Submit your post

Follow Us

ट्रैफिक नियम बताते अक्षय कुमार को देखकर ध्यान भटका, बाइक वाले का एक्सिडेंट हुआ

लखनऊ, उत्तर प्रदेश. डिस्ट्रिक्ट कंज्यूमर फोरम के वरिष्ठ सदस्य ने बॉलीवुड एक्टर अक्षय कुमार को कारण बताओ नोटिस जारी किया है. लेकिन क्यों?

क्योंकि लखनऊ में एक बाइक सवार रास्ते में लगी बड़ी स्क्रीन पर अक्षय कुमार का एड देखने में लग गए. इतने ध्यानमग्न होकर एड देख रहे थे कि भूल गए कि वे रोड पर हैं और उनका एक्सिडेंट हो गया. उसकी बाइक आगे किसी गाड़ी से टकरा गई. आदमी का दावा है कि उसे बाइक को ठीक कराने और खुद का इलाज़ कराने में साढ़े चार लाख रुपए का खर्चा आया. आदमी ने इस मामले की शिकायत कन्जूमर फोरम में की.

29 साल के सत्येंद्र कुमार शर्मा ने कंज्यूमर फोरम को शिकायत में लिखा है कि वह 29 सितंबर को गोमतीनगर जा रहे थे. फन रिपब्लिक मॉल के पास उनकी नज़र डिवाइडर पर लगी बड़ी स्क्रीन पर पड़ी. इस स्क्रीन पर एक वीडियो चल रहा था जिसमें एक्टर अक्षय कुमार पुलिस की में वर्दी में कुछ मेसेज दे रहे थे. इसे देखते हुए उसका ध्यान भटक गया और बाइक की टक्कर हो गई. इस वाकये में बाइक एक्सिडेंट हो गया और वह उन्हें चोट पहुंची.

मानसिक, आर्थिक और शारीरिक नुकसान का हवाला देते हुए सत्येंद्र ने डिस्ट्रिक्ट कंज्यूमर फॉर्म में शिकायत दायर कर साढ़े चार लाख रुपए मुआवजा की मांग की. इसके साथ ही मानसिक दिक्कतों के लिए 25 हजार और शारीरिक कष्ट के लिए भी 25 हजार रुपए मुआवज़े की मांग की है. इसके बाद फोरम फर्स्ट के राजर्षि शुक्ला ने अक्षय कुमार को नोटिस भेजा है जिसका जवाब उन्हें 30 दिनों में देना होगा.


वीडियो- टीवी पर दिखने वाला है दी लल्लनटॉप का अनोखा और इकलौता क्विज शो

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज में से पहले दिन वित्त मंत्री ने क्या-क्या ऐलान किया?

20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज की डिटेल दी.

पीएम मोदी ने जिस Y2K क्राइसिस का ज़िक्र किया, वो क्या था?

पीएम ने 12 मई को देश को संबोधित किया.

अपने भाषण में नरेंद्र मोदी ने अगले लॉकडाउन के बारे में ये हिंट दे दिया है

मोदी के 34 मिनट के भाषण में काम की बात क्या थी?

ट्रेन के बाद अब फ़्लाइट शुरू होगी तो यात्रा के क्या नियम होंगे?

केबिन लगेज, जांच और बैठने की व्यवस्था को लेकर क्या नियम हैं?

गुजरात: CM बदलने की संभावना पर खबर चलाई, पुलिस ने राजद्रोह का केस लिख लिया

इस मामले में गुजरात सरकार की किरकिरी हो रही है.

किसी को सही-सही पता ही नहीं कि दिल्ली में कोरोना से कितनी मौतें हुईं!

सरकार और नगर निगम के आंकड़े अलग-अलग.

चीन से ठगे जाने के बाद इंडिया ने अपनी टेस्टिंग किट बनाई, कैसे काम करेगी?

किसने बनाई ये टेस्टिंग किट?

कॉन्स्टेबल साब ने दिल्ली में शराब वितरण का लेटेस्ट तरीका निकाला था, नप गए

दिल्ली में शराब की दुकानों पर भीड़ बहुत ज़्यादा है.

12 मई से चलने वाली ट्रेनों के स्टॉपेज, टाइम टेबल और नियम क़ानून की जानकारी यहां देखिए

किस-किस दिन चलेंगी ट्रेनें?

कोरोना: सुपर स्प्रेडर क्या होते हैं और ये इतने खतरनाक क्यों हैं कि अहमदाबाद में सब कुछ बंद करना पड़ा

अहमदाबाद में 14 हजार सुपर स्प्रेडर होने की आशंका जताई जा रही है.