कोरोना वायरस कहां से हमला कर सकता है. मुझे उम्मीद है कि लोग अब गंभीरता समझने लगे हैं. हमारे पास खाने और जरूरी चीजों का स्टॉक है. चिंता करने की कोई बात नहीं है. एसेंशियल सर्विस वाले दुकान नहीं बंद होने वाले हैं.

Corona Virus Mumbai
वीरान पड़ा मुंबई का बांद्रा-वर्ली सी-लिंक (फोटो: रॉयटर्स)

हाल ही में महाराष्ट्र के एक झुग्गी बस्ती में कोरोना वायरस की खबर आई थी. इसके बाद से भारी आबादी वाले इलाके में वायरस के फैलने की आशंका बनी हुई है.

केरल

कुल एक्टिव केस – 118
डिस्चार्ज किये गए – 4
मौत – 0

देश में केरल में ही पहली बार कोरोना वायरस के मरीज़ का पता चला था. 30 जनवरी, 2020 को. और अब केस 100 के पार पहुंच चुके हैं. महाराष्ट्र के बाद केरल में देशभर में सबसे ज्यादा कोरोना वायरस के केस हैं. महामारी से सबसे ज्यादा कासरगोड जिला प्रभावित हुआ है. यहां कुल 41 लोग पॉजिटिव पाए गए हैं और उनका इलाज़ जारी है.

सीएम पिनरई विजयन ने कहा है-

इस लॉकडाउन के दौरान कोई भी भूखा नहीं रहेगा. सरकार ने इसको लेकर उपाय किए हैं. हम स्थानीय सेल्फ-गवर्नमेंट, वार्ड लेवल कमिटी और वालंटियर्स के जरिए खाना पहुंचाएंगे.

दी न्यूज़ मिनट की रिपोर्ट मुताबिक़, परिवारों को 15 किलो चावल दिया जाएगा. साथ ही किराने के सामान की एक किट भी दी जाएगी. सीएम ने कहा है कि खाने-पीने के सामान की कोई कमी नहीं है. आठ महीने का फूड स्टॉक है. कासरगोड जिले पर खासा ध्यान दिया जा रहा है.

केरल की स्वास्थ्य मंत्री केके शैलजा ने कहा कि ऑब्ज़र्वेशन में रखने वाले लोगों की संख्या बढ़ रही है, ऐसे में और केयर सेंटर स्थापित किए गए हैं. ये सेंटर्स अन्य राज्यों से आने वाले वाले यात्री, टूरिस्ट के सुविधा के लिए है.

केरल सरकार के मुताबिक 25 मार्च तक राज्य में 76,542 लोगों को ऑब्ज़र्वेटशन में रखा गया है. 76,010 लोग आइसोलेशन में हैं.

महाराष्ट्र और केरल के साथ ही दिल्ली, कर्नाटक, पंजाब, राजस्थान, तेलंगाना, उत्तर प्रदेश में कोरोना के केस 30 पार पहुंच चुके हैं.

नोट: डेटा केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय से लिए गए हैं. 26 मार्च की सुबह 10:15 बजे.


विडियो- साइंसकारी: जानिए कोरोना वायरस की वैक्सीन कब आएगी और इसको बनाने का प्रॉसेस क्या है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

सरकार ने दिया कोरोना पर राहत पैकेज, 80 करोड़ को मुफ्त अनाज और बहुत कुछ

वित्त मंत्री ने कहा, हर व्यक्ति के हाथ में अन्न और धन हमारी पहली प्राथमिकता.

कोरोना के बीच सरकार ने गठिया वाली दवा के एक्सपोर्ट पर रोक क्यों लगा दी?

इस दवा का कोरोना के इलाज में क्या रोल है?

रात को लॉकडाउन के कायदे बताने के बाद सुबह हुजूम के बीच कहां निकल गए सीएम योगी?

सीएम ने लोगों से कहा था, 'घर पर ही रहें, बाहर न निकलें.'

21 दिन के लॉकडाउन में आपको कौन-कौन सी छूट मिलेगी, यहां जान लीजिए

कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए पूरा देश 15 अप्रैल तक लॉकडाउन रहेगा.

आज आधी रात से पूरे देश में 21 दिन का लॉकडाउन, पीएम बोले- एक तरह से ये कर्फ्यू ही है

कोरोना वायरस के खिलाफ सबसे बड़ा फैसला.

कोरोना वायरस: उत्तर प्रदेश के 17 नहीं, अब पूरे 75 जिलों को लॉकडाउन कर दिया गया है

देश में कोरोना वायरस इंफेक्शन के मामले 500 से ऊपर जा चुके हैं.

3 महीने तक ATM से पैसे निकलना फ्री, अब मिनिमम बैलेंस का भी झंझट नहीं

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में ऐलान किया.

कोरोना वायरस की वजह से अब जो काम रुका है, उसका असर 17 राज्यों पर पड़ेगा

क्या मतलब निकला इतनी उठा-पटक का?

चौथी बार MP के सीएम बने शिवराज, बोले- कोरोना से मुकाबला मेरी पहली प्राथमिकता

शिवराज सिंह चौहान ने शपथ लेते ही ये रिकॉर्ड भी बना दिया है.

कोरोना वायरसः लॉकडाउन में घर से निकलने वालों पर क्या एक्शन लिया जा रहा है?

देश के 75 जिले लॉकडाउन हैं.