Submit your post

Follow Us

बिना हाथों वाले इस भारतीय ने कनाडा में जीते तैराकी के 3 मेडल

बचपन में मैं जब तैराकी सीखने जाता था तो दोस्त कहते थे कि पानी में कूद जाओ और इधर-उधर हाथ चलाओ, सीख जाओगे. पर कोई बिना हाथों के भी तैराकी करके देश के लिए मेडल जीतकर ला सकता है, यह तो असंभव सा लगता है. पर इसे संभव कर दिखाया है विश्वास के. एस. ने.

विश्वास ने कनाडा में चल रही ‘2016 स्पीडो केन एम पैरा स्विमिंग चैम्पियनशिप’ में तीन मेडल जीते हैं. 26 साल के विश्वास बेंगलुरू के रहने वाले हैं. जब वो 10 साल के थे, तब एक दुर्घटना में उन्होंने अपने दोनों हाथ खो दिए.

प्रोफेशनल स्विमर बनने के लिए विश्वास ने तीन साल हाड़-तोड़ मेहनत की. बिना हाथों के ही फ्रीस्टाइल, बैकस्ट्रोक, ब्रेस्टस्ट्रोक और बटरफ्लाई जैसी स्विमिंग की विधाओं में महारत हासिल कर ली है. विश्वास ने इस चैम्पियनशिप में बैकस्ट्रोक और ब्रेस्टस्ट्रोक(100मीटर) में सिल्वर और बटरफ्लाई में ब्रॉन्ज मेडल जीता.

बचपन में हुई एक दुर्घटना में विश्वास ने अपने दोनों हाथ और अपने पापा को खो दिया था. वो अपने नए बन रहे मकान की तराई कर रहे थे. अचानक से बैलेंस बिगड़ा और वो बिजली की तारों पर गिर गए. विश्वास के पापा ने बचाने की कोशिश की, लेकिन वो अपनी जान गंवा बैठे. विश्वास दो महीने तक कोमा में रहे. जान बच गई लेकिन हाथ खो दिए. विश्वास के पापा सत्यनारायण मूर्ति एग्रीकल्चर डिपार्टमेंट में क्लर्क थे. इस एक्सीडेंट के बाद उनकी फैमिली बेंगलुरू शिफ्ट हो गई.

बी. कॉम करने के बाद विश्वास इधर-उधर छोटे-मोटे काम करने लगे. फिर अचानक से उन पर स्विमिंग सीखने की धुन सवार हो गई. वो आस्था नाम के एक एनजीओ के पास गए. आस्था के फाउंडर सुनील जैन बताते हैं, “विश्वास ने बहुत बार स्विमिंग सीखने की इच्छा जाहिर की. तो आस्था ने एक दूसरे एनजीओ ‘बुक अ स्माइल’ के साथ मिलकर उन्हें ट्रेनर, इन्फ्रास्ट्रक्चर, उनका खान-पान और वो सारी जरूरतें जो एक एथलीट को चाहिए होती हैं, उपलब्ध करवाईं.”

विश्वास को कई बार आस-पास के लोगों के भद्दे कमेंट्स का सामना करना पड़ा. लेकिन उनके पास एक मजबूत सपोर्ट सिस्टम रहा उनके फ्रेंड सर्कल के रूप में. विश्वास के दोस्त उन्हें अपनी डांस, कुंग-फू, और स्विमिंग क्लासों में ले जाते थे.

पिछले साल विश्वास ने तीन सिल्वर मेडल जीते थे. बेलागावी में आयोजित एक नेशनल लेवल के पैरा-स्विमिंग कॉम्पिटिशन में. उनकी इस कामयाबी को देखकर ही स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने उन्हें कनाडा में आयोजित इस चैम्पियनशिप के लिए भेजा था.

vishwas bas 600x400 - Copy

विश्वास का कहना है, ‘मेरा सपना है कि मैं 2020 टोक्यो ओलम्पिक का हिस्सा बनूं.’ विश्वास इस बात में विश्वास रखते हैं कि जब सपोर्ट मिले ना, तो आप कुछ भी कर सकते हैं. सपोर्ट से ही शारीरिक अक्षमता पर जीत पा सकते हैं. विश्वास ने अपनी कामयाबी का श्रेय बसावेश्वर नगर आरपीसी स्विमिंग पूल के सीनियर सिटीजन्स को दिया.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

गोरखपुर कचहरी में युवक की हत्या करने वाले के बारे में पुलिस ने क्या बताया?

गोरखपुर कचहरी में युवक की हत्या करने वाले के बारे में पुलिस ने क्या बताया?

मृतक व्यक्ति पर नाबालिग से बलात्कार का आरोप था.

5जी नेटवर्क कैसे बन गया हवाई जहाज़ के लिए खतरा?

5जी नेटवर्क कैसे बन गया हवाई जहाज़ के लिए खतरा?

5G के रोल आउट को लेकर दिक्कतें चालू.

गाड़ी का इंश्योरेंस कराने वालों को दिल्ली हाई कोर्ट का ये आदेश जान लेना चाहिए

गाड़ी का इंश्योरेंस कराने वालों को दिल्ली हाई कोर्ट का ये आदेश जान लेना चाहिए

बीमा कंपनी गाड़ी चोरी या दुर्घटनाग्रस्त होने का बहाना बनाए तो ये आदेश दिखा देना.

राजस्थान पुलिस अलवर गैंगरेप की जांच सड़क हादसे के ऐंगल से क्यों कर रही है?

राजस्थान पुलिस अलवर गैंगरेप की जांच सड़क हादसे के ऐंगल से क्यों कर रही है?

दबी जुबान में क्या कह रही है पुलिस?

बजट में FD को लेकर बैंकों की ये बात मानी गई तो आप और सरकार दोनों की मौज आ जाएगी!

बजट में FD को लेकर बैंकों की ये बात मानी गई तो आप और सरकार दोनों की मौज आ जाएगी!

जानेंगे बैंक FD में क्यों घट रही है लोगों की दिलचस्पी.

कांग्रेस को मौलाना तौकीर रजा का समर्थन, BJP ने हिंदुओं को धमकाने वाला वीडियो शेयर कर दिया

कांग्रेस को मौलाना तौकीर रजा का समर्थन, BJP ने हिंदुओं को धमकाने वाला वीडियो शेयर कर दिया

तौकीर रजा कांग्रेस पर आरोप लगा चुके हैं कि उसने मुसलमानों पर आतंकी का टैग लगाया.

देवास-एंट्रिक्स डील क्या थी, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने 'जहरीला फ्रॉड' कहा और मोदी सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड़?

देवास-एंट्रिक्स डील क्या थी, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने 'जहरीला फ्रॉड' कहा और मोदी सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड़?

जानिए UPA के समय हुई इस डील ने कैसे देश को शर्मसार किया.

'तुझे यहीं पिटना है क्या', हेट स्पीच पर सवाल से पत्रकार पर बुरी तरह भड़के यति नरसिंहानंद

'तुझे यहीं पिटना है क्या', हेट स्पीच पर सवाल से पत्रकार पर बुरी तरह भड़के यति नरसिंहानंद

बीबीसी का आरोप, टीम के साथ नरसिंहानंद के समर्थकों ने गाली-गलौज और धक्का-मुक्की की.

इंदौर: महिला का दावा, पति ने दोस्तों के साथ मिल गैंगरेप किया, प्राइवेट पार्ट को सिगरेट से दागा

इंदौर: महिला का दावा, पति ने दोस्तों के साथ मिल गैंगरेप किया, प्राइवेट पार्ट को सिगरेट से दागा

मुख्य आरोपी के साथ उसके दोस्तों को पुलिस ने पकड़ लिया है.

BJP और उत्तराखंड सरकार ने हरक सिंह रावत को अचानक क्यों निकाल दिया?

BJP और उत्तराखंड सरकार ने हरक सिंह रावत को अचानक क्यों निकाल दिया?

पार्टी के इस कदम से आहत हरक सिंह रावत मीडिया के सामने भावुक हो गए.