Submit your post

Follow Us

अंतरिक्ष में भी लद्दाख जैसी हरकतें कर रहा है चीन

चीन का खेल केवल लद्दाख़ या भारत के दूसरे हिस्सों में ही नहीं, बल्कि अंतरिक्ष में भी चल रहा है. अमेरिका में मौजूद चाइना एरोस्पेस स्टडीज़ इंस्टीट्यूट (CASI) ने कहा है कि चीन ने भारत के सैटेलाइट पर बहुत सारे हमले किए हैं. ये हमले साल 2007 से 2018 के बीच किए गए थे. इसके अलावा साल 2017 में इंडिया के सैटेलाइट कम्यूनिकेशन पर भी कम्प्यूटर नेटवर्क का हमला किया गया था. 

ये हमले क्यों किए गए

जानकार बताते हैं कि ऐसे साइबर हमले अक्सर दूसरे देश के सैटेलाइट पर नियंत्रण पाने के लिए किए जाते हैं. कई बार ज़रूरी जानकारियां प्राप्त करने की नीयत से भी ऐसे हमले किए जाते हैं.

CASI क्या है? एक वाक्य में जान लीजिए कि ये अमेरिका के रक्षा विभाग और चीफ ऑफ़ स्टाफ़ के अधीन काम करने वाला एक रिसर्च संगठन है, जो रक्षा सम्बंधी फ़ैसलों के लिए इन विभागों को ज़रूरी जानकारी मुहैया कराता है.

‘टाइम्स ऑफ़ इंडिया’ की रिपोर्ट की मानें, तो अपनी 142 पेज लम्बी रिपोर्ट में CASI ने दावा किया है कि चीन के पास ऐसी कई सारी तकनीकें हैं, जिनसे अंतरिक्ष में शत्रु देशों के उपग्रहों को निशाना बनाया जा सकता है. उदाहरण के तौर पर, चीन के पास एक ही कक्षा में भ्रमण करने वाले सैटेलाइट हैं. साथ ही सैटेलाइट को मार गिराने वाली मिसाइलें हैं. जैमर हैं, जो किसी भी सैटेलाइट का सिग्नल जाम कर सकते हैं.

CASI ने ये भी कहा है कि चीन की सेना पीपल्स लिबरेशन आर्मी ने बीते कुछ समय में ऐसी कई सारी तकनीक का विकास किया है, जिसका उपयोग चीन अपने शत्रुओं को डिजिटली अंधा करने और हराने में कर सकता है.

इन हमलों से भारत को कितना ख़तरा है

ISRO की मानें, तो अभी तक कोई ख़तरा नहीं है. ISRO प्रमुख के. सिवन ने कहा है कि उपग्रहों पर होने वाले इस क़िस्म के साइबर अटैक एक ख़तरा तो हैं, लेकिन ISRO के उपग्रहों पर अभी तक कोई असर नहीं पड़ा है. के. सिवन ने दावा किया है भारत के उपग्रहों का नेटवर्क बिलकुल अलग और मुक्त है. किसी भी आम नेटवर्क या इंटरनेट से नहीं जुड़ा हुआ है.

इन हमलों के बारे में ISRO के कर्मचारियों ने ‘बिज़नेस टुडे’ से बातचीत में कहा है कि इतने साल में हमले कहां से हो रहे हैं, उन्हें इस बात का अभी तक पता नहीं चल सका है. अक्सर ऐसे हमलों में नहीं पता चल पाता है कि ये हमले कहां से होते हैं.

ISRO के एक वैज्ञानिक ने बताया है-

“हो सकता है कि चीनी लोगों ने कोशिश की हो, और असफल रहे हों.”


लल्लनटॉप वीडियो : उइगर मुसलमानों की आबादी पर पूरी दुनिया को क्या सफाई दे रहा है चीन?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

कोरोना को हराने के बाद 250 लोगों को रोज़गार देने वाला बिज़नेसमैन वार्डबॉय क्यों बन गया?

नहीं, पैसों की कोई कमी नहीं है.

भारत-चीन के बीच अब जो बातचीत हुई, उसे देखकर लग रहा है कि शायद कुछ अच्छा हो

फ्रंटलाइन पर और सैनिक भेजने को लेकर भी बड़ी सहमति हुई है.

बोलर पिटे तो बेईमानी पर उतर आए कैप्टन कूल MS धोनी!

धोनी की ये हरकत बेहद शर्मनाक है.

सुदर्शन वाले सुरेश चव्हाणके चोरी करते रंगे हाथ पकड़े गए

चोरी की भी तो किसके यहां?

गांगुली को लेकर श्रेयस अय्यर ने ऐसा क्या बोल डाला कि सफाई देनी पड़ी

मामले में पोंटिंग भी शामिल है.

वायरल हो गई 2 गेंदों पर 27 रन उड़ाने वाले आर्चर की सालों पुरानी भविष्यवाणी

22 सितंबर 2020 को जोफ्रा ने गर्दा ही उड़ा दिया.

IPL 2020: सैमसन ने रेगिस्तान में बरसाए छ्क्के तो गंभीर ने कह दी बड़ी बात

गंभीर ने तो सबको चैलेंज ही कर दिया.

अपने खास टैलेंट में फिर बुरी तरह फेल हुए MS धोनी, फैंस होंगे निराश

क्या पहले जैसी नहीं रही धोनी की डिसिजन मेकिंग?

मोदी सरकार ने रबी फसलों पर एमएसपी बढ़ाया, लेकिन आपको ये फैक्ट भी जानना चाहिए

कृषि विधेयकों को लेकर देशभर में बवाल मचा हुआ है.

सुशांत केस में घिरी एजेंसी से सलमान खान का नाम जुड़ा तो उनके वकील ने दिया ये जवाब

KWAN के एक मालिक पर कंगना ने रेप का आरोप लगाया है