Submit your post

Follow Us

21 KM की रेस में 14 KM के बाद चड्डी में पॉटी कर दी, फिर कुछ ऐसा किया कि फर्स्ट भी आ गया

5
शेयर्स

देश को खुले में शौच मुक्त वाले अभियान को लोग सीरियसली क्यों नहीं लेते? कुछ लोग कहते हैं कि इससे दिशा-मैदान जाते वक्त जो मॉर्निंग वॉक होती है वो छूट जाती है. कुछ लोग कहते हैं कि सामूहिक शौच निपटान के चलते जो एक सामजिक एकजुटता का उदाहरण सेट होता है और गप्पों का आदान प्रदान होता है वो चारदीवारी में पॉटी करने से सर्वथा छूट जाता है. लेकिन ये सब एक्सक्यूजेज़ हैं. क्यूंकि इन दोनों (मॉर्निंग वॉक, गप्पों के आदान प्रदान) ही के अन्य विकल्प उपलब्ध हैं.

लेकिन एक चीज़ है जिसका कोई विकल्प नहीं. और वो है ये तथ्य कि – शौच कहीं भी आ सकती है! होने को ये यदा-कदा ही होता है, लेकिन विशेष परिस्थितियों में फ्रीक्वेंसी बढ़ जाती है और आप ज़्यादा बार प्रेशर में आने लगते हैं. जैसे डायरिया.

ऐसा ही कुछ हुआ हमारी खबर के लीड करैक्टर – वू ज़ियांगडोंग के साथ. 21 किलोमीटर की ‘शंघाई हाफ मैराथन’ चल रही थी और 14 वें किलोमीटर में ‘वू’ के साथ ‘वो’ हुआ जो शायद उसके सबसे बुरे सपने के सच हो जाने से भी बुरा था. उसे पॉटी लग गई. लेकिन शायद ‘शो मस्ट गो ऑन’ को अपनी मोटिवेटिंग लाइन बना चुके वू ने कपड़ों में ही शौच निपटान कर लिया और दौड़ना जारी रखा. उसी स्थिति में. अगला, अगले 7 किलोमीटर तक उसी स्थिति में दौड़ता रहा और आश्चर्यजनक रूप से रेस में फर्स्ट भी आ गया.

प्रश्न ये है कि 1 घंटे 16 मिनट 6 सेकंड में अपनी रेस पूरी करके जब वो फिनिंशग लाइन में पहुंचा होगा तब उसने राहत की सांस ली होगी या फिर उससे 7 किलोमीटर पहले?

वैसे वू ने भी रेस समाप्त होने के बाद कुछ कहा है –

मैं इस सब के बावज़ूद दौड़ता रहा और रुका नहीं. मैं अफ्रीकन धावक को हराना चाहता था. होने को मुझे खुद भी बदबू जानलेवा लग रही थी. अगर ये (पॉटी) न हुई होती तो निश्चित तौर पर मैं और तेज़ दौड़ सकता था. ये शायद इसलिए हुआ क्यूंकि मैंने गीले कपड़े पहने थे. या फिर शायद इसलिए कि मैंने रेस से पहले सिर्फ एक ब्रेड खाई और पानी पिया. मैं इस रेस को याद नहीं रखना चाहूंगा.

चलिए जाते-जाते आपको एक गीत के साथ छोड़े जाते हैं-


वीडियो देखें:

‘वाइस’: पर्दे के पीछे का सच जानना है तो ये फिल्म जरूर देखनी चाहिए-

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

जामिया प्रदर्शन: पुलिस ने कहा था कि एक भी गोली नहीं चली, केस डायरी कुछ और ही कह रही है

तीन लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया था. इन्होंने दावा किया था कि उन्हें गोली लगी है.

बिहार में NPR की डेट तय, NRC का विरोध करने वाली जेडीयू ने क्या कहा?

कुछ राज्यों ने आशंका जताई है कि NPR के डाटा का इस्तेमाल NRC के लिए किया जा सकता है.

महाराष्ट्र में किस मंत्री को कौन सा मंत्रालय मिला, ये रही पूरी लिस्ट

डिप्टी सीएम अजित पवार को वित्त मंत्रालय का जिम्मा.

2012 में आखिरी मैच खेलने वाले इरफान पठान ने अचानक लिया संन्यास

संन्यास लेते वक्त भावुक इरफान ने कही ये बड़ी बातें.

ननकाना साहिब मामला: दिल्ली से लेकर जम्मू तक प्रदर्शन, बीजेपी ने कांग्रेस को घेरा

पाकिस्तान के पंजाब में ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर भीड़ ने पत्थरबाजी की थी.

असम पहुंचते ही CAA पर क्या बोले भारतीय कप्तान विराट कोहली

विराट ने बताया है कि गुवाहाटी की सड़कों पर उन्होंने क्या देखा.

बच्चों की मौत पर सचिन पायलट ने जो कहा है वो सीएम अशोक गहलोत को अच्छा नहीं लगेगा

लेकिन डिप्टी सीएम ने पते की बात बोली है.

नोएडा SSP की रिपोर्ट: यूपी में ट्रांसफर-पोस्टिंग के लिए जाते थे लाखों रुपए

SSP पर रिपोर्ट लीक करने का आरोप, सफाई मांगी गई.

ये लो! महाराष्ट्र सरकार को दो महीने भी नहीं हुए, एक मंत्री का इस्तीफा हो गया!

सरकार कब तक चलेगी, इस पर सवाल उठने लगे हैं.

रोहित की गैर-हाज़िरी का बड़ा फायदा उठाने वाले हैं विराट कोहली!

विराट के इस खास रन के लिए 5 जनवरी को मैच ज़रूर देखना.