Submit your post

Follow Us

काबुल एयरपोर्ट पर हमले के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति ने क्या बड़ा ऐलान कर दिया?

काबुल एयरपोर्ट पर एक के बाद एक धमाकों में 100 से ज्यादा लोगों को मौत के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि हम इन हमलों न तो भूलेंगे और न ही माफ करेंगे. हम इसके जिम्मेदार लोगों को ढूंढेंगे और उनके किए की सजा देंगे.

काबुल एयरपोर्ट पर हमले में 13 अमेरिकियों की भी मौत हुई है और करीब 18 घायल हुए हैं. अमेरिकी रक्षा मंत्रालय के मुताबिक, मरने वालों में 12 अमेरिकी कमांडो हैं. बताया जा रहा है कि पिछले कई साल में काबुल में अमेरिकियों को हुआ ये सबसे बड़ा नुकसान है.

अमाक न्यूज एजेंसी के मुताबिक, काबुल एयरपोर्ट पर हुए हमले की जिम्मेदारी ISIS के खोरासान ग्रुप ने ली है. इस ग्रुप को तालिबान का दुश्मन माना जाता है. पहले इस आतंकी संगठन ने सीरिया और इराक में अमेरिकी फौजों से जंग लड़ी थी. बीबीसी के मुताबिक, इस्लामिक स्टेट समूह ने अपने टेलीग्राम चैनल के ज़रिए दावा किया कि काबुल एयरपोर्ट का हमला आत्मघाती था.

रेस्क्यू मिशन नहीं रोकेगा अमेरिका

इस हमले के कुछ ही घंटे बाद अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने देश को संबोधित किया. उन्होंने भावुक होते हुए कहा कि इस हमले के बाद भी अफगानिस्तान से अमेरिकियों को बाहर निकालने का अभियान रोका नहीं जाएगा. आतंकी हमें डरा नहीं सकते. रक्षा मंत्रालय की ओर से बताया गया कि 14 अगस्त के बाद से अब तक एक लाख से ज्यादा लोगों को काबुल एयरपोर्ट से निकाला जा चुका है. अभी पांच हजार के करीब लोग अब भी रेस्क्यू किए जाने के इंतजार में हैं.

बाइडेन बोले, IS को सबक सिखाएंगे

बाइडेन ने अमेरिकी मिलिट्री कमांडरों से कहा कि वह हमले के लिए जिम्मेदार ISIS-खोरासान को सबक सिखाने की रणनीति तैयार करें. उसके नेतृत्व और अहम ठिकानों पर कार्रवाई का ऑपरेशनल प्लान बनाएं. बाइडेन ने कहा कि इसके लिए अमेरिकी सेना को जिस भी चीज की जरूरत होगी, चाहे वो अतिरिक्त सैनिक हों या किसी और तरह की मदद, उन्हें दी जाएगी.

इस बीच एक्सपर्ट्स का कहना है कि काबुल एयरपोर्ट ब्लास्ट में अमेरिकी सैनिकों के बड़ी तादाद में हताहत होने से जो बाइडेन की मुश्किलें और बढ़ सकती हैं. अफगानिस्तान के मौजूदा हालात के लिए विरोधी उन्हें ही जिम्मेदार ठहरा रहे हैं. अफगानिस्तान में 20 साल तक तालिबान से लड़ने के बाद अमेरिका ने अपनी फौज वापस बुला ली हैं.

भारत समेत कई देशों ने की निंदा

काबुल एयरपोर्ट पर हमले पर तमाम देशों ने प्रतिक्रिया दी है. भारत ने भी इस हमले की कड़ी निंदा की है. विदेश मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि यह हरकत दिखाती है कि आतंकवाद और उन्हें शह देने वालों से मुकाबले के लिए पूरी दुनिया को एकजुट होकर कदम उठाने होंगे.

ब्रिटेन के पीएम बोरिस जॉनसन ने भी कहा है कि काबुल धमाकों के बाद भी वह लोगों को वहां से निकालने का काम जारी रखेंगे. अधिकारियों के साथ इमरजेंसी मीटिंग के बाद जॉनसन ने कहा कि वह लोगों को एयरलिफ्ट करने के अपने प्लान पर कायम हैं. ब्रिटेन के रक्षा सचिव डोमिनिक रॉब ने कहा कि ऐसी कायराना हरकत हमें अफ़ग़ानिस्तान में अपना काम करने से रोक नहीं सकती. फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने बयान जारी करके इस आतंकवादी हमले की निंदा की.


 दी लल्लनटॉप शो: अफगानिस्तान में आगे क्या होगी भारत की रणनीति?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

ये रिपोर्ट कान खड़े कर देगी.

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

इस्तीफे में पराग अग्रवाल के लिए क्या-क्या बोले जैक डोर्से?

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

क्या समीर वानखेड़े को NCB जोनल डायरेक्टर पद से हटा दिया गया है?