Submit your post

Follow Us

21 KM की रेस में 14 KM के बाद चड्डी में पॉटी कर दी, फिर कुछ ऐसा किया कि फर्स्ट भी आ गया

612
शेयर्स

देश को खुले में शौच मुक्त वाले अभियान को लोग सीरियसली क्यों नहीं लेते? कुछ लोग कहते हैं कि इससे दिशा-मैदान जाते वक्त जो मॉर्निंग वॉक होती है वो छूट जाती है. कुछ लोग कहते हैं कि सामूहिक शौच निपटान के चलते जो एक सामजिक एकजुटता का उदाहरण सेट होता है और गप्पों का आदान प्रदान होता है वो चारदीवारी में पॉटी करने से सर्वथा छूट जाता है. लेकिन ये सब एक्सक्यूजेज़ हैं. क्यूंकि इन दोनों (मॉर्निंग वॉक, गप्पों के आदान प्रदान) ही के अन्य विकल्प उपलब्ध हैं.

लेकिन एक चीज़ है जिसका कोई विकल्प नहीं. और वो है ये तथ्य कि – शौच कहीं भी आ सकती है! होने को ये यदा-कदा ही होता है, लेकिन विशेष परिस्थितियों में फ्रीक्वेंसी बढ़ जाती है और आप ज़्यादा बार प्रेशर में आने लगते हैं. जैसे डायरिया.

ऐसा ही कुछ हुआ हमारी खबर के लीड करैक्टर – वू ज़ियांगडोंग के साथ. 21 किलोमीटर की ‘शंघाई हाफ मैराथन’ चल रही थी और 14 वें किलोमीटर में ‘वू’ के साथ ‘वो’ हुआ जो शायद उसके सबसे बुरे सपने के सच हो जाने से भी बुरा था. उसे पॉटी लग गई. लेकिन शायद ‘शो मस्ट गो ऑन’ को अपनी मोटिवेटिंग लाइन बना चुके वू ने कपड़ों में ही शौच निपटान कर लिया और दौड़ना जारी रखा. उसी स्थिति में. अगला, अगले 7 किलोमीटर तक उसी स्थिति में दौड़ता रहा और आश्चर्यजनक रूप से रेस में फर्स्ट भी आ गया.

प्रश्न ये है कि 1 घंटे 16 मिनट 6 सेकंड में अपनी रेस पूरी करके जब वो फिनिंशग लाइन में पहुंचा होगा तब उसने राहत की सांस ली होगी या फिर उससे 7 किलोमीटर पहले?

वैसे वू ने भी रेस समाप्त होने के बाद कुछ कहा है –

मैं इस सब के बावज़ूद दौड़ता रहा और रुका नहीं. मैं अफ्रीकन धावक को हराना चाहता था. होने को मुझे खुद भी बदबू जानलेवा लग रही थी. अगर ये (पॉटी) न हुई होती तो निश्चित तौर पर मैं और तेज़ दौड़ सकता था. ये शायद इसलिए हुआ क्यूंकि मैंने गीले कपड़े पहने थे. या फिर शायद इसलिए कि मैंने रेस से पहले सिर्फ एक ब्रेड खाई और पानी पिया. मैं इस रेस को याद नहीं रखना चाहूंगा.

चलिए जाते-जाते आपको एक गीत के साथ छोड़े जाते हैं-


वीडियो देखें:

‘वाइस’: पर्दे के पीछे का सच जानना है तो ये फिल्म जरूर देखनी चाहिए-

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

गज़ब! थाने के सामने खड़ी पुलिस की बाइक चुराई, 40 मिनट के अंदर धर लिया गया

पक्का 'धूम-धूम-धूम' गाना सुना होगा.

पोस्टर्स में धांधली के बाद 'साहो' के मेकर्स ने एक और बड़ा झोल कर दिया, जिसमें वो तगड़े फंस सकते हैं

इस मामले में सामने वाले के पास पूरा हक है कि वो फिल्म के मेकर्स को कोर्ट में घसीट सकता है.

बांग्लादेशी लड़कियों ने बताया, मदरसों में पढ़ाई के नाम पर किस तरह लड़कियों का रेप होता है

'मदरसों में यौन शोषण इतना आम है कि ये कोई छुपी हुई बात नहीं है.'

जातिवाद की क्रूर सच्चाई दिखाती बलिया के प्राइमरी 'इंग्लिश' स्कूल की ये तस्वीर देखिए

अपनी गंदगी हम अपने बच्चों के दिमाग में भरने में सफल हुए हैं.

ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर ने ही ट्रैफिक रूल तोड़ा, ऊपर वाले अर्थात CCTV ने सब देख लिया

मंत्री होकर सौ रुपये का जुर्माना बूहूहूहू.

डॉक्टर्स ने मरा समझकर डस्टबिन में फेंक दिया था, KBC से लाखों जीतकर लौटी हैं

एक दिव्यांग लड़की, जिसके जीवन का हर अध्याय, प्रेरणा का दूसरा नाम है.

सुहागरात पर पत्नी ने शर्म नहीं दिखाई तो पति ने बेवकूफ़ी की हर हद पार कर दी

ऐसा काम किया कि आखिर में मसला कोर्ट जाकर रुका.

सांसद चिन्मयानन्द पर रेप का आरोप लगाने वाली लड़की को दिल्ली में देखा गया

लड़की ने वीडियो बनाकर आरोप लगाए थे, जिसके बाद से वो लापता थी.

मोबाइल कैमरे से स्कैन करने वाला ये ऐप आपके फ़ोन को बेहद नुकसान पहुंचा रहा है

गूगल ने प्ले स्टोर से भी ऐप को हटा दिया था.

ICC ने बेन स्टोक्स को महानतम बताया, सचिन के फैन्स ने ICC की खाट खड़ी कर दी

बेन स्टोक्स पर इत्ती कृपा बरसा रहा ICC, जित्ती सूरज हम पर नहीं बरसाता.