Submit your post

Follow Us

शायर मंज़र भोपाली को बिजली वालों ने थमाया 36 लाख से भी ज्यादा का बिल

एमपी अजब है, सबसे गजब है

यह मशहूर पंक्ति मध्य प्रदेश सरकार के पर्यटन विभाग की है लेकिन हाल के दिनों में इसका इस्तेमाल प्रदेश में हुई गड़बड़ियों के संबंध में भी लोग करने लगे हैं. माने जिस पंक्ति का इस्तेमाल सरकार अपने प्रचार के लिए कर रही थी, अब उसी का इस्तेमाल कर सरकार को घेरा जाता है. खैर ताज़ा मामला एमपी के बिजली विभाग से जुड़ा है.

सैय्यद अली रज़ा उर्फ़ मंज़र भोपाली उर्दू के नामी शायर हैं. देश भर में कार्यक्रम करते हैं. कई सम्मानों से नवाज़े जा चुके हैं. इन्होंने सोशल मीडिया पर एक शिकायत की है. मंजर को मई महीने के लिए 36,86,660 रुपये का बिजली बिल आया है जो कि बहुत अजीब है. किसी सामान्य घर में इतना बिल कभी नहीं आ सकता है. मामले को लेकर मंजर ने फेसबुक पर लिखा-

एमपी गज़ब है, सब से अजब है. इस नारे की सच्चाई ये ₹ 36,86,660 का मेरे घर का एक महीने (मई) का इलैक्ट्रिक बिल दर्शाता है. माननीय मुख्यमंत्री इस तरह का मज़ाक कोरोना काल में एक शायर के लिए ठीक नहीं है. लॉकडाउन और कोविड की वजह से शायर के कलम की स्याही तक सूख चुकी है, ऐसे में ये 36 लाख रुपये कहां से भरे जाएं? ये बिल रिश्वत खोरी और भ्रष्टाचारी का खुला दावत नामा है.

मंज़र ने ट्विटर पर भी अपनी शिकायत दर्ज की है और कहा है-

मध्य प्रदेश गज़ब है
बात कुछ अजब है
में तो ये ही कहूंगा
तुम जियो हज़ारों साल
की जनता हो जाए कंगाल

कंपनी ने मानी गलती

आज तक ने मंजर भोपाली के हवाले से बताया है कि उन्होंने मध्य प्रदेश मध्य क्षेत्र विद्युत कंपनी से बिल मिलने के बाद संपर्क किया और कंपनी ने उन्हें आश्वासन दिया है कि तकनीकी गड़बड़ी के चलते ऐसा हुआ होगा, जिसे जल्द दुरुस्त कर लिया जाएगा.

आजतक से बात करते हुए मंजर भोपाली ने बताया कि 6 जून की शाम को उन्हें यह बिल मिला जिसके बाद उन्होंने सोशल मीडिया पर लिखा. मंजर के मुताबिक, गर्मियों में उनका बिल औसतन 7 या 8 हजार तक ही आता है और मई के महीने में उन्होंने 1,110 यूनिट बिजली इस्तेमाल की है, जिसके लिहाज से उनका बिजली बिल 8 या 9 हजार रुपये आता. लेकिन अबकी 36,86,660 रुपये का बिल थमा दिया गया है. मंजर ने आगे बताया कि वो खुद कोरोना वायरस से पीड़ित रहे हैं और अभी उससे रिकवर हो रहे हैं. ऐसे में वो इतना बड़ा बिल देखकर घबरा गए.


विडियो- कोरोना काल में मध्य प्रदेश के 3500 जूनियर डॉक्टर इस्तीफा देकर हड़ताल पर क्यों चले गए?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

दक्षिण में बीजेपी की मुश्किलें बढ़ीं, कर्नाटक और केरल में टॉप नेता सवालों में क्यों हैं?

दक्षिण में बीजेपी की मुश्किलें बढ़ीं, कर्नाटक और केरल में टॉप नेता सवालों में क्यों हैं?

मामला इतना बढ़ गया कि बीजेपी के केंद्रीय नेतृत्व को दखल देना पड़ा है.

आसिफ को भीड़ ने पीटकर मार डाला तो आरोपियों की रिहाई के लिए महापंचायतें क्यों हो रही हैं?

आसिफ को भीड़ ने पीटकर मार डाला तो आरोपियों की रिहाई के लिए महापंचायतें क्यों हो रही हैं?

करणी सेना के नेता धमकी दे रहे- जो भी हमें रोकेंगे, उन्हें ठोक देंगे.

तमिल नेता ने अमेज़न से कहा 'फैमिली मैन 2' को बंद करो, वरना...

तमिल नेता ने अमेज़न से कहा 'फैमिली मैन 2' को बंद करो, वरना...

अमेज़न प्राइम वीडियो की हेड को लेटर लिख दी है खुली चेतावनी.

सुवेंदु अधिकारी और उनके भाई के खिलाफ राहत सामग्री चोरी करने के आरोप में FIR

सुवेंदु अधिकारी और उनके भाई के खिलाफ राहत सामग्री चोरी करने के आरोप में FIR

वेस्ट बंगाल पुलिस ने इस मामले में जांच शुरू कर दी है.

अलीगढ़ शराबकांड का मुख्य आरोपी और एक लाख का इनामी ऋषि शर्मा गिरफ्तार

अलीगढ़ शराबकांड का मुख्य आरोपी और एक लाख का इनामी ऋषि शर्मा गिरफ्तार

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, जहरीली शराब से अब तक 108 लोगों की मौत हो चुकी है.

ट्विटर ने उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू के अकाउंट से ब्लू टिक हटाया, कुछ ही घंटे में रिस्टोर किया

ट्विटर ने उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू के अकाउंट से ब्लू टिक हटाया, कुछ ही घंटे में रिस्टोर किया

पर्सनल अकाउंट से हटा था ब्लू टिक, ट्विटर ने वजह बताई.

यूपीः भाजपा नेताओं ने हिस्ट्रीशीटर को पुलिस की गिरफ्त से छुड़ाकर भगा दिया, पुलिस अब तक तलाश रही है

यूपीः भाजपा नेताओं ने हिस्ट्रीशीटर को पुलिस की गिरफ्त से छुड़ाकर भगा दिया, पुलिस अब तक तलाश रही है

कानपुर की घटना, पुलिस ने शुरुआती FIR में बीजेपी नेताओं का नाम ही नहीं लिखा.

राजस्थान में क्या सचमुच कोरोना वैक्सीन की जमकर बर्बादी हो रही है?

राजस्थान में क्या सचमुच कोरोना वैक्सीन की जमकर बर्बादी हो रही है?

अशोक गहलोत सरकार का इनकार, लेकिन आंकड़े कुछ और ही बता रहे.

रिटायर्ड जस्टिस अरुण मिश्रा को मोदी सरकार ने NHRC चेयरमैन बनाया तो बवाल क्यों हो रहा है?

रिटायर्ड जस्टिस अरुण मिश्रा को मोदी सरकार ने NHRC चेयरमैन बनाया तो बवाल क्यों हो रहा है?

लोग जस्टिस अरुण मिश्रा को इस पद के लिए चुने जाने का बस एक ही कारण गिना रहे हैं.

क्या कोरोना के कारण अनाथ हुए बच्चों को लेकर मोदी सरकार झूठ बोल रही है?

क्या कोरोना के कारण अनाथ हुए बच्चों को लेकर मोदी सरकार झूठ बोल रही है?

अलग-अलग आंकड़े क्या कहानी बताते हैं?