Submit your post

Follow Us

बंगाल में केंद्रीय मंत्री के काफिले पर हमला हुआ तो ममता बनर्जी ने उलटा क्या आरोप मढ़ दिया?

पश्चिम बंगाल. 2 मई को विधानसभा चुनाव के नतीजे आए. और तब से ही राज्य के अलग-अलग इलाकों से हिंसा की खबरें आ रही हैं. BJP का दावा है कि 2 मई से लेकर अब तक उसके कम से कम 14 कार्यकर्ता TMC की हिंसा में मारे जा चुके हैं. उधर TMC का आरोप है कि हार से बौखलाई BJP फर्जी वीडियोज़ वायरल करके ममता बनर्जी सरकार को बदनाम करने की कोशिश कर रही है. लगातार हो रही हिंसा की जांच के लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय ने चार सदस्यों की एक टीम बंगाल भेज दी है.

इन सबके बीच बंगाल से हिंसा की दो बड़ी खबरें 6 मई को आईं. पहली घटना पश्चिम मिदनापुर में हुई. यहां बीजेपी सांसद और केंद्रीय मंत्री वी. मुरलीधरन के काफिले पर हमला हुआ. वहीं दूसरी खबर चंपदनी से आई. यहां TMC की वार्ड कोऑर्डिनेटर और उनके पति पर हमले की खबर है. दोनों पार्टी हमलों के लिए एकदूसरे को जिम्मेदार ठहरा रही हैं.

केंद्रीय मंत्री के काफिले पर हमला

विदेश राज्य मंत्री वी. मुरलीधरन इस वक्त पश्चिम बंगाल में हैं. 6 मई को उन्होंने ट्वीट किया कि पश्चिम मिदनापुर के पंचकुड़ी में स्थानीय लोगों ने उनके काफिले पर हमला किया. उनकी कार पर पत्थर फेंककर शीशे तोड़ दिए. हमले में केंद्रीय मंत्री को तो कोई नुकसान नहीं हुआ, हालांकि उनके ड्राइवर को चोट आई. उन्होंने बताया कि काफिले की कई और कारों के शीशे टूटे हैं.

घटना के वक्त केंद्रीय मंत्री के साथ बीजेपी के राष्ट्रीय सचिव राहुल सिन्हा भी मौजूद थे. उन्होंने दावा किया कि मौके पर पुलिसवाले मौजूद थे, इसके बावजूद हमला हुआ. पुलिस का कहना है कि वो घटना की जांच कर रही है.

इस घटना पर बीजेपी के कई नेताओं ने तीखी प्रतिक्रिया दी है.

बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने लिखा कि बंगाल में लॉ एंड ऑर्डर पूरी तरह ध्वस्त हो चुका है.

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर ने इसे राज्य सरकार द्वारा प्रायोजित हिंसा बताया. उन्होंने सवाल किया कि जिस राज्य में मंत्री सुरक्षित नहीं हैं, वहां सामान्य जनता का क्या होगा.

TMC की महिला कोऑर्डिनेटर और पति पर हमला

पश्चिम बंगाल के चंपदनी इलाके में महिला वार्ड कोऑर्डिनेटर रेखा पासवान और उनके पति रामेश्वर पासवान पर हमला हुआ है. इस विधानसभा सीट पर TMC उम्मीदवार अरिंदम गुईं उर्फ बुबाई की जीत हुई है. आरोप है कि इस जीत से बौखलाए भाजपाइयों ने टीएमसी कार्यकर्ता और उनके पति पर बंदूक के कुंदे से हमला किया. आरोप BJP नेता तारक सिंह और उनके सहयोगियों पर है. हमले में कुछ और लोगों के घायल होने की खबर है. सभी का चंदन नगर के महकमा अस्पताल में इलाज चल रहा है.

केंद्रीय मंत्री भड़का रहे हैं हिंसा: ममता

इन दोनों घटनाओं के सामने आने के बाद ममता बनर्जी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की. हिंसा में मरने वाले सभी लोगों के परिवार को दो-दो लाख रुपये का मुआवजा देने का ऐलान किया. इसके अलावा केंद्रीय मंत्रियों पर हिंसा भड़काने का आरोप लगाया. ममता ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा,

“मैं देख रही हूं कि कुछ केंद्रीय मंत्री हिंसा भड़काने के लिए यहां आ रहे हैं, वो भी तब जब राजनीतिक गतिविधियों पर रोक लगी हुई है. चुनावों के बाद इस तरह की घटनाएं हमेशा होती हैं. इसीलिए मैंने घोषणा की थी कि कोई जश्न नहीं मनाया जाएगा. मुझे दोबारा पद संभाले 24 घंटे नहीं हुए और चिट्ठियां भेजी जा रही हैं, केंद्र से टीमें भेजी जा रही हैं. बीजेपी को कूचबिहार में ज्यादा सीटें मिली हैं, इसलिए वो लोग वहां अति मचा रहे हैं.”

पश्चिम बंगाल में लगातार हो रही हिंसा को लेकर केंद्रीय गृह मंत्रालय ने 3 मई को राज्य के मुख्य सचिव को चिट्ठी लिखी थी. हिंसा को लेकर रिपोर्ट मांगी थी. लेकिन बंगाल की तरफ से कोई रिपोर्ट नहीं भेजी गई. 5 मई को ममता बनर्जी ने मुख्यमंत्री के तौर पर तीसरी बार शपथ ली. उनके शपथ लेने के कुछ घंटों के अंदर ही गृह मंत्रालय के सचिव अजय भल्ला की तरफ से बंगाल सरकार को एक और चिट्ठी भेजी गई. इसमें लिखा गया,

“मैं आपको याद दिला दूं कि चुनाव के बाद हो रही हिंसा को लेकर मैंने 3 मई को डिटेल मांगी थी, लेकिन अभी तक कोई रिपोर्ट नहीं भेजी गई है. इस दूसरी चिट्ठी के जवाब नहीं मिलने को गंभीरता से लिया जाएगा.”

अजय भल्ला ने पत्र में बंगाल के मुख्य सचिव से पूछा कि हिंसा को रोकने के लिए पर्याप्त कदम अभी तक क्यों नहीं उठाए गए. हिंसा जारी है. इसे रोकने के लिए तुरंत कदम उठाए जाएं और रिपोर्ट गृह मंत्रालय को भेजी जाए.

इसके अलावा गृह मंत्रालय ने एडिशनल सेक्रेटरी रैंक के एक अधिकारी की अध्यक्षता वाली चार सदस्यीय समिति भी बनाई है. ये समिति बंगाल में हो रही हिंसा की जांच करेगी.

इसके अलावा, बंगाल में हिंसा पर राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने भी संज्ञान लिया है. NHRC ने जांच के लिए टीम बनाने के निर्देश दिए हैं. टीम को घटनास्थल पर जाकर साक्ष्य जुटाने के निर्देश दिए गए हैं.


पश्चिम बंगाल: BJP ने जिस महिला कार्यकर्ता को रेप विक्टिम बताया, उसने TMC की प्रेस कॉन्फ्रेंस में सच्चाई बता दी

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

डॉक्टरों को फर्जी बताने वाले सुनील पाल के खिलाफ शिकायत हुई तो झट से तेवर बदल लिए

एम्स के रेज़िडेंट डॉक्टरों के बाद मुंबई के डॉक्टरों ने भी शिकायत की है.

BJP ने इंडिया टुडे के पत्रकार को बंगाल हिंसा में मरा बताया, खुद पोस्ट किया- अभी तो ज़िंदा हूं

पश्चिम बंगाल बीजेपी ने उस पोस्ट को अब हटा लिया है.

यूपी पंचायत चुनाव को लेकर BJP सांसद ने क्या आरोप लगा दिए हैं?

एटा में भाजपा विधायकों का धरना काम आया, रीकाउंटिंग में बदला नतीजा.

मद्रास कोर्ट की तीखी टिप्पणी की शिकायत लेकर सुप्रीम कोर्ट पहुंचे चुनाव आयोग को क्या जवाब मिला

EC ने मीडिया को अदालती कार्यवाही के दौरान रिपोर्टिंग करने से रोकने की मांग भी की थी.

शादी में थप्पड़बाजी करने वाले DM याद हैं? जानिए अब उनके साथ क्या हुआ

विवाद हुआ तो हड़बड़ी में छुट्टी पर भेज दिए गए थे DM.

जूनियर नैशनल चैंपियन रहे पहलवान की हत्या में पुलिस ओलंपियन सुशील कुमार को क्यों ढूंढ रही है?

पहलवानों के बीच 4 घंटे तक हुई थी मारपीट, 4 पहलवान अब भी अस्पताल में हैं.

कोरोना से फिल्म इंडस्ट्री में एक और डेथ, 'छिछोरे' फेम अभिलाषा पाटिल नहीं रहीं

मराठी फिल्मों और टीवी शोज़ समेत हिंदी फिल्मों में भी काम किया था.

एक्टर दलीप ताहिल के बेटे ध्रुव को NCB ने किया गिरफ्तार, मामला ड्रग्स से जुड़ा है

एक्टिंग के फील्ड में एंट्री से पहले ही ध्रुव के सितारे गर्दिश में.

RLD सुप्रीमो अजीत सिंह का कोरोना से निधन

फेफड़ों में इंफेक्शन फैलने और निमोनिया के चलते 4 मई से वेंटिलेटर पर थे.

लखनऊ में लोगों को तीन-तीन दिन तक ऑक्सीजन के लिए इंतजार क्यों करना पड़ रहा है?

ऑक्सीजन होने के बाद भी लोगों को मिल नहीं पा रही है, क्या है वजह?