Submit your post

Follow Us

यूपी पुलिस ने अपनी ही FIR में माना, 'हां, विकास दुबे की गाड़ी बदली गई थी'

10 जुलाई. यूपी पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (STF) मध्य प्रदेश के उज्जैन से कानपुर आ रही थी. बिकरू कांड के मुख्य आरोपी विकास दुबे को लेकर. पुलिस के दावों के अनुसार, गाय और भैंसों के झुंड को बचाने के चक्कर में विकास दुबे को लेकर चल रही गाड़ी पलट गयी. विकास दुबे मौक़े का फ़ायदा उठाकर भागने की कोशिश करने लगा. पुलिस की छीनी पिस्टल से पुलिस पर फ़ायरिंग की. और आख़िर में STF और पुलिस ने आत्मरक्षा में फ़ायरिंग की, जिसमें विकास दुबे की मौत हो गई.

घटना के बाद यूपी STF ने सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइंस के तहत FIR दर्ज करवाई. सचेंडी थाने में. IPC की धारा 224, 307, 392 और 411 के तहत. FIR STF के CO टीबी सिंह ने लिखवाई. और इस FIR को देखें तो साफ़ हो जाता है कि विकास दुबे का गाड़ी बदली गई.

टीबी सिंह द्वारा लिखवाई गई FIR के मुताबिक़,

“अभियुक्त को सुरक्षा व सुविधा के अनुसार निरीक्षक रमाकान्त पचौरी तथा कांस्टेबल प्रदीप कुमार के बीच ड्राइवर व पैसेंजर सीट के पीछे बीच में बैठाया गया था. तथा STF टीम की दोनों गाड़ियां इस गाड़ी के पीछे-पीछे उचित गति व फ़ासले पर राजमार्ग पर चल रहे थे. सुरक्षा व सुविधा की दृष्टि से अभियुक्त विकास दुबे को तीनों सरकारी गाड़ियों में अदलते बदलते आ रहे थे.”

यानी UP STF द्वारा दर्ज करवाई गयी FIR ख़ुद कहती है कि विकास दुबे की गाड़ी को बदला जा रहा था. विकास दुबे के गाड़ी बदलने को लेकर लगातार सवाल उठाए गए थे. 10 जुलाई के दिन जब पुलिस बाराज़ोर टोल से निकल रही थी, उस समय विकास दुबे को मीडिया और प्रत्यक्षदर्शियों ने टाटा सफ़ारी गाड़ी में देखने का दावा किया था, लेकिन घटनास्थल पर महिंद्रा की TUV300 पलटी हुई दिखाई दी थी. दावा था कि विकास दुबे इसमें ही सवार था. घटना के दिन जब मीडिया ने कानपुर रेंज आईजी मोहित अग्रवाल से बात की थी तो उन्होंने भी यही कहा था कि जिस गाड़ी में बैठकर विकास दुबे उज्जैन से चला था, उसी गाड़ी में कानपुर तक आया था. कोई गाड़ी नहीं बदली गयी. और अब है ये FIR. मोहित अग्रवाल ने ये बयान पुलिसवालों से बातचीत के आधार पर दिया था. हालांकि इस FIR से इस सवाल का जवाब नहीं मिलता है कि टोल प्लाज़ा और घटनास्थल के बीच गाड़ी क्या बदली गयी थी?

FIR का वो पेज जिस पर सारा ब्यौरा लिखा हुआ है.
FIR का वो पेज जिस पर सारा ब्यौरा लिखा हुआ है.

घटना के बारे में क्या कहा गया है FIR में?

इस FIR में आगे लिखा गया है कि जनपद कानपुर नगर की सीमा में पहुंचने से पहले बाराज़ोर टोल प्लाज़ा को क्रॉस करने के पश्चात कानपुर की ओर बढ़ रहे थे तभी बारिश भी शुरू हो गयी थी और कानपुर नगर लगभग 25 किलोमीटर शेष रह गया था और एलिवेटेड रोड से उतरने के पश्चात भारत CNG पेट्रोल पम्प पार करके जैसे ही कन्हैया लाल हॉस्पिटल के सामने सड़क पर पहुंचे कि अचानक दाहिनी ओर से गाय भैंसों का झुंड भागता हुआ सड़क पारकर बायीं ओर भागने लगा. गाड़ी बाईं ओर पलट गयी. चोट लगने से पुलिस और STF के जवान बेहोशी की हालत में आ गए. विकास दुबे इंस्पेक्टर रमाकांत पचौरी की पिस्टल लेकर फरार हुआ था.

किस दैवयोग का ज़िक्र है?

FIR के मुताबिक़ दैवयोग ने CO टीबी सिंह को बचा लिया. FIR में कहा है कि वो और पीछे से आ रही गाड़ी में बैठे कुछ STF के साथ विकास दुबे की तरफ़ भागे. विकास दुबे ने जान से मारने की नीयत से टीबी सिंह पर गोली चलाई. गोली “दैवयोग” से बुलेटप्रूफ़ जैकेट पर लगी. इसके बाद कहा गया है कि टीबी सिंह की जान बचाने की नीयत से पुलिस और STF की टीम ने एक साथ विकास दुबे पर फ़ायर कर दिया. वो मुड़-मुड़कर झुक-झुककर फ़ायर कर रहा था. गोलियां लगीं और वो कराहकर गिर गया. 

गोली के खोखे की बरामदगी पर क्या कहना है?

FIR में कहा गया है कि विकास दुबे के घायल होने के बाद उसका पुलिस की गाड़ी में मौजूद first aid kit से उपचार करने के बाद उसे अस्पताल ले जाया गया. उसके पास से सरकारी पिस्टल मिली. पिस्टल को पेन की मदद से उठाकर उसमें मौजूद एक ज़िंदा कारतूस समेत बरामद किया गया. ख़ाली कारतूस के कुछ खोखे बरामद किए गए, लेकिन अधिकतर नहीं मिल सके क्योंकि, पुलिस के मुताबिक़, अत्यधिक बारिश और कीचड़ के चलते वो खो गए. STF की बंदूक़ों के भी फ़ायरिंग के बाद के भी कारतूस नहीं बरामद हो सके. क्योंकि बारिश थी, कीचड़ था और घासफूस थी. 

ये भी पढ़िए : विकास दुबे टाटा सफारी कार में मौजूद था, तो पलटने वाली कार बदलकर महिंद्रा TUV कैसे हो गई?


लल्लनटॉप वीडियो : विकास दुबे के सहयोगी ने गिरफ्तार होने के बाद खुद बताया हथियार कहां रखे हैं

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

सलमान खान पर 'दबंग' डायरेक्टर ने जो आरोप लगाए थे, उस पर अनुभव सिन्हा क्या बोले?

अनुभव सिन्हा ने नेपोटिज़म की बजाए किस बात को इंडस्ट्री की बड़ी दिक्कत बताया?

अर्रे ग़ज़ब! अक्षय कुमार की फिल्म 'बेलबॉटम' की शूटिंग के लिए प्राइवेट जेट से स्कॉटलैंड जाएगी पूरी टीम

फिल्म अगले साल अप्रैल में रिलीज होगी.

मंत्री के बेटे को हड़काने वाली कॉन्स्टेबल सुनीता यादव के साथ अब क्या हुआ है?

कुछ दिन पहले सुनीता यादव ने इस्तीफा दे दिया था.

प्राइवेट अस्पताल अब कोरोना के इलाज का जितना भी पैसा लें, कोई कुछ नहीं कर सकता

सुप्रीम कोर्ट ने ही बोल दिया कि फीस तय नहीं कर सकते.

'इश्कबाज़', 'दिल बोले ओबेरॉय' जैसे सीरियल्स की एक्ट्रेस श्रेनू पारिख भी कोरोना पॉजिटिव

एक्ट्रेस ने खुद इंस्टाग्राम पर पोस्ट लिखकर जानकारी दी.

कानपुर पुलिस के भरोसे 30 लाख बैग में भरकर किडनैपर को देने गए, मगर कांड हो गया

पुलिस इस मामले पर क्या कह रही है?

पटना में BJP ऑफिस में पहुंचा कोरोना, स्टाफ और नेता समेत 75 लोग पॉज़िटिव

बताया जा रहा है कि दफ्तर में लड्डू बंटे थे, उसी से कोरोना फैला.

बंगाल विधायक केस: जेब से मिले सुसाइड नोट में दो नाम, लिखा- ये दोनों मेरी मौत के ज़िम्मेदार

विधायक देबेंद्र नाथ रॉय का शव एक दुकान के बाहर लटकता मिला था.

विकास दुबे के साथी शशिकांत ने बताया कि किसने काटा था सीओ साब का पैर

विकास दुबे ने फोन करके बुलाया था. कहा था- आज गोली चलानी है.

एग्ज़ाम में कम मार्क्स लाने वालों के लिए इस IAS अधिकारी ने जो किया, उसकी तारीफ हो रही है

देखते ही देखते सोशल मीडिया पर वायरल हो गई पोस्ट.