Submit your post

Follow Us

यूपी: इन कोरोना वॉरियर्स के साथ जो हुआ उससे इस लड़ाई में उनका हौसला पस्त हो सकता है!

एक टर्म इन दिनों चलन में है. कोरोना वॉरियर्स. मतलब ज़मीन पर जो लोग मोर्चे पर तैनात हैं. पुलिस, डॉक्टर, स्वास्थ्यकर्मी और सफाईकर्मी. लेकिन उनके हिस्से ताली-थाली बजाने के अलावा भेदभाव, मारपीट, सैलरी कट जैसी चीज़ें आ रही हैं. डॉक्टरों के अलावा सफाईकर्मियों के साथ भी ये सब हो रहा है. सफाईकर्मियों की सैलरी कट का एक मामला उत्तर प्रदेश से आया है. लखनऊ के किंग जॉर्ज मे़डिकल कॉलेज (KGMU) के शताब्दी ब्लॉक में सफाईकर्मियों ने काम का बहिष्कार किया. उनका आरोप है कि उनकी सैलरी काट ली गई है. साथ ही कुछ का आरोप है कि उन्हें जनवरी महीने की सैलरी नहीं मिली है.

इंडिया टुडे से बातचीत में सफाईकर्मियों ने कहा,

पिछले साल दिसंबर तक हमें 8,800 रुपए महीने मिलते थे. पिछले तीन महीनों से सैलरी नहीं मिल रही थी. हमने प्रदर्शन करना शुरू किया तो सैलरी दी गई, लेकिन काटकर.

सफाईकर्मियों का कहना है,

हमारी सैलरी काटकर 6 से 7 हज़ार कर दी गई है. कई लोगों को जनवरी की सैलरी नहीं मिली है. हमें साप्ताहिक छुट्टी भी नहीं मिल रही है. अगर प्रशासन हमारी सैलरी नहीं बढ़ा सकता तो कम से कम तयशुदा 8,800 रुपए महीने ही दे.

सफाईकर्मियों की मांग है कि अगर सैलरी बढ़ नहीं रही तो तयशुदा सैलरी ही दी जाए. फोटो: India Today
सफाईकर्मियों की मांग है कि अगर सैलरी बढ़ नहीं रही तो तयशुदा सैलरी ही दी जाए. फोटो: India Today

काम पर लौटने की अपील

KGMU के शताब्दी ब्लॉक में इन सफाईकर्मियों को कॉन्ट्रैक्ट पर रखने वाली कंपनी के सुपरवाइजर विजय शंकर अवस्थी कहते हैं,

66 सफाईकर्मियों में 18 लोगों को कुछ वजहों से जनवरी की सैलरी नहीं मिली है. उनकी चिंताओं को दूर करने की कोशिश की जा रही है. पहले कॉन्ट्रैक्ट दूसरी कंपनी के पास था, जो इससे अलग पैसे देती थी. हमने उनसे काम पर लौटने की अपील की है. हम बड़े पदाधिकारियों तक उनकी बात पहुंचाएंगे ताकि मांगों को पूरा किया जा सके.

कोरोना के इस दौर में उनके साथ डटे रहने की जरूरत है जो इस लड़ाई में पहली पंक्ति में खड़े हैं. चाहे वो डॉक्टर्स हों, नर्स या सफाईकर्मी. वे अपने जान की परवाह किए बिना कोरोना से लड़ाई लड़ रहे हैं.

कोरोना ट्रैकर:


कैंसर सर्जन डॉ सिद्धार्थ मुखर्जी ने भारत की जनसंख्या को ध्यान में रख कोरोना वैक्सीन पर क्या कहा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह नहीं रहे, पीएम मोदी ने कहा-

पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह नहीं रहे, पीएम मोदी ने कहा- "बातें याद रहेंगी"

जसवंत सिंह अटल सरकार के कद्दावर मंत्रियों में से थे.

IPL2020 के जरिए टीम इंडिया में आएगा फाजिल्का का ये लड़का?

IPL2020 के जरिए टीम इंडिया में आएगा फाजिल्का का ये लड़का?

सबकी उम्मीदें शुभमन गिल से लगी है.

आप दीपिका और रकुल प्रीत में उलझे रहे और राजस्थान में इतना बड़ा कांड हो गया!

आप दीपिका और रकुल प्रीत में उलझे रहे और राजस्थान में इतना बड़ा कांड हो गया!

दो दिन से बवाल चल रहा है.

मोदी सरकार ने भ्रष्टाचार रोकने वाले इस क़ानून को जरूरी बनाने की बात से पलटी मार ली

मोदी सरकार ने भ्रष्टाचार रोकने वाले इस क़ानून को जरूरी बनाने की बात से पलटी मार ली

और यह जानकारी ख़ुद सरकार ने दी है.

किसान कर्फ्यू से पहले किसानों ने कहां-कहां ट्रेन रोक दी है?

किसान कर्फ्यू से पहले किसानों ने कहां-कहां ट्रेन रोक दी है?

कई ट्रेनों को कैंसिल किया गया, कई के रूट बदले गए.

केंद्रीय मंत्री सुरेश अंगड़ी का कोविड-19 से निधन

केंद्रीय मंत्री सुरेश अंगड़ी का कोविड-19 से निधन

दिल्ली के एम्स में उनका इलाज चल रहा था.

धोनी का वर्ल्ड कप जिताने वाला सिक्सर याद है! वो अब स्टेडियम में अमर होने वाला है

धोनी का वर्ल्ड कप जिताने वाला सिक्सर याद है! वो अब स्टेडियम में अमर होने वाला है

भारत में किसी खिलाड़ी को जो मुकाम हासिल नहीं हुआ, वो अब धोनी को मिलने वाला है.

अंतरिक्ष में भी लद्दाख जैसी हरकतें कर रहा है चीन

अंतरिक्ष में भी लद्दाख जैसी हरकतें कर रहा है चीन

भारत के सैटेलाइट पर है ख़तरा!

चुनाव लड़ने के लिए गुप्तेश्वर पांडे ने दूसरी बार पुलिस सेवा से रिटायरमेंट ले ली है

चुनाव लड़ने के लिए गुप्तेश्वर पांडे ने दूसरी बार पुलिस सेवा से रिटायरमेंट ले ली है

2009 में भी गुप्तेश्वर पांडे ने वीआरएस लिया था, पर तब बीजेपी ने टिकट नहीं दिया था.

दिल्ली दंगे के लिए पुलिस ने अब इस ग्रुप को जिम्मेदार ठहराया है

दिल्ली दंगे के लिए पुलिस ने अब इस ग्रुप को जिम्मेदार ठहराया है

चार्जशीट में दिल्ली पुलिस ने और क्या कहा है?