Submit your post

Follow Us

यौन शोषण का आरोपी कुछ दिन पहले जेल से छूटा था, लोगों ने पेड़ से बांधकर ज़िंदा जला दिया

उत्तर प्रदेश का प्रतापगढ़ ज़िला. यहां एक गांव में आम के बगीचों में 1 जून (सोमवार) की शाम एक अधजली लाश मिली. इसी बीच किसी ने पुलिस को जानकारी दे दी. पुलिस जब तक वहां पहुंची, गांव वालों का जमावड़ा हो गया था. गुस्साए लोगों ने पुलिस पर चिल्लाना शुरू कर दिया. उनकी दो जीप समेत तीन वाहनों को आग लगा दी और पथराव भी कर दिया. करीब चार पुलिसवाले इसमें घायल हो गए. लोगों की भीड़ पुलिस को गांव के अंदर नहीं घुसने दे रही थी. करीब तीन घंटे तक ये सब चलता रहा.

क्या है मामला?

‘आज तक’ से जुड़े सुनील यादव ने जानकारी दी कि मृतक आदमी (काल्पनिक नाम जीतू) 1 मई तक जेल में बंद था. कोरोना की वजह से उसे ज़मानत पर छोड़ा गया था. गांव की ही एक लड़की को पसंद करता था. उससे शादी करना चाहता था. इसे लेकर दोनों के परिवारों के बीच कई बार झगड़ा भी हुआ था. दोनों परिवार शादी के खिलाफ थे. फिर लड़की की यूपी पुलिस में कॉन्स्टेबल के तौर पर नौकरी लग गई. वो कानपुर चली गई. जीतू को दूरी नामंजूर थी. उसने गुस्से में आकर अपनी और लड़की की साथ में खिची हुई एक तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल कर दी. जिसके बाद लड़की के घरवालों ने जीतू के खिलाफ उत्पीड़न का केस दर्ज करवाया. कुछ महीनों पहले जीतू की गिरफ्तारी हो गई. IPC की धारा 354 (महिला का यौन शोषण) के तहत उसे गिरफ्तार किया गया था.

ज़मानत पर छूटने के एक महीने बाद ही जीतू के साथ ये घटना हो गई. मौके पर पुलिस के आईजी और एडीजी भी पहुंचे. प्रतापगढ़ एसपी (सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस) अभिषेक सिंह का कहना है कि लड़की के घरवालों के ऊपर जीतू की हत्या का आरोप लगा है. पुलिस ने उनके खिलाफ केस दर्ज कर लिया है और छानबीन शुरू कर दी है. वहीं पथराव और हंगामा करने के आरोप में भी पुलिस ने दर्जनों लोगों को हिरासत में लिया है. वही गांव में हत्या के बाद तनाव पसरा हुआ है, इसे देखते हुए एहतियात के तौर पर कुछ पुलिसवालों की तैनाती की गई है.


वीडियो देखें: संभल: सड़क को लेकर विवाद हुआ, तो SP के दलित नेता और उनके बेटे की गोली मारकर हत्या कर दी

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

1 जून से लॉकडाउन को लेकर क्या नियम हैं? जानिए इससे जुड़े सवालों के जवाब

सरकार ने कहा कि यह 'अनलॉक' करने का पहला कदम है.

3740 श्रमिक ट्रेनों में से 40 प्रतिशत ट्रेनें लेट रहीं, रेलवे ने बताई वजह

औसतन एक श्रमिक ट्रेन 8 घंटे लेट हुई.

कंटेनमेंट ज़ोन में लॉकडाउन 30 जून तक बढ़ाया गया, बाकी इलाकों में छूट की गाइडलाइंस जानें

गृह मंत्रालय ने कंटेनमेंट ज़ोन के बाहर चरणबद्ध छूट को लेकर गाइडलाइंस जारी की हैं.

मशहूर एस्ट्रोलॉजर बेजान दारूवाला नहीं रहे, कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी

बेटे ने कहा- निमोनिया और ऑक्सीजन की कमी से हुई मौत.

लॉकडाउन-5 को लेकर किस तरह के प्रपोज़ल सामने आ रहे हैं?

कई मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि 31 मई के बाद लॉकडाउन बढ़ सकता है.

क्या जम्मू-कश्मीर में फिर से पुलवामा जैसा अटैक करने की तैयारी में थे आतंकी?

सिक्योरिटी फोर्स ने कैसे एक्शन लिया? कितना विस्फोटक मिला?

लद्दाख में भारत और चीन के बीच डोकलाम जैसे हालात हैं?

18 दिनों से भारत और चीन की फौज़ आमने-सामने हैं.

शादी और त्योहार से जुड़ी झारखंड की 5000 साल पुरानी इस चित्रकला को बड़ी पहचान मिली है

जानिए क्या खास है इस कला में.

जिस मंदिर के पास हजारों करोड़ रुपये हैं, उसके 50 प्रॉपर्टी बेचने के फैसले पर हंगामा क्यों हो गया

साल 2019 में इस मंदिर के 12 हजार करोड़ रुपये बैंकों में जमा थे.

पुलवामा हमले के लिए विस्फोटक कहां से और कैसे लाए गए, नई जानकारी सामने आई

पुलवामा हमला 14 फरवरी, 2019 को हुआ था.