Submit your post

Follow Us

जब वर्ल्ड सीरीज के लिए गावस्कर कप्तान बने, तो उनकी बीवी ने क्यों कहा- मछली और चिप्स आ गई है

इंडियन क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने एक मज़ेदार क़िस्सा सुनाया है. ‘सोनी स्पोर्ट्स’ पर गावस्कर ने ‘वर्ल्ड चैंपियनशिप ऑफ क्रिकेट’ से पहले टीम इंडिया की कप्तानी मिलने और अपनी पहली टीम चुनने की कहानी साझा की. गावस्कर ने कहा कि उन्हें कप्तान बनने की ख़बर अपनी बीवी के जरिए मिली थी. साथ ही गावस्कर ने यह भी बताया कि उन्होंने अपनी पहली टीम कार में बैठकर चुनी थी.

साल 1985 में हुई वर्ल्ड चैंपियनशिप में भारत ने बेहतरीन प्रदर्शन किया था. टीम इंडिया ने टूर्नामेंट में एक भी मैच नहीं हारा और चैंपियन बनकर लौटी. हालांकि इस टूर्नामेंट से पहले टीम उतनी अच्छी फॉर्म में नहीं थी. टेस्ट सीरीज में उन्हें इंग्लैंड ने 2-1 से हराया था. वनडे मैचों में भी उन्हें हार का सामना करना पड़ा था.

# फिश एंड चिप्स

इस बीच अच्छे प्रदर्शन के चलते सेलेक्टर्स ने वर्ल्ड चैंपियनशिप के दौरान कप्तानी के लिए गावस्कर और रवि शास्त्री को शॉर्टलिस्ट किया था. इस बारे में गावस्कर ने कहा,

‘सेलेक्शन चंडीगढ़ में होना था. उस वक्त मैं और रवि बैठकर इंतजार कर रहे थे. हमें पता था कि सेलेक्शन कमिटी की मीटिंग चल रही है, जिसमें वर्ल्ड चैंपियनशिप ऑफ क्रिकेट के लिए कैप्टन चुना जाना है. रवि भी इस रेस में था, क्योंकि उसका सीजन बेहतरीन रहा था.

मैं उसके रूम में बैठा इंतजार कर रहा था, तभी मेरी बीवी ने कॉल किया और कहा- हमारे कमरे में ‘मछली और चिप्स’ आ गई है. जब मैं वापस गया, उसने मुझसे कहा कि मैं कैप्टन चुन लिया गया हूं और बोर्ड सेक्रेटरी रणबीर सिंह महेंद्रा अपनी कार में मेरा इंतजार कर रहे हैं. फ्रंट गेट पर मीडिया वाले थे, इसलिए मैंने दूसरा रास्ता चुना. मैं गया और उनकी कार में बैठकर हम दोनों ने वर्ल्ड चैंपियनशिप की टीम चुनी’

कहा जाता है कि इस टूर पर जाने से पहले ही गावस्कर को पता चल गया था कि भारत यह टूर्नामेंट जीतेगा. गावस्कर ने भी इस बात पर सहमति जाहिर की है कि उन्हें निश्चित तौर पर ऐसा लगा था कि भारत जीतेगा. गावस्कर ने इस टूर्नामेंट के लिए कई युवा प्लेयर्स को मौका दिया था. लक्ष्मण शिवरामाकृष्णन जैसे युवा ने अपने प्रदर्शन से उनके भरोसे को कायम भी रखा.


ICC के नए फैसलों से क्रिकेट 26 साल पहले जैसा हो जाएगा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

प्लेन और ट्रेन से जाने के लिए टिकट और किराए के नियम सरकार ने बताए हैं

जानिए, रेलवे के ऑफलाइन टिकट कहां से मिल सकते हैं.

क्या गुजरात में खराब वेंटीलेटर की वजह से 300 कोरोना मरीज़ों की मौत हो गई?

कांग्रेस ने विजय रूपाणी सरकार पर वेंटीलेटर घोटाले का आरोप लगाया है.

अब इस तारीख से देश के अंदर फ्लाइट्स से यात्रा कर सकेंगे

इससे पहले 200 नॉन एसी ट्रेन चलने की सूचना दी गई थी.

'अम्फान' आ चुका है, पश्चिम बंगाल में दो की मौत, कई घरों को नुकसान

ओडिशा और पश्चिम बंगाल के तटीय इलाकों में अपना असर दिखा रहा है.

प्रियंका गांधी ने जो गाड़ियां यूपी भेजी हैं, उनमें कितनी बसें हैं, कितने ऑटो?

छह सूचियों में कुल 1049 गाड़ियों की डिटेल्स भेजी गई है.

देशभर में 200 और ट्रेनें चलने की तारीख़ आ गई है

इस बार ख़ुद रेल मंत्री ने बताया है.

लॉकडाउन 4: दफ़्तरों के लिए क्या गाइडलाइंस हैं?

इस लॉकडाउन में तमाम तरह की छूट दी गई हैं.

प्रियंका गांधी वाड्रा की 1000 बसों में कुछ नंबर ऑटो और कार के कैसे निकल गए?

हालांकि संबित पात्रा ने भी जिस बस को स्कूटर बताया, वहां एक पेच है.

मज़दूरों की लाश की ऐसी बेक़द्री पर झारखंड के सीएम कसके गुस्साए हैं

घायल मज़दूरों के साथ अमानवीय व्यवहार करने का आरोप.

कोरोना की वैक्सीन को लेकर अच्छी खबर, जल्द ही आखिरी स्टेज का टेस्ट होने की उम्मीद

जुलाई के महीने को लेकर अहम बात भी कह डाली है.