Submit your post

Follow Us

दलितों के घर ढहाने और महिलाओं से छेड़खानी के आरोपों पर क्या बोली आजमगढ़ पुलिस?

तारीख 29 जून. जगह उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ जिले का पलिया गांव. शाम का वक्त था. दो पक्षों के बीच किसी बात को लेकर विवाद हो गया. नौबत हाथापाई तक पहुंच गई. इस बीच किसी ने पुलिस को फोन कर दिया. दो पुलिसवाले भी मौके पर पहुंच गए. झगड़े में शामिल एक पक्ष दलित समाज का था. आरोप है कि उसके लोगों ने पुलिसवालों पर भी हाथ उठा दिया. एक पुलिसकर्मी को गंभीर चोटें आईं. आरोप है कि इसके बाद कई थानों की पुलिस ने मिल कर उस पक्ष के लोगों के साथ मारपीट की और उनके नेता यानी गांव के प्रधान के घर का एक हिस्सा गिरा दिया. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी, बसपा अध्यक्ष मायावती और भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर ने इसे ‘पुलिस की गुंडागर्दी’ करार दिया है. वहीं आजमगढ़ पुलिस तमाम आरोपों को खारिज कर रही है.

जमकर हो रही राजनीति

पुलिस पर जिस पक्ष को पीटने का आरोप है, उसे दलित समाज का बताया जा रहा है. इस घटना को लेकर राजनीति भी जमकर हो रही है. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट किया और सरकार को आड़े हाथों लिया. उन्होंने लिखा,

“आज़मगढ़, रौनापार के पलिया गांव में यूपी पुलिस द्वारा दलित परिवारों पर हमला करने की खबर आ रही है. वहां कई मकानों को तोड़ा गया, सैकड़ों पर मुकदमा दर्ज किया गया. यह सरकारी अमले की दलित विरोधी मानसिकता का परिचायक है. तत्काल दोषियों के ऊपर कार्यवाही हो और पीड़ितों को मुआवजा दिया जाए.”

बसपा अध्यक्ष मायावती ने भी ट्वीट किया और लिखा,

“आजमगढ़ पुलिस द्वारा पलिया गाँव के पीड़ित दलितों को न्याय देने के बजाय उनपर ही अत्याचारियों के दबाव में आकर खुद भी जुल्म-ज्यादती करना व उन्हें आर्थिक नुकसान पहुंचाना अति-शर्मनाक. सरकार इस घटना का शीघ्र संज्ञान लेकर दोषियों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई व पीड़ितों की आर्थिक भरपाई करे. साथ ही, अत्याचारियों व पुलिस द्वारा भी दलितों के उत्पीड़न की इस ताजा घटना की गंभीरता को देखते हुए बीएसपी का एक प्रतिनिधिमण्डल श्री गया चरण दिनकर, पूर्व एमएलए के नेतृत्व में पीड़ितों से मिलने शीघ्र ही गाँव का दौरा करेगा.”

भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर ने भी इस मामले में सरकार को घेरा. उन्होंने एक वीडियो और कुछ तस्वीरें ट्वीट करते हुए लिखा,

“जातिवादी मानसिकता से कुंठित आजमगढ़ पुलिस की भाषा सुनिए. इन पर कार्यवाही करने की बजाए पुलिस महिला को ही दोषी बता रही है. पहले मुन्ना पासवान का घर तोड़ा और अब औरतों के साथ गाली-गलौज. शर्मनाक! क्या महिला आयोग जिंदा है?… हम अपनी मां बहनों का अपमान बर्दाश्त नहीं करेंगे. हमारी मांग है कि रौनापार SHO सहित थाने के सभी दोषी पुलिसकर्मियों को बर्खास्त कर उनपर FIR दर्ज की जाए और मुन्ना पासवान को घर तोड़ने के एवज में 5 करोड़ की क्षतिपूर्ति दी जाए.”

 

इस मामले में समाजवादी पार्टी की ओर से भी ट्वीट किया गया. उसने भी पीड़ितों के लिए मुआवजे की मांग की.

“पुलिस द्वारा आजमगढ़ में दलित बस्ती के मकानों को ढाहने का मामला घोर निंदनीय! ये सत्ता की दलित विरोधी मानसिकता भरे शासन की देन है. पुलिस के बर्बर अत्याचार के खिलाफ धरने पर बैठे पीड़ित दलित परिवारों की गुहार सुनी जाए. मुआवजा समेत मिले पक्का मकान और दोषियों पर हो सख्त कार्रवाई.”

मामले को लेकर चारों ओर से सरकार को घेरा जा रहा है. ऐसे में हमने सत्तारूढ़ भाजपा का पक्ष जानने की कोशिश की. यूपी में भाजपा के प्रवक्ता मनीष शुक्ला ने लल्लनटॉप से कहा,

“अभी हाल ही में AIMIM के एक नेता ने दलितों की बारात नहीं निकलने देने की धमकी दी थी. उस वक्त इन तीनों (कांग्रेस, बसपा, सपा) में से किसी का ना तो ट्वीट आया था और ना ही बयान आया था. अब ये लोग सरकार पर सवाल कर रहे हैं. सच्चाई ये है कि योगी सरकार बिना भेदभाव के काम कर रही है. इस मामले में भी निष्पक्ष जांच हो रही है और जो दोषी होगा उसके खिलाफ कार्रवाई होगी.”

क्या है आखिर ये मामला?

इस पूरे प्रकरण को समझने के लिए हमने बात की इंडिया टुडे ग्रुप के आजमगढ़ संवाददाता राजीव कुमार से. उन्होंने हमें बताया,

“ऐसा बताया जा रहा है कि प्रधान मुन्ना पासवान के पक्ष के लोगों की एक डॉक्टर के साथ कहासुनी हुई थी. प्रधान और उनके समर्थकों का जब दूसरे पक्ष के साथ झगड़ा हो रहा था तब पुलिस भी वहां पहुंची थी. ऐसे आरोप हैं कि पुलिस ने प्रधान को पीटा था. उनकी नाक से खून आ गया. इस पर उनके समर्थकों ने पुलिस पर हाथ उठाया. एक पुलिसवाले को चोट भी लगी. उसे अस्पताल ले जाया गया. जानकारी है कि उसे टांके भी आए हैं. इसके बाद वहां फोर्स पहुंची. प्रधान पक्ष का आरोप है कि पुलिस ने बुलडोजर लगाया, मकान तोड़े, लूटपाट की और छेड़छाड़ भी की. देर रात का मामला है. मीडिया तक खबर अगली सुबह पहुंची. पुलिस आरोपों का खंडन कर रही है.”

पीड़ितों की ओर से भी कुछ वीडियो शेयर किए गए हैं. इनमें ना केवल उनके मकान का अगला हिस्सा धराशायी हुआ दिखता है, बल्कि घर का सामान भी बिखरा दिखाई देता है. मकान के मलबे के नीचे वाहन भी दब गए हैं.

वहीं, भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर द्वारा जारी वीडियो में एक महिला ने पुलिसवालों पर घर की महिलाओं से छेड़छाड़ करने के आरोप लगाए हैं. इस महिला को प्रधान मुन्ना पासवान की रिश्तेदार बताया गया है. पुलिस पर लूट के भी आरोप हैं. महिलाओं के मुताबिक, पुलिसवाले शादी के लिए रखी ज्वेलरी भी लूट कर ले गए और काफी मारपीट और गालीगलौच भी की. घटना के बाद से दलित बस्ती के पुरुष गायब हैं. अधिकतर लोग पुलिसिया कार्रवाई के डर के कारण घर छोड़ कर जा चुके हैं.

पुलिस का क्या कहना है?

पुलिस इन आरोपों से इन्कार करती है. उसका कहना है कि आरोपियों ने अपने बचाव के लिए खुद ही घर पर जेसीबी चलवा ली है. आजमगढ़ पुलिस के ट्विटर हैंडल पर वहां के एसपी सुधीर कुमार सिंह का एक वीडियो शेयर किया गया है. इसमें वे कह रहे हैं कि प्रधान मुन्ना पासवान अपने साथियों के साथ बाजार में लड़कियों के साथ छेड़खानी कर रहा था. एसपी के मुताबिक, लिट्टन विश्वास नाम का युवक उसकी वीडियो बना रहा था. इस पर पासवान ने अपने साथियों के साथ मिलकर लिट्टन से मारपीट की. उसको गंभीर चोटें आईं. एसपी ने बताया कि इस संबंध में मुन्ना पासवान और उसके 11 साथियों के खिलाफ केस दर्ज हुआ है.

सुधीर कुमार सिंह ने कहा कि मौके पर मुखराज यादव और विवेक त्रिपाठी नाम के दो हेड कॉन्स्टेबल गए. सिंह ने दावा किया कि इन कॉन्स्टेबल्स के साथ भी मारपीट की गई. पुलिस अधिकारी के मुताबिक, विवेक त्रिपाठी को गहरी चोटें आईं हैं और उनके सिर का ऑपरेशन भी करना पड़ा है. घटना के बाद से आरोपी फरार हैं. वहीं, उन्हें गिरफ्तारी से बचाने के लिए महिलाओं द्वारा प्रदर्शन कराया जा रहा है और पुलिस पर आरोप लगाए जा रहे हैं.

पुलिस ने इस पूरे प्रकरण में तीन FIR दर्ज की हैं. पहली लिट्टन विश्वास पर हमले की. दूसरी पुलिस पर हमले की और तीसरी कथित रूप से मुन्ना पासवान के घर अज्ञात लोगों द्वारा तोड़फोड़ की. पुलिस ने बताया कि जांच की जा रही है और तथ्यों के आधार पर कार्रवाई की जाएगी.


वीडियो- यूपी में जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव की प्रक्रिया क्या है और कौन ये चुनाव लड़ सकता है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

उस दिन एंडरसन ने बुमराह से क्या कहा था, अब पता चल गया

उस दिन एंडरसन ने बुमराह से क्या कहा था, अब पता चल गया

अश्विन बोले, यकीन नहीं हुआ जिमी ने ऐसा कहा.

पहले टी20 मैच में ही हैट्रिक लेने वाले गेंदबाज को पंजाब किंग्स ने किया साइन

पहले टी20 मैच में ही हैट्रिक लेने वाले गेंदबाज को पंजाब किंग्स ने किया साइन

बांग्लादेश के खिलाफ ली थी हैट्रिक...

IMA देहरादून का 'शेरू', जो अब तालिबान के सबसे ताकतवर नेताओं में से एक है

IMA देहरादून का 'शेरू', जो अब तालिबान के सबसे ताकतवर नेताओं में से एक है

शेरू IMA के 1982 के बैचमेट के साथ ऋषिकेश भी गया था.

17 साल की शैली सिंह देश के लिए मेडल लाने के सबसे करीब

17 साल की शैली सिंह देश के लिए मेडल लाने के सबसे करीब

दर्जी मां ने मुश्किलों से बेटी को खिलाड़ी बनाया.

CISF के अफसर ने सलमान को एयरपोर्ट पर रोका, लोग बोले- 'अफसर हो तो ऐसा'

CISF के अफसर ने सलमान को एयरपोर्ट पर रोका, लोग बोले- 'अफसर हो तो ऐसा'

CISF के अफ़सर ने दिखा दिया कि नियम सब के लिए बराबर हैं.

मध्य प्रदेश: CM शिवराज से नौकरी मांगने गई महिला शिक्षकों को फोटो खींचकर खदेड़ा गया, वीडियो वायरल

मध्य प्रदेश: CM शिवराज से नौकरी मांगने गई महिला शिक्षकों को फोटो खींचकर खदेड़ा गया, वीडियो वायरल

सीएम शिवराज के लिए राखी लेकर आई थीं महिला शिक्षक.

अफ़ग़ानिस्तान से भागे पत्रकार ने बताया कि लोग जान बचाने के लिए प्लेन में क्या कर रहे थे?

अफ़ग़ानिस्तान से भागे पत्रकार ने बताया कि लोग जान बचाने के लिए प्लेन में क्या कर रहे थे?

"मां-बाप बच्चों के सिर के ऊपर से पकड़ रहे थे ताकि उनके ऊपर अगर कोई चढ़ जाए तो उन्हें चोट ना लगे"

अफगानिस्तान के लोग तालिबान को ये करने पर मजबूर कर देंगे, सोचा नहीं था!

अफगानिस्तान के लोग तालिबान को ये करने पर मजबूर कर देंगे, सोचा नहीं था!

तालिबान के सुधरने के दावों के बीच उसके खिलाफ लगातार प्रदर्शन हो रहे हैं.

तालिबान को लेकर अफ़ग़ानिस्तान पत्रकारों की ये बात आपकी आंख खोलकर रख देगी!

तालिबान को लेकर अफ़ग़ानिस्तान पत्रकारों की ये बात आपकी आंख खोलकर रख देगी!

महिला पत्रकार कह रही हैं, 'वर्क फ्रॉम होम दे दो.'

हार्ट सर्जरी के बाद से लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर चल रहे क्रिस क्रेन्स की हालत कैसी है?

हार्ट सर्जरी के बाद से लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर चल रहे क्रिस क्रेन्स की हालत कैसी है?

परिवार ने जारी किया बयान.