Submit your post

Follow Us

विराट कोहली के सेलेक्शन के लिए रिश्वत मांगी जाने पर उनके पापा ने क्या कहा?

विराट कोहली. इंडियन क्रिकेट टीम के कप्तान. विश्व क्रिकेट के सबसे बड़े प्लेयर्स में से एक. लेकिन एक वक्त ऐसा था, जब उन्हें स्टेट टीम में शामिल करने के लिए रिश्वत की मांग की गई थी. सिर्फ 18 साल की उम्र में अपने पिता को खोने वाले कोहली ने उन दिनों को याद किया है. इंडियन फुटबॉल टीम के कैप्टन सुनील छेत्री के साथ इंस्टाग्राम लाइव के दौरान कोहली ने इस घटना पर बात की.

लॉकडाउन के दिनों में छेत्री इंस्टाग्राम पर ‘इलेवन ऑन टेन’ नाम से लाइव चैट कर रहे हैं. इस चैट में शामिल हुए कोहली ने कहा कि एक बार उनके पिता ने घूस देने से मना कर दिया था, जिसके चलते कोहली को दिल्ली की टीम में नहीं चुना गया. कोहली ने कहा,

‘मेरे घरेलू राज्य (दिल्ली) में कई बार ऐसी चीजें होती हैं, जो सही नहीं हैं. एक मौके पर एक व्यक्ति सेलेक्शन के दौरान नियमों के मुताबिक नहीं चल रहा था. उसने मेरे पिता से कहा कि मैं सेलेक्शन लायक मेरिट तो रखता हूं, लेकिन शायद थोड़ा एक्स्ट्रा (संभवतः घूस) मेरा सेलेक्शन पक्का करा दे.

मेरे पिता, एक ईमानदार मिडिल क्लास आदमी, जिन्होंने एक सफल वकील बनने के लिए अपनी पूरी जिंदगी कड़ी मेहनत की, समझ ही नहीं पाए कि ‘थोड़ा एक्स्ट्रा’ क्या है. मेरे पिता ने कहा- अगर तुम विराट को सेलेक्ट करना चाहते हो, तो यह पूरी तरह से मेरिट पर होगा. मैं एक्स्ट्रा कुछ नहीं दूंगा.’

कामयाबी के लिए ‘असाधारण’ होना जरूरी

कोहली ने इस बातचीत के दौरान यह भी बताया कि उन्होंने इस घटना से क्या सीखा. कोहली ने कहा,

‘मेरा सेलेक्शन नहीं हुआ. मैं बहुत रोया, मैं टूट गया था. लेकिन इस घटना ने मुझे बहुत कुछ सिखाया. मुझे समझ आया कि मुझे सफल होने के लिए असाधारण होना पड़ेगा. साथ ही मुझे यह पूरी तरह से अपने ही प्रयासों और कड़ी मेहनत से हासिल करना होगा. मेरे पिता ने मुझे सही रास्ता दिखाया, अपने काम से, न कि सिर्फ शब्दों से.’

कोहली ने यह भी कहा कि अपने पिता को खोने के बाद वह क्रिकेटर बनने का उनका सपना पूरा करने के लिए और प्रेरित हुए. बता दें कि अपने पिता प्रेम कोहली की मौत के दूसरे ही दिन कोहली ने दिल्ली के लिए रणजी ट्रॉफी मैच खेला था.


जब इमरुल कायस को स्लेज करने पर तमीम इकबाल ने विराट कोहली को चुप करा दिया था

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

केजरीवाल ने लॉकडाउन 4 में बहुत सारी छूट दे दी हैं

ऑड-ईवन आ गया, लेकिन ट्रांसपोर्ट में नहीं.

लॉकडाउन 4: पर्सनल गाड़ी से शहर या राज्य के बाहर जाने के क्या नियम हैं?

केंद्र सरकार ने इस पर क्या कहा है?

कोरोना संक्रमण के बीच स्विगी ने बहुत बुरी खबर दी है

दो दिन पहले जोमैटो ने भी ऐसा ही ऐलान किया था.

ममता बनर्जी ने लॉकडाउन के नियमों में बहुत बड़ा बदलाव किया है

केंद्र सरकार की नई बात मानने से मना कर दिया!

लॉकडाउन 4.0: सरकार ने जारी की गाइडलाइंस, जानें क्या खुलेगा और क्या बंद रहेगा

31 मई तक के लिए लॉकडाउन बढ़ाया गया है.

घर जाने को लेकर राजकोट में 500 मज़दूरों का सब्र जवाब दे गया, सड़क पर उतरे

हंगामे के बीच पुलिस घायल, किसी तरह शांत हुआ मामला.

चोटिल बेटे को खटिया पर लादकर 900 किमी दूर घर के लिए निकल पड़ा ये मज़दूर

पंजाब से चला था परिवार, मध्य प्रदेश जाना था.

20 लाख करोड़ के राहत पैकेज की आख़िरी किश्त में मनरेगा को 40 हजार करोड़, अन्य को क्या मिला?

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सात सेक्टर्स के लिए घोषणाएं कीं.

यूपी: औरैया में दो ट्रक टकराने से 24 मज़दूर मारे गए, योगी ने कई पुलिसवालों को सस्पेंड किया

पीएम मोदी ने घटना पर शोक जताया है.

घर-घर खाना पहुंचाने वाली ये कंपनी 600 कर्मचारियों को नौकरी से निकाल रही है

राहत वाली बात ये है कि छह महीने तक आधी सैलरी मिलती रहेगी.