Submit your post

Follow Us

WhatsApp पर अब आपके मैसेज 24 घंटे में ही हो जाएंगे गायब!

WhatsApp पर मैसेज भेजा. कुछ समय तक उस शख्स के चैट विंडो में रहा, फिर अपने आप गायब हो गया. वॉट्सऐप का ये फीचर जाना-पहचाना सा लग रहा होगा आपको. जी हां, ठीक समझे. हम बात कर रहे हैं WhatsApp disappearing messages की. अब तक आप वॉट्सऐप यूज़र्स के पास 7 दिनों के बाद मैसेज अपने आप गायब होने की सुविधा थी जिसमें अब बदलाव कर दिया गया है. वॉट्सऐप डिसअपयरिंग मैसेज वाले फीचर में मैसेज गायब होने की सुविधा अब 24 घंटे से लेकर 90 दिनों तक हो गई है. इस संबंध में जानकारी वॉट्सऐप की मालिक कंपनी Meta ने दी. कंपनी का कहना है कि इस फीचर को यूज़र्स की सिक्योरिटी और प्राइवेसी को ध्यान में रखकर लाया गया है.

WhatsApp disappearing मैसेज फीचर को बीते साल ही यूजर के लिए रोलआउट कर दिया गया था. उस दौरान सिर्फ 7 दिनों के बाद मैसेज अपने आप गायब होने का विकल्प था. लेकिन नए अपडेट के बाद सबसे कम समय सीमा 24 घंटे की हो गई है और सर्वाधिक 90 दिनों की, साथ में पहले की तरह 7 दिन वाला ऑप्शन तो रहेगा ही. अब इस फीचर को डिफॉल्ट में भी एक्टिव रखने का विकल्प दे दिया गया है. यानी चैट शुरू कीजिए और निर्धारित समय सीमा के बाद मैसेज अपने गायब हो जाएंगे. इसका मतलब ये नहीं है कि ये फीचर पुराने चैट्स या ग्रुप चैट्स पर भी लागू होगा. इस फीचर को एक्टिव करने के बाद आप जब भी चैट की शुरुआत करेंगे मैसेज आपके द्वारा तय वक्त पर गायब हो जाएंगे.

ग्रुप में किसी पुराने चैट पर कोई असर नहीं पड़ेगा. ग्रुप में एडमिन के अलावा डिसअपयरिंग मैसेज इनेबल करने का ऑप्शन अन्य मेंबर्स के पास भी होगा. लेकिन एडमिन ग्रुप सेटिंग्स में जाकर डिसअपयरिंग फीचर को चालू या बंद कर सकता है.

WhatsApp Disappearing मैसेज को इनेबल करने के लिए आपको किसी भी चैट विंडो को सेलेक्ट करना होगा. मान लीजिए कि आप किसी शख्स से बात कर रहे हैं. तो ऊपर में उसके नाम वाले बैंड पर क्लिक कीजिए. उसका प्रोफाइल आपके सामने आ जाएगा. फिर नीचे की तरफ स्क्रॉल कीजिए. यहीं पर आपको Disappearing Messages दिखेगा जो ऑफ होता है. आप इसमें से ऊपर बताई गई तीनों समय सीमा 24 घंटे, 7 दिन या 90 दिन चुन सकते हैं. डिफॉल्ट ऑप्शन भी यहीं से सेट होगा जिसको इनेबल करने पर आप उस चैट के लिए disappearing मैसेज हमेशा के लिए चालू कर सकते हैं. ये फीचर आप एक स्टेप में अपने पूरे वॉट्सऐप प्रोफाइल पर भी लागू कर सकते हैं. इसके लिए आपको सेटिंग्स में जाना है. फिर अकाउंट में. वहां पर प्राइवेसी चुनिए. फिर नीचे की तरफ स्क्रॉल करने पर आपको डिसअपयिंग मैसेजेज के अंदर डिफॉल्ट मैसेज टाइमर का विकल्प मिल जाएगा. यहां पर अपनी पसंद के हिसाब से वक्त चुन लीजिए.

Untitled Design (5)

अगर आपके मन में वॉट्सऐप के इस खास फीचर को लेकर कोई और सवाल है तो आप इस मैसेजिंग प्लेटफॉर्म की साइट पर जाकर कई सवालों के जवाब पा सकते हैं.


वीडियो: कौन सी एप को गूगल ने ‘बेस्ट एप्लीकेशन 2021’ का खिताब दिया है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

ट्रैवल हिस्ट्री नहीं होने के बाद भी डॉक्टर के ओमिक्रॉन से संक्रमित होने पर डॉक्टर्स क्या बोले?

ट्रैवल हिस्ट्री नहीं होने के बाद भी डॉक्टर के ओमिक्रॉन से संक्रमित होने पर डॉक्टर्स क्या बोले?

बेंगलुरु में 46 साल के एक डॉक्टर कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन से संक्रमित पाए गए हैं.

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

ये रिपोर्ट कान खड़े कर देगी.

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

इस्तीफे में पराग अग्रवाल के लिए क्या-क्या बोले जैक डोर्से?

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.