Submit your post

Follow Us

यूपी ब्लॉक प्रमुख चुनाव: नामांकन रोकने के लिए चली गोलियां और हथगोले, महिला प्रत्याशी से बदसलूकी

8 जुलाई, 2021. उत्तर प्रदेश ब्लॉक प्रमुख चुनाव के नामांकन का दिन. जो पूरी तरह सियासी रस्साकशी और हिंसा के नाम रहा. दिनभर सूबे के कई जिलों से झड़प से लेकर गोलीबारी होने तक की खबरें आती रहीं. इंडिया टुडे/आजतक के रिपोर्टरों को मिली जानकारी के मुताबिक, सीतापुर, फर्रुखाबाद, सिद्धार्थनगर, कन्नौज, ललितपुर, इटावा समेत कई जगह समाजवादी पार्टी (सपा) या निर्दलीय प्रत्याशियों और सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (BJP) के समर्थकों के बीच जमकर मारपीट, धक्कामुक्की और पर्चों की छीना-झपटी हुई है. फर्रुखाबाद, गोरखपुर और लखीमपुर खीरी में महिला प्रत्याशियों या उनकी प्रस्तावकों के साथ बदसलूकी की भी घटनाएं सामने आई हैं. इनमें से कुछ बड़ी घटनाओं पर बात कर लेते हैं.

सीतापुर

सीतापुर में ब्लॉक प्रमुख चुनाव के नामांकन के दौरान बड़ी हिंसा हुई. मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक, यहां के कमला थाना क्षेत्र स्थित कसमंडा ब्लॉक में नामांकन पत्र नहीं मिलने को लेकर एक निर्दलीय प्रत्याशी मुन्नी देवी और BJP प्रत्याशी गुड्डी देवी के समर्थकों के बीच जमकर मारपीट हुई. पुलिस की मौजूदगी में हुई इस हिंसा में कई राउंड फायरिंग भी की गई. आजतक से जुड़े अरविंद मोहन मिश्रा ने बताया कि हालात इतने खराब हुए कि दंगे जैसी स्थिति पैदा हो गई. उन्होंने बताया कि हंगामे के दौरान हथगोलों का भी इस्तेमाल किया गया. इस हिंसा में तीन लोगों के घायल होने की खबर है. उन्हें इलाज के लिए लखनऊ रेफर कर दिया गया है.

Sitapur
सीतापुर में हुई हिंसा का दृश्य. (तस्वीर- Twitter@Benarasiyaa)

सोशल मीडिया पर इस घटना का एक वीडियो भी वायरल हुआ है. इसमें कुछ लोग एक गाड़ी को घेरे हुए हैं. अरविंद मोहन मिश्रा की रिपोर्ट के मुताबिक, ये भाजपा के समर्थक थे, जिन्होंने मुन्नी देवी की गाड़ी को घेरा हुआ था. उन्हें वहां से हटाने के लिए पुलिस लाठीचार्ज और आंसू गैस के गोलों के अलावा हवाई फायरिंग का भी इस्तेमाल करती दिख रही है. फायरिंग से घटनास्थल पर मची भगदड़ साफ देखी जा सकती है. वीडियो में गाली-गलौज की भी आवाज है. इसलिए हम इसे यहां शेयर नहीं कर रहे हैं.

फर्रुखाबाद

फर्रुखाबाद से खबर है कि यहां नामांकन भरने आई एक निर्दलीय महिला प्रत्याशी को कुछ लोगों ने भगा दिया. इस गुंडागर्दी का आरोप लगा है BJP के लोगों पर. आजतक के फर्रुखाबाद संवाददाता फिरोज खान ने लल्लनटॉप को बताया कि ये घटना बढपुर ब्लॉक की है. यहां गुरुवार 8 जुलाई को पर्चा भरने आईं बीडीसी सदस्य नीलम देवी पर कुछ लोग बुरी तरह भड़क गए और उन्हें डांटकर भगा दिया. इस दौरान घटनास्थल पर मीडिया के कई लोग मौजूद थे.

Untitled Design (6)
नामांकन भरने गई महिला प्रत्याशी से बदसलूकी. (तस्वीर- फिरोज खान/आजतक)

बाद में महिला ने आरोप लगाया कि BJP के कार्यकर्ताओं ने उन्हें पर्चा दाखिल नहीं करने दिया. उन्होंने रो-रो कर बताया कि BJP के लोगों ने उनसे छीना-झपटी की और नामांकन कार्यालय नहीं जाने दिया. इस घटना का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

इटावा

यहां नामांकन प्रक्रिया के दौरान बड़ा हंगामा हो गया. आजतक के रिपोर्टर अमित तिवारी की खबर के मुताबिक, भर्थना ब्लॉक से सपा प्रत्याशी के पक्ष की ओर से भाजपा पक्ष के एक समर्थक पर जानलेवा हमला किया गया. पीड़ित को एक बीडीसी सदस्य का बेटा बताया गया है. नाम है कोमल यादव. हमले में उनके हाथ में गोली लग गई.  कोमल यादव भाजपा प्रत्याशी राघवेंद्र दोहरे के समर्थक बताए गए हैं. जिस समय कुछ अज्ञात लोगों ने हमला किया, उस समय कोमल, राघवेंद्र के साथ थे. हमले में घायल होने के बाद कोमल को इलाज के लिए सैफई रेफर किया गया है. वहीं, उनके परिजनों ने थाने में शिकायत दर्ज कराई है. उन्होंने सपा प्रत्याशी और अज्ञात लोगों पर हमला करने और गोली मारने का आरोप लगाया है. पुलिस ने बताया कि उसने 4 नामजद और कुछ अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है.

सिद्धार्थनगर

चुनाव नामांकन के दौरान सिद्धार्थनगर में भी बड़ा तमाशा देखने को मिला. यहां के इटवा ब्लॉक केंद्र पर पूर्व विधानसभा अध्यक्ष माता प्रसाद पांडेय अपनी पत्नी फूलमति पांडेय का नामांकन कराने पहुंचे थे. आजतक के रिपोर्टर अनिल तिवारी के मुताबिक, उसी समय कुछ अराजक तत्वों ने माता प्रसाद पांडेय से धक्कामुक्की की और पर्चा छीनकर फाड़ दिया. कुछ उपद्रवियों ने उनकी गाड़ी का शीशा भी तोड़ डाला. इसके बाद वहां खूब हंगामा हुआ. घटना के खिलाफ सपा के लोगों ने जमकर नारेबाजी की.

Etawah
सिद्धार्थनगर में नामांकन के दौरान झड़प की तस्वीर (साभार- अमित तिवारी/आजतक)

अनिल तिवारी ने बताया कि माता प्रसाद पांडेय ने अपनी पत्नी के लिए 4 सेट में पर्चा खरीदा था. अराजक तत्वों के हाथ सिर्फ एक पर्चा ही लगा था. इससे फूलमति पांडेय 3 सेट में अपना नामांकन कर पाईं. पूरे घटना क्रम के दौरान वहां पुलिस फोर्स मौजूद थी. उसने दोनों पक्षों के बीच-बचाव कर मामले को शांत कराया. बाद में माता प्रसाद ने उनसे हुई बदसलूकी के लिए भाजपा के लोगों को जिम्मेदार ठहराया. उन्होंने ये भी कहा कि ये सब इटवा से BJP के विधायक और प्रदेश सरकार के बेसिक शिक्षा राज्य मंत्री सतीश द्विवेदी के इशारे पर हो रहा है.

कन्नौज

कन्नौज में भी इसी तरह की घटना हुई. यहां के सदर ब्लॉक प्रमुख चुनाव के नामांकन के दौरान पुलिस के सामने ही दो पक्षों ने गदर मचा दिया. आजतक संवाददाता नीरज श्रीवास्तव ने हमें बताया कि नामांकन करने गए सपा प्रत्याशी अजय दोहरे और उनके प्रस्तावक देवेंद्र कुमार के साथ जमकर मारपीट की गई. दोनों ने रिपोर्टर से बातचीत में BJP के लोगों का हाथ बताया है. आरोप है कि उन्होंने नामांकन केंद्र में एआरओ की टेबल पर रखे हुए सभी पर्चे फाड़ कर फेंक दिए.

Kannauj
कन्नौज में सपा प्रत्याशी के प्रस्तावक पर हुए हमले की तस्वीर. (साभार- नीरज श्रीवास्तव/आजतक)

खबर के मुताबिक, जब सपा प्रत्याशी अजय दोहरे अपना नामांकन का पर्चा दाखिल कर रहे थे, तभी कुछ युवकों ने उन पर और उनके प्रस्तावक से मारपीट शुरू कर दी. झगड़ा इतना बढ़ा कि नामांकन केंद्र से निकलकर सड़क पर पहुंच गया. पुलिस की मौजूदगी में हुए इस तमाशे में कुछ युवक हाथ में डंडा और सरिया लिए दिखाई दिए. पुलिस वाले असहाय होकर ये तमाशा देखते रहे और हमलावर अपना काम करते रहे. नीरज श्रीवास्तव ने हमें बताया कि नामांकन के दिन कन्नौज के एक और ब्लॉक में हिंसा हुई थी. उनके मुताबिक, जिले के सौरिख ब्लॉक के नामांकन केंद्र में हो रही गड़बड़ी की रिपोर्टिंग कर रहे एक टीवी पत्रकार नित्य मिश्रा के साथ BJP के लोगों ने मारपीट की. उनका कैमरा छीन लिया गया और घेरकर पीटने की कोशिश की गई. इसमें नित्य मिश्रा को मामूली चोटें आई थीं. बाद में उन्होंने खुद अपने साथ हुए वाकये की पुष्टि की. नित्य मिश्रा ने बताया की वे एबीपी न्यूज के लिए काम करते हैं.

Nitya Mishra
एबीपी के पत्रकार नित्य मिश्रा. (तस्वीर- नीरज श्रीवास्तव)

नित्य ने आरोप लगाया कि भाजपा के लोग दूसरे प्रत्याशियों को पर्चा दाखिल करने नहीं दे रहे. उन्होंने ये भी कहा कि इस गुंडागर्दी को पुलिस प्रशासन की शय मिली हुई है.

गोरखपुर

नामांकन के दिन सीएम योगी आदित्यनाथ के गढ़ गोरखपुर में भी हिंसा देखने को मिली. आजतक के रिपोर्टर गजेंद्र त्रिपाठी ने बताया कि गोरखपुर के चरगावां ब्लॉक से BJP प्रत्याशी वंदना सिंह पर्चा भरने पहुंची थीं. लेकिन वहां उनके काफिले पर पथराव किया गया. वंदना सिंह के पति रणविजय सिंह ने सपा प्रत्याशी और उनके समर्थकों पर पत्थरबाजी करने का आरोप लगाया है. रणविजय के मुताबिक कोई 500 सपा समर्थकों ने नामांकन स्थल के गेट के बाहर उनकी गाड़ी पर हमला कर दिया. पुलिस किसी तरह उन्हें अंदर लेकर गई. इस दौरान वंदना सिंह के पक्ष के लोगों यानी कई भाजपा समर्थकों को चोटें भी आईं.

ललितपुर

रिपोर्टर मनीष सोनी ने बताया कि यहां तालबेहट ब्लॉक में नामांकन पत्र दाखिल किए जाने के दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं की गुंडागर्दी देखने को मिली. रिपोर्ट के मुताबिक, यहां ब्लॉक प्रमुख पद के लिए नामांकन करने पहुंचे निर्दलीय प्रत्याशी राजदीप सिंह बुंदेला से रास्ते में ही पर्चा छीनने की कोशिश की गई. मनीष सोनी की मानें तो निर्दलीय उम्मीदवार से पर्चा छीनने के लिए BJP कार्यकर्ता उन पर ही कूद रहे थे. बड़ी मुश्किल से राजदीप सिंह बुंदेला ब्लॉक केंद्र पहुंचे.


खबर के मुताबिक, जिस समय ये सब हो रहा था, तब वहां कई पुलिसकर्मी और अधिकारी मौजूद थे. उन पर आरोप है कि वे सारा तमाशा चुपचाप देखते रहे. हालांकि जब पत्रकारों ने वहां एक सीनियर पुलिस अधिकारी से बात की तो उन्होंने कहा कि नामांकन शांतिपूर्ण तरीके से कराया जा रहा है और पुलिस ने कड़े सुरक्षा इंतजाम किए हैं. उन्होंने कहा,

“हल्की-फुल्की घटनाएं चुनाव के दौरान होती रहती हैं, जिन पर पुलिस प्रशासन नजर बनाए हुए है.”

अन्य जगहों पर भी एक सी कहानी

फतेहपुर का नजारा भी कुछ ऐसा ही था. यहां के तेलियानी ब्लॉक प्रमुख के चुनाव की नामांकन प्रक्रिया के दौरान BJP और सपा समर्थकों के बीच तगड़ी भिड़ंत हो गई. आजतक की रिपोर्ट के मुताबिक, सपा समर्थकों ने BJP के लोगों पर हिंसा करने का आरोप लगाया है. उनका दावा है कि भाजपाइयों ने सपा के लोगों की गाड़ी तोड़ डाली. यहां तक कि वे कथित रूप से जिला प्रशासन के सामने से बीडीसी को खींचकर ले गए. सपा के लोगों ने आरोप लगाया कि ये सारा तमाशा प्रशासन की मौजूदगी में हुआ.

वहीं, अंबेडकरनगर में बसपा के पूर्व मंत्री लालजी वर्मा के हाथ नामांकन पर्चा छीनकर फाड़ दिया गया. जिले के टांडा ब्लॉक में हुई इस घटना के लिए भी भाजपा के लोगों को जिम्मेदार ठहराया गया है. लालजी वर्मा के पक्ष के लोगों ने भाजपा प्रत्याशी तेजस्वी जायसवाल पर ये बवाल कराने का आरोप लगाया है. घटना की खबर मिलने के बाद जिले के डीएम और एसपी टांडा पहुंचे. इसके बाद इलाके में भारी संख्या में फोर्स की तैनाती कर दी गई.

इस बीच जौनपुर और झांसी से भी हिंसा की खबर आई. प्राप्त जानकारी के मुताबिक, झांसी के बड़ा गांव ब्लॉक प्रमुख चुनाव के नामाकंन के दौरान सपा और भाजपा समर्थकों के बीच पत्थरबाजी हुई है.


वीडियो- UP: ब्लॉक प्रमुख के चुनाव कैसे होते हैं, जिसके जिम्मे करोड़ों का विकास कार्य रहता है? 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

क्या पाकिस्तान यूपी चुनाव में आतंकी हमले कराने की तैयारी में है?

क्या पाकिस्तान यूपी चुनाव में आतंकी हमले कराने की तैयारी में है?

दिल्ली पुलिस ने 6 संदिग्धों को गिरफ्तार कर कई दावे किए हैं.

नसीरुद्दीन शाह ने योगी आदित्यनाथ के 'अब्बा जान' वाले बयान पर बड़ी बात कह दी है!

नसीरुद्दीन शाह ने योगी आदित्यनाथ के 'अब्बा जान' वाले बयान पर बड़ी बात कह दी है!

नसीर ने ये भी कहा कि कई मुस्लिम अपने पिता को बाबा भी कहते हैं.

AIMIM के पूर्व नेता पर FIR, दोस्त के साथ हलाला कराने की कोशिश का आरोप

AIMIM के पूर्व नेता पर FIR, दोस्त के साथ हलाला कराने की कोशिश का आरोप

पूर्व पत्नी ने लगाया रेप के प्रयास का आरोप, AIMIM नेता ने कहा- बेबुनियाद.

75 साल बाद नर्सिंग के पाठ्यक्रम में किए गए बड़े बदलाव हैं क्या?

75 साल बाद नर्सिंग के पाठ्यक्रम में किए गए बड़े बदलाव हैं क्या?

ये बदलाव जनवरी 2022 से लागू होंगे.

पश्चिम बंगाल के पूर्व CM बुद्धदेव भट्टाचार्य की साली बेघर हैं, फुटपाथ पर सोती हैं

पश्चिम बंगाल के पूर्व CM बुद्धदेव भट्टाचार्य की साली बेघर हैं, फुटपाथ पर सोती हैं

इरा बसु वायरोलॉजी में PhD हैं और 30 साल से भी ज्यादा समय तक पढ़ाया है.

'माओवादी' बताकर CRPF ने 8 आदिवासियों का एनकाउंटर किया था, 8 साल बाद ये 'एक भूल' साबित हुई है

'माओवादी' बताकर CRPF ने 8 आदिवासियों का एनकाउंटर किया था, 8 साल बाद ये 'एक भूल' साबित हुई है

यहां तक कि CRPF कान्स्टेबल की मौत भी फ्रेंडली फायर में हुई थी!

अक्षय कुमार की मां का निधन

अक्षय कुमार की मां का निधन

अपने जन्मदिन से सिर्फ एक दिन पहले अक्षय को मिला गहरा सदमा.

अफगानिस्तान: तालिबान ने नई सरकार की घोषणा की, किसे बनाया मुखिया?

अफगानिस्तान: तालिबान ने नई सरकार की घोषणा की, किसे बनाया मुखिया?

नई अफगानिस्तान सरकार का लीडर यूएन की आतंकियों की लिस्ट में शामिल है.

छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल के पिता गिरफ्तार, कोर्ट ने 15 दिन के लिए भेजा जेल

छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल के पिता गिरफ्तार, कोर्ट ने 15 दिन के लिए भेजा जेल

रायपुर पुलिस ने नंद कुमार बघेल को ब्राह्मणों पर आपत्तिजनक टिप्पणी के आरोप में गिरफ्तार किया.

एक्टर रजत बेदी ने रोड पार करते व्यक्ति को टक्कर मारी!

एक्टर रजत बेदी ने रोड पार करते व्यक्ति को टक्कर मारी!

पीड़ित इस वक़्त कूपर अस्पताल में भर्ती है, जहां उसकी हालत बेहद नाज़ुक है.