Submit your post

Follow Us

लखनऊ में कैब ड्राइवर पर थप्पड़ बरसाने वाली लड़की के खिलाफ FIR दर्ज हो गई है

लखनऊ में कैब ड्राइवर को थप्पड़ मारने वाली युवती के खिलाफ FIR दर्ज हो गई है. लखनऊ पुलिस ने इसकी पुष्टि की है. आजतक संवाददाता आशीष श्रीवास्तव ने बताया है कि कैब ड्राइवर के पक्ष की तरफ से युवती के खिलाफ कृष्णा नगर थाने में शिकायत दर्ज कराई गई थी. इसके आधार पर FIR दर्ज कर संबंधित धाराओं के तहत केस रजिस्टर किया गया है. आशीष श्रीवास्तव के मुताबिक, पुलिस ने तोड़फोड़ और लूट से संबंधित धाराओं के तहत केस दर्ज किया है.

मामले में लखनऊ के एडीसीपी चिरंजीव नाथ का भी बयान सामने आया है. आजतक को मिली जानकारी के मुताबिक, चिरंजीव नाथ ने कहा है,

“वायरल वीडियो से संबंधित युवक की ओर से एक तहरीर आज (2 अगस्त 2021) दी गई है. उसके आधार पर थाना कृष्णा नगर में युवती के विरुद्ध संबंधित धाराओं के तहत मामला रजिस्टर किया गया है. साथ ही मामले से जुड़े अधिकारियों को निष्पक्ष कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया है.”

Up Police
ADCP चिरंजीव नाथ. (तस्वीर- आशीष श्रीवास्तव)

पीड़ित पक्ष का कहना है कि युवक के साथ ना सिर्फ मारपीट की गई, बल्कि उसका मोबाइल भी तोड़ दिया गया और गाड़ी को भी नुकसान पहुंचाने की कोशिश की गई. इस बारे में कृष्णा नगर एसीपी स्वतंत्र सिंह ने कहा है कि सीसीटीवी फुटेज में महिला की गलती दिखाई दे रही है, जिसके बाद पीड़ित युवक ने थाने में तहरीर दी. स्वतंत्र सिंह ने बताया कि FIR दर्ज होने के बाद सीसीटीवी को कब्जे में लेकर जांच की जा रही है.

‘महिला हमेशा मासूम, पुरुष हमेशा दोषी’

पुलिस की इस कार्रवाई के बाद सोशल मीडिया पर फिर प्रतिक्रियाएं आ रही हैं. हैशटैग #ArrestLucknowGirl को एक लाख 42 हजार से भी ज्यादा बार ट्वीट किया जा चुका है. कुछ यहां देखें.

खुशी सिंह चौहान नाम की ट्विटर यूजर ने लिखा है

“पहले बेंगुलरु में डिलिवरी बॉय कामराज और अब लखनऊ का कैब ड्राइवर. दोनों केसों में लड़कियों को पब्लिसिटी मिली और आदमियों को उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज होने के चलते परेशानी झेलनी पड़ी. लड़कियां प्लीज पब्लिसिटी के लिए किसी की जिंदगी बर्बाद ना करें.”

अभिषेक नाम के ट्विटर यूजर ने भी इन दोनों मामलों का जिक्र किया. उन्होंने लिखा, तब और अब. कुछ चीजें कभी नहीं बदलतीं. दोषी साबित होने से पहले महिला हमेशा मासूब होती है. लेकिन पुरुष निर्दोष साबित होने तक हमेशा दोषी रहेगा.

क्या है पूरा मामला?

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक, ये वाकया शुक्रवार 30 जुलाई की रात दस बजे के आसपास का है. घटना से जुड़े पहले वीडियो में दिखाई दिया था कि युवती एक कैब ड्राइवर को एक के बाद एक कई चांटे मारे जा रही थी. ये सब पुलिस और कई आम लोगों के सामने हो रहा था. वहां मौजूद कुछ लोगों ने कैब ड्राइवर को युवती के हाथ से छुड़ाने की कोशिश भी की थी. लेकिन युवती उनसे भी उलझ गई और एक व्यक्ति का गिरेबान भी पकड़ लिया.

शुरू में युवती ने आरोप लगाया कि कैब ड्राइवर और उसके दो साथी उसे परेशान कर रहे थे. उसका कहना था कि ड्राइवर इतनी तेजी से गाड़ी ला रहा था कि वो उससे टकराने से बाल-बाल बच गई. उधर, वीडियो में कैब ड्राइवर आरोप लगा रहा था कि युवती ने उसका मोबाइल तोड़ दिया और गाड़ी पर भी हमला किया. हंगामे के बीच पुलिस ने शांति भंग करने से जुड़ी धाराओं के तहत ड्राइवर का चालान काट दिया. हालांकि युवती ने किसी तरह की शिकायत दर्ज कराने से इन्कार कर दिया था, इसलिए पुलिस ने दोनों पक्षों को चेतावनी देकर छोड़ दिया.

Lucknow Girl
शुक्रवार को हुई घटना के वायरल वीडियो के स्क्रीनशॉट्स.

अगले दिन तक इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बन चुका था. कई लोगों ने ड्राइवर के साथ युवती के व्यवहार की आलोचना की और उसके खिलाफ कार्रवाई की मांग की. वहीं, कुछ लोगों ने कहा कि लड़की सड़क नियमों का पालन करते हुए सड़क पार कर रही थी, हालांकि ड्राइवर से उसका मारपीट करना उचित नहीं था.

ये सब चल ही रहा था कि सोमवार 2 अगस्त को एक दूसरा वीडियो सामने आया. इसमें साफ दिखा कि युवती ने सड़क को रेडलाइन के समय जेबरा क्रॉसिंग के जरिए पार किया था. लेकिन ऐसा वो चलती गाड़ियों के बीच कर रही थी. एक के बाद एक तीन-चार गाड़ियां उसके पास से गुजरीं. गनीमत रही कि किसी से उसको टक्कर नहीं लगी. इसी दौरान पीड़ित ड्राइवर भी कैब के साथ सड़क से गुजर रहा था. अचानक युवती को देखकर उसने गाड़ी रोक ली. वीडियो में दिखा कि युवती को अचानक कैब ड्राइवर पर इतना गुस्सा आया कि उसने पहले जबरन कैब का गेट खोला और फिर किसी चीज पर हिट करने लगी. बाद में दूसरे वीडियो में दिखाई दिया कि युवती ने कैब ड्राइवर के साथ भी काफी मारपीट की थी.


वीडियो- लखनऊ में जिस लड़की ने कैब ड्राइवर की पिटाई की, CCTV ने उसका सच सबके सामने रख दिया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

क्या समीर वानखेड़े को NCB जोनल डायरेक्टर पद से हटा दिया गया है?

Covaxin को WHO के एक्सपर्ट पैनल से इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिली

Covaxin को WHO के एक्सपर्ट पैनल से इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिली

स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने पीएम मोदी के लिए क्या कहा?

आज आए चुनाव नतीजे में ममता, कांग्रेस और BJP को कहां-कहां जीत हार का सामना करना पड़ा?

आज आए चुनाव नतीजे में ममता, कांग्रेस और BJP को कहां-कहां जीत हार का सामना करना पड़ा?

उपचुनाव के नतीजे एक जगह पर.