Submit your post

Follow Us

चीनी सेना की यूनिट 61398, जिससे पूरी दुनिया के डेटाबाज़ डरते हैं

चीन की पीपल्स लिबरेशन आर्मी PLA खबरों में है. लद्दाख की गलवान वैली में भारतीय सेना और PLA के बीच हिंसक झड़प हुई. 15 जून को. इस झड़प में भारत के 20 जवान शहीद हो गए. चीनी सेना को भी भारी नुकसान की खबरें हैं, लेकिन चीन ने इस बारे में आधिकारिक तौर पर कुछ नहीं कहा है. इस पूरे घटनाक्रम के बाद चीन की PLA चर्चा में है. अपने युद्ध के तरीकों को लेकर. कहा जा रहा है कि PLA को पिछले महीने ही युद्ध की तैयारी करने को कहा गया था. लेकिन चीन सिर्फ आमने-सामने की लड़ाई के अलावा हर तरह से खुद को तैयार कर रहा है. और यह तैयारी कई साल से चल रही है.

कहा जाता है data is the new oil. यानी डेटा नया ईंधन है. ऐसे में चीन दूसरे देशों, प्रतिद्वंद्वियों और विरोधियों के डेटा चुराने में लगा हुआ है. इसके लिए उसकी सेना के पास बाकायदा एक यूनिट है, जो हैंकिंग का काम करती है. इस यूनिट का नाम है PLA Unit 61398. इसके और भी कई नाम है, जैसे- कमेंट क्रू, कमेंट पांडा, एडवांस्ड परसिस्टेंट थ्रीट 1 (APT1).

Untitled Design
चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग सैनिकों के साथ (फोटो: एपी)

कहां पर है इसका मुख्यालय

PLA की हैकिंग यूनिट का हेडक्वार्टर शंघाई के बाहरी इलाके में डाटोंग रोड पर है. एक 12 मंजिला बिल्डिंग से यह यूनिट काम करती है. और दुनिया के अलग-अगल इलाकों में हैकिंग को अंजाम देती है. इस बिल्डिंग का पता मैनडिएंट नाम की एक अमेरिकी कंप्यूटर सिक्योरिटी फर्म ने लगाया था. साल 2013 में उसने चीनी हैकर्स के बारे में एक 60 पन्ने की स्टडी छापी थी. इसी में इस बिल्डिंग का जिक्र था.

स्टडी में कहा था कि अमेरिका में हुए बहुत सारे साइबर हमलों को ट्रैक किया गया. हर बार हैकर्स का आईपी एड्रेस (कंप्यूटर का पता) इसी बिल्डिंग के पास का होता था. इस बिल्डिंग में सैकड़ों लोग काम करते हैं. कहा गया कि साल 2006 से 2013 के बीच कमेंट क्रू ने 140 बार साइबर हमला किया. हालांकि दूसरे साइबर का एक्सपर्ट्स का कहना था कि यह आंकड़ा ज्यादा है. चीनी हैकिंग यूनिट ने हजारों हमले किए हैं. 140 हमले तो वो हैं जो पकड़ में आए.

नक्शे में लाल घेरे में जो बिंदू दिख रहा है वहीं पर चीनी सेना की हैकिंग यूनिट का मुख्यालय बताया जाता है.
नक्शे में लाल घेरे में जो बिंदू दिख रहा है वहीं पर चीनी सेना की हैकिंग यूनिट का मुख्यालय बताया जाता है.

परछाई की तरह काम करती है यह यूनिट

कमेंट क्रू यूनिट का चीनी सेना के रिकॉर्ड में कहीं कोई जिक्र नहीं है. लेकिन चीन की ओर से कंप्यूटर जासूसी में यह मुख्य किरदार है. नवंबर 2008 में अमेरिका के गुप्तचर विभाग के नोट में इसके बारे में डिटेल से बताया गया था. जब विकीलीक्स ने खुलासे किए थे तब इसके बारे में भी बताया था. अमेरिकी एजेंसियों का कहना है कि कमेंट क्रू एक ईमेल के जरिए हैकिंग को अंजाम देता है. हैक किए जाने वाले एड्रेस से जुड़ी आईडी पर मेल जाता है. एक बार मेल पर क्लिक होते ही चीनी हैकर्स कंप्यूटर में घुस जाते हैं.

कहां-कहां से चुराया डेटा?

न्यूयॉर्क टाइम्स की खबर के अनुसार, कमेंट क्रू ने अमेरिका सहित दुनिया के कई देशों की कंपनियों से डेटा हैक किया है. इनमें इलेक्ट्रिक पावर ग्रिड, गैस लाइन, वाटर सप्लाई, तेल पाइपलाइन, खनन, कैमिकल प्लांट, टेलीकॉम, सैन्य ठेकों से जुड़ी कंपनियों में सेंध लगाई गई. मैनडिएंट ने बताया कि हैकिंग के जरिए चीनी यूनिट ने कंपनियों से टेक्नोलॉजी ब्लूप्रिंट, निर्माण प्रक्रिया, दवाओं के क्लिनिकल ट्रायल रिजल्ट, कीमतों के दस्तावेज, सौदेबाजी की रणनीति जैसी जानकारियां चुराईं.

Us China Flag
अमेरिका और चीन का झंडा (फोटो: एपी)

आरोप है कि डेटा में सेंधमारी के जरिए चीनी बेहद गोपनीय जानकारियां हासिल कर लेता है. इसके जरिए वह दूसरी कंपनियों और देशों को मैनिपुलेट करता है. यानी चालाकी के जरिए उनसे अपना काम निकलवा लेता है. कोका कोला, कंप्यूटर सिक्योरिटी फर्म RSA, हथियार बनाने वाली कंपनी लॉकहीड मार्टिन में भी चीनी हैकर्स ने सेंध लगाई. एक उदाहरण देखिए

साल 2009 में कोका कोला ने चीन की एक जूस कंपनी को खरीदने की योजना बनाई. इस कंपनी का नाम है चाइना ह्युआन जूस ग्रुप. कोका कोला ने 2.4 बिलियन डॉलर यानी करीब 13 हजार करोड़ रुपये का ऑफर दिया. यह किसी भी चीनी कंपनी पर लगाया सबसे महंगा दांव था. लेकिन जब सौदे पर बात चल रही थी, उसी दौरान चीनी सेना की हैकिंग यूनिट कोका कोला के कंप्यूटर को छान रही थी. उसने कोका कोला की नेगोशिएशन स्ट्रेटेजी यानी सौदेबाजी की रणनीति को पढ़ लिया. आगे जाकर यह सौदा रद्द हो गया.

इसी तरह साल 2011 में कंप्यूटर सिक्योरिटी फर्म RSA के डेटा में भी चीन घुस गया. यह कंपनी अमेरिकी सेना को साइबर सिक्योरिटी सर्विस देती थी. बाद में चीनी हैकर्स ने RSA के डेटा से हथियार कंपनी लॉकहीड मार्टिन को निशाना बना लिया था.

अमेरिका ने इक्विफैक्स नाम की एक कंपनी में भी चाइनीज सेंध का आरोप लगाया है. यह कंपनी वित्तीय मामलों से जुड़ी है. चाइनीज सेंध का यह मामला साल 2017 का है. इसके तहत 14.70 करोड़ अमेरिकी लोगों का डेटा चुरा लिया गया. अमेरिका ने इस मामले में चीनी सेना के चार अफसरों पर आरोप लगाए हैं.

डेल. कंप्यूटर और उससे जुड़ा सामान बनाने वाली अमेरिकी कंपनी. उसका कहना है कि पांच साल के दौरान चीनी हैकिंग यूनिट ने यूनाइटेड नेशंस, अमेरिका, कैनेडा, साउथ कोरिया, ताइवान और वियतनाम समेत कई देशों को निशाना बनाया.

चीन करता रहा है इनकार

शुरू में जब चीन पर हैकिंग के आरोप लगे तो उसने पल्ला झाड़ लिया. कहा कि कंप्यूटर हैकिंग जैसी अवैध गतिविधियों में वह शामिल नहीं होता. साथ ही विक्टिम कार्ड भी खेला. कहा कि वह तो खुद कंप्यूटर हैकिंग का शिकार है. उसका कहना रहा है कि सभी देशों को मिलकर हैंकिंग के खिलाफ काम करना चाहिए.

हालांकि यह बात किसी से छुपी नहीं है कि चीन अपनी नीतियों को लेकर कितना पारदर्शी है. ऐसे में उसकी कही बातों पर विश्वास होता नहीं है.


Video: लद्दाख में भारतीय सेना के जवानों पर चीन ने थोखे से किया हमला

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

गलवान घाटी में ड्रोन से भारतीय सैनिकों पर नज़र रख रहा था चीन

झड़प के बाद हेलीकॉप्टर्स के ज़रिए घायल जवानों को खोजा गया.

सुशांत की बहन ने उनके लिए जो लिखा, उसे पढ़कर पत्थर दिल इंसान भी रो पड़ेगा

'मेरा बाबू, मेरा बेबी, मेरा भाई, तुमसे हमने हमेशा प्यार किया'.

एक दिन की सैलरी कटने का विरोध किया तो कोर्ट ने DU प्रोफ़ेसर की क्लास लगा दी

एक दिन की वेतन कटौती के ख़िलाफ़ याचिका रद्द करते हुए और भी बहुत कुछ कहा.

कील लगी रॉड की वायरल फोटो पर सेना ने क्या कहा है?

कहा जा रहा था कि लद्दाख में चीन ने इसी से भारतीय सैनिकों पर हमला किया.

30 घंटे तक महिला के सीने में घुसा रहा छह इंच लंबा चाकू, फिर भी बच गई जान

हमला कुछ इस तरह हुआ था कि दिल बच गया.

सुशांत के सुसाइड को लेकर हुए FIR पर एकता कपूर ने जवाब दिया है

आठ लोगों पर केस हुआ है, उनमें एकता कपूर भी शामिल हैं.

कोरोना के मरीज़ों की ये दवा भारत में कितने रुपये मिलती है, जानकर आप चौंक जायेंगे

हम डेक्सामेथासोन की बात का रहे हैं.

लॉकडाउन के बीच रिहर्सल करना चाहते थे सुशांत, थियेटर के पुराने साथी ने बताया

डायरेक्टर रूमी जाफरी ने सुशांत को लेकर कुछ खास बातें बताई हैं.

गर्मी की छुट्टियों में आने का वादा किया था, अब परिवार शहीद की बॉडी के इंतज़ार में है

ओडिशा के कंधमाल और मयूरभंज के दो जवान शहीद.

अचानक ऐसा क्या हुआ कि इस राज्य में बीजेपी की सरकार खतरे में आ गई है?

कांग्रेस सिंगल लार्जेस्ट पार्टी बनी थी, लेकिन बीजेपी ने सरकार बना ली थी.