Submit your post

Follow Us

विराट कोहली के साथ केशव महाराज ने ऐसा क्या किया जो बड़े-बड़े दिग्गज नहीं कर पाए थे?

साउथ अफ्रीका के खिलाफ दूसरे वनडे मैच में विराट कोहली का बल्ला नहीं चला. किंग कोहली खाता नहीं खोल सके. साउथ अफ्रीका के स्पिनर केशव महाराज ने उन्हें कैच आउट करवाया. और कोहली पांच गेंदों का सामना कर पविलियन लौटे. ये पहला मौका है जब कोहली अपने वनडे करियर में किसी स्पिनर के हाथों डक पर आउट हुए हैं. बता दें कि कोहली वनडे में अब तक कुल 14 बार शून्य पर आउट हुए हैं.

बात भारतीय पारी के 13वें ओवर की है. केशव महाराज गेंदबाजी कर रहे थे. ओवर की चौथी गेंद केशव महाराज ने ठीक कोहली के सामने फेंकी. गेंद की लेंथ भांपते ही कोहली ने एक्स्ट्रा कवर के ऊपर खेलने के लिए ड्राइव किया. लगा कि गेंद फील्डर के ऊपर से चली जाएगी. लेकिन इसे ज्यादा ऊंचाई नहीं मिली और कोहली कवर पर तैनात तेम्बा बवुमा को एक आसान कैच थमा बैठे.

गौर हो 2019 के बाद ये पहला मौका है जब कोहली वनडे में शून्य पर आउट हुए हैं. आखिरी बार वेस्टइंडीज़ के खिलाफ विशाखापत्तनम वनडे में कोहली खाता नहीं खोल सके थे. उन्हें पोलार्ड ने आउट किया था. इसके अलावा पिछली 17 पारियों में कोहली के बल्ले से वनडे में शतक नहीं निकला है. संयुक्त रूप से कोहली के करियर की ये सबसे लंबी सेंचुरी लेस स्ट्रीक है.

इससे पहले 2011 में भी कोहली लगातार 17 पारियों में शतक नहीं जड़ सके थे. हालांकि कोहली के बल्ले से रन निकल रहे हैं. पिछली 17 पारियों में कोहली ने नौ पचासे लगाए हैं. लेकिन उन पचासों को शतक में तब्दील नहीं कर सके. साउथ अफ्रीका के खिलाफ पहले वनडे में कोहली ने 51 रन की पारी खेली थी.

बता दें कि भारत और साउथ अफ्रीका के बीच पार्ल के बोलैंड पार्क में सीरीज का दूसरा मैच खेला जा रहा है. टॉस जीतकर केएल राहुल ने पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया. टीम इंडिया की शुरुआत अच्छी रही. पहले विकेट के लिए शिखर धवन और केएल राहुल के बीच 63 रन की साझेदारी हुई.

धवन ने 38 गेंदों में पांच चौकों की मदद से 29 रन बनाए. उन्हें मार्करम ने मगाला के हाथों कैच आउट करवाया. और अगले ही ओवर में कोहली भी चलते बने. बताते चलें कि भारत के लिए ये मुकाबला करो या मरो जैसा है. अगर हारे तो टीम इंडिया टेस्ट के बाद वनडे सीरीज भी गंवा देगी.


प्रो कबड्डी लीग: प्रदीप नरवाल की टीम को हराना बंगाल वॉरियर्स के लिए क्यों मुश्किल होगा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

LIC का IPO: सरकार अब जो करने जा रही है उससे छोटे निवेशकों को फायदा है

LIC का IPO: सरकार अब जो करने जा रही है उससे छोटे निवेशकों को फायदा है

LIC के IPO में बहुत कुछ बदलने जा रहा है. अगले हफ्ते आ सकता है अपडेटेड प्रॉस्पेक्टस.

RBI की इस पहल से सभी एटीएम से बिना कार्ड कैश निकलेगा!

RBI की इस पहल से सभी एटीएम से बिना कार्ड कैश निकलेगा!

अभी ये सुविधा कुछ ही बैंको तक सीमित है.

'शराबी' खिलाड़ी की जानलेवा हरकत की वजह से मरते-मरते बचे थे युजवेंद्र चहल, अब किया खुलासा

'शराबी' खिलाड़ी की जानलेवा हरकत की वजह से मरते-मरते बचे थे युजवेंद्र चहल, अब किया खुलासा

2013 की बात है जब चहल मुंबई इंडियन्स की तरफ से खेलते थे.

आकार पटेल के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी करने वाली CBI अब उनसे माफी मांगेगी

आकार पटेल के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी करने वाली CBI अब उनसे माफी मांगेगी

कोर्ट ने आकार पटेल को बड़ी राहत दी है.

भारत में कोरोना के XE Variant का पहला केस मिलने के दावे पर सरकार ने क्या कहा?

भारत में कोरोना के XE Variant का पहला केस मिलने के दावे पर सरकार ने क्या कहा?

ये वेरिएंट कितना खतरनाक है, ये भी जान लें.

लल्लनटॉप अड्डा: 9 अप्रैल को मचने वाले धमाल का पूरा शेड्यूल पढ़ लो!

लल्लनटॉप अड्डा: 9 अप्रैल को मचने वाले धमाल का पूरा शेड्यूल पढ़ लो!

हंसी होगी, संगीत होगा और होंगे सौरभ द्विवेदी!

ED ने किन मामलों में सत्येंद्र जैन और संजय राउत के परिवारों की करोड़ों की संपत्ति कुर्क की है?

ED ने किन मामलों में सत्येंद्र जैन और संजय राउत के परिवारों की करोड़ों की संपत्ति कुर्क की है?

कार्रवाई पर संजय राउत भड़क गए हैं.

यूपी सरकार के लिए गोरखनाथ मंदिर हमला 'आतंकी घटना', हमलावर के पिता ने क्या बताया?

यूपी सरकार के लिए गोरखनाथ मंदिर हमला 'आतंकी घटना', हमलावर के पिता ने क्या बताया?

यूपी सरकार ने आरोपी के खिलाफ तगड़ी जांच के आदेश दे दिए हैं.

1 अप्रैल से E-Invoicing अनिवार्य, फर्जी बिल बनाने वालों की नींद उड़ी

1 अप्रैल से E-Invoicing अनिवार्य, फर्जी बिल बनाने वालों की नींद उड़ी

20 करोड़ सालाना बिक्री पर ई-इनवॉइसिंग जरूरी, टैक्स चोरी थमेगी.

रुचि सोया के FPO के 'चमत्कार' को नमस्कार करने के बजाय SEBI ने क्यों दिखाई सख्ती?

रुचि सोया के FPO के 'चमत्कार' को नमस्कार करने के बजाय SEBI ने क्यों दिखाई सख्ती?

वजह पतंजलि समूह का एक कथित संदेश बताया गया है?