Submit your post

Follow Us

बंगाल विधायक केस: जेब से मिले सुसाइड नोट में दो नाम, लिखा- ये दोनों मेरी मौत के ज़िम्मेदार

पश्चिम बंगाल के उत्तर दिनाजपुर ज़िले के तहत आने वाली हेमताबाद सीट से विधायक देबेंद्र नाथ रॉय का शव 13 जुलाई की सुबह उनके घर के पास एक दुकान के बाहर लटका हुआ मिला था. बीजेपी इसके पीछे टीएमसी को ज़िम्मेदार ठहरा रही है. जिस तरह से संदिग्ध परिस्थितियों में उनकी मौत हुई है, उसके बाद पूरे प्रदेश की राजनीति में भी माहौल गरम हो गया है.

केस की जांच CID को सौंपी जा चुकी है. सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस (SP) सुमित कुमार ने बताया था कि पुलिस को देबेंद्र नाथ की जेब से एक सुसाइड नोट मिला था. ‘इंडिया टुडे’ की रिपोर्टर मनोज्ञा लोइवाल के पास इस सुसाइड नोट की एक्सक्लूसिव कॉपी है.

सुसाइड नोट में क्या लिखा है

इसमें दिख रहा है कि नोट में दो लोगों के नाम, जिले और फोन नंबर लिखे हैं. माबुद अली और निलय सिंहा. निलय सिंहा का जिला मालदा लिखा दिख रहा है. माबुद अली का जिला साफ पढ़ने में नहीं आ रहा है. दोनों के फोन नंबर भी लिखे हैं. साथ में बांग्ला में ये भी लिखा है कि ये दोनों लोग मेरी मौत के ज़िम्मेदार हैं. ये कम ही देखने को मिलता है कि पुलिस जिस लेटर को सुसाइड नोट मानकर चल रही है, उसमें साफ तौर पर किसी का नाम और नंबर मेंशन हो. साथ ही उनको ज़िम्मेदार भी ठहराया गया हो.

शरीर पर एंटी-मॉर्टम इंजरी

पश्चिम बंगाल के चीफ सेक्रेटरी अलपम बंदोपाध्याय का इस मामले में कहना है-

“हम इस केस को लेकर काफी गंभीर हैं. जांच सीआईडी को सौंपी जा चुकी है. जांच में किसी भी तरह का राजनीतिक दखल नहीं पड़ने दिया जाएगा. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से ये भी पता चला है कि उनके शरीर पर कुछ एंटी-मॉर्टम इंजरी (मरने के पहले लगी चोटें) भी थीं. केमिकल एग्जामिनेशन भी कराया जा रहा है.”

सुसाइड नोट का ज़िक्र करते हुए उन्होंने कहा कि पहली नज़र में तो ये सुसाइड ही लग रहा है. उन्होंने कहा कि सुसाइड नोट में जिन दो लोगों के नाम हैं, उनकी तलाश की जा रही है और जल्द ही जांच किसी नतीजे तक पहुंचेगी.


लखनऊ के आलमबाग में जिला पंचायत सदस्य पर ताबड़तोड़ फ़ायरिंग

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

कानपुर कांड की रात वहां मौजूद औरत ने फोन करके अपनी भाभी को क्या बताया, सुनिए ऑडियो

“पुलिस वाले हैं. विकास भैया ने मारा है, इन सब लोगों ने मारा है.”

यूपी पुलिस विकास दुबे के घर ये वाले हथियार खुद नहीं खोज पाई, आरोपी ने बताया कहां रखे हैं

इसके पहले पुलिस और फ़ोरेंसिक टीम विकास दुबे का घर ढहाकर छान चुकी है.

गूगल का भारत में 75,000 करोड़ रुपये के निवेश का पूरा प्लान क्या है

खुद सुंदर पिचाई ने ऐलान किया है.

राजस्थान: क्या है गहलोत-पायलट के बीच टकराव की वजह?

जयपुर से लेकर दिल्ली तक जोर आजमाइश हो रही है.

बच्चन परिवार की इकलौती सदस्य जिसे कोरोना नहीं हुआ

अमिताभ बच्चन और अभिषेक बच्चन COVID-19 पॉजिटिव निकले थे

यूपी STF ने विकास दुबे एनकाउंटर पर अब क्या नई बात बताई है?

कार पलटने की वजह क्या थी?

गैंगस्टर विकास दुबे एनकाउंटर में मारा गया

एक दिन पहले ही उज्जैन के महाकाल से पकड़ा गया था विकास दुबे.

कानपुर कांड : आरोपी की गिरफ़्तारी में सच कौन बोल रहा? यूपी पुलिस या आरोपी के घरवाले?

वीडियो में क्या कहा कानपुर कांड के आरोपी ने?

विकास दुबे को बचाने के लिए अपने ही साथियों को धोखा देने वाले दो पुलिसवाले धर लिए गए हैं

घटना में आठ पुलिसवाले शहीद हुए थे.

PM Cares के पैसों से बने वेंटिलेटर पर सवाल उठे तो बनाने वाले ने राहुल गांधी को घेर लिया

कहा कि राहुल गांधी के सामने डेमो दिखा सकता हूं.