Submit your post

Follow Us

विकास दुबे का एनकाउंटर जहां पर हुआ था, वहीं पलटी 6 हत्यारोपियों की गाड़ी, फिर...

विकास दुबे तो याद होगा न? वही कानपुर के बिकरू वाला गैंगस्टर. पिछले साल जुलाई में बिकरू गांव में छापा मारने गई पुलिस पर विकास दुबे और उसके गुर्गों ने हमला बोल दिया था. एक डीएसपी और एसओ समेत 8 पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी थी. इसके बाद गिरफ्तार विकास दुबे को यूपी पुलिस पकड़कर ला रही थी, तभी रास्ते में उसकी गाड़ी पलट गई. पुलिस एनकाउंटर में विकास दुबे मारा गया. कानपुर में जिस जगह पर विकास दुबे की गाड़ी पलटी थी, उसी जगह पर अब एक और गाड़ी पलटी है. इस गाड़ी में हत्या के 6 आरोपी सवार थे. लेकिन इस बार पुलिस को गोलियां चलाने की जरूरत नहीं पड़ी. सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया.

मामूली विवाद में हत्या

घटना 17-18 अक्टूबर के दरम्यानी रात की है. पुलिस की ओर से आजतक को दी गई जानकारी के मुताबिक़, शनिवार 16 अक्टूबर की रात कानपुर में आशीष नाम के एक युवक की मामूली विवाद में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. आरोप फजलगंज के रहने वाले प्रांशु, आशु और उनके साथियों पर लगा. पुलिस का कहना है कि प्रांशु और आशीष में गाली-गलौच हुई थी. इससे प्रांशु काफ़ी नाराज़ था. इसी नाराज़गी में प्रांशु अपने साथियों के साथ पहुंचा. आशीष को घर से बुलाया. फिर उसे गोली मार दी.

Up Kanpur Panshu Accused
मुख्य आरोपी प्रांशु. (फ़ोटो-आजतक)

पुलिस को देख पलट गई गाड़ी!

पुलिस ने घटना के सीसीटीवी फ़ुटेज निकाली और उसकी मदद से आरोपियों की पहचान कर ली. पुलिस ने सर्विलांस लगा दी. पुलिस ने आगे बताया कि आशीष को गोली मारने के बाद प्रांशु और उसके साथी एक इनोवा कार से दिल्ली की ओर भाग निकले. पुलिस ने पीछा किया. कानपुर के बारा टोल प्लाजा से पहले पुलिस और आरोपियों का आमना सामना हुआ. पुलिस का दावा है कि आरोपियों ने पुलिस को सामने देखकर गाड़ी भगाने की कोशिश की. उसी दौरान उनकी गाड़ी पलट गई.

कानपुर के अपर पुलिस अधीक्षक आकाश कुलहरी ने आजतक को बताया कि गाड़ी में कुल 6 आरोपी थे. गाड़ी पलटने के बाद पुलिस ने 4 आरोपियों को गाड़ी से ही गिरफ़्तार कर लिया. वहीं दो आरोपी निकलकर भाग गए. लेकिन ज़्यादा दूर नहीं भाग पाए. कुछ ही आगे जाकर पुलिस टीम ने दोनों को भी पकड़ लिया.

मुख्य आरोपी प्रांशु ने अपनी गिरफ़्तारी के बाद आजतक से बात करते हुए आशीष की हत्या की वजह बताई. उसने कहा कि आशीष ने माँ-बहन की गाली दी थी. इसे लेकर उसकी और आशीष के बीच हाथापाई हुई. इसी दौरान आशीष को गोली लग गई. उसने जानबूझकर नहीं मारी थी.

विकास दुबे की गाड़ी भी यहीं पलटी थी

बताते चलें कि इस घटना में सबसे गौर करने वाली बात है वो जगह, जहां इन आरोपियों की गाड़ी पलटी. 10 जुलाई 2020 को गैंगस्टर विकास दुबे की गाड़ी भी बारा टोल प्लाजा के पास ही पलटी थी. विकास दुबे को यूपी STF उज्जैन से गिरफ़्तार करके ला रही थी. पुलिस ने दावा किया था कि गाड़ी पलटने के बाद विकास दुबे ने एक पुलिसकर्मी से पिस्तौल छीन ली और भागने की कोशिश की. भागते हुए उसने गोली चलाई. पुलिस ने जवाबी कार्रवाई की जिसमें वह मारा गया. पुलिस ने कहा था कि इस घटना में चार सिपाही भी घायल हुए थे.

इसके पहले विकास दुबे के साथी प्रभात मिश्रा के बारे में भी 9 जुलाई 2020 को ऐसी ही ख़बर आई थी. प्रभात को फ़रीदाबाद से कानपुर ट्रांज़िट रिमांड पर लाया जा रहा था. STF की गाड़ी पंक्चर हुई. प्रभात मिश्रा STF की पिस्टल छीनकर भागने की कोशिश करने लगा. क्रॉस फ़ायरिंग हुई. प्रभात मिश्रा मारा गया.

बता दें कि विकास दुबे की गाड़ी पलटने का मामला अदालत तक भी पहुंचा था. पुलिस पर जानबूझकर मारने का आरोप लगा था. लेकिन अदालत ने सबूतों के अभाव में यूपी पुलिस को क्लीनचिट दे दी थी.


वीडियो- कौन है विकास दुबे जिसने कानपुर में यूपी पुलिस के जवानों पर गोलियां चलवाई?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

लगातार दूसरे दिन आतंकियों ने गैर कश्मीरी मजदूरों को बनाया निशाना, 2 की मौत, 1 घायल

पुलिस और सुरक्षा बलों ने इलाके को घेरा.

केरल में भारी बारिश से तबाही, 25 से ज़्यादा मौतें, कई लापता

पीएम मोदी ने केरल के मुख्यमंत्री से की बात.

श्रीनगर में बिहार के रेहड़ीवाले और पुलवामा में यूपी के मजदूर की गोली मारकर हत्या

कश्मीर ज़ोन पुलिस ने बताया घटनास्थलों को खाली कराया गया. तलाशी जारी.

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

राकेश टिकैत ने भी मीडिया से बात की है.

बांग्लादेश: दुर्गा पूजा पंडाल को कट्टरपंथियों ने तहस-नहस किया, मूर्तियां तोड़ीं, 3 लोगों की मौत

कुरान को लेकर अफवाह उड़ी और बांग्लादेश के कई हिस्सों में सांप्रदायिक तनाव फैल गया.

आर्यन खान को अब भी नहीं मिली बेल, 20 तारीख तक जेल में ही रहना होगा

जज ने दोनों पक्षों की दलीलें तो सुनी लेकिन अपना फैसला रिज़र्व रख दिया.

पुंछ मुठभेड़ से कुछ देर पहले भाई से बचपन की बातें कर हंस रहे थे शहीद मंदीप सिंह!

किसी ने लोन लेकर परिवार को नया घर दिया था तो कोई दिवंगत पिता के शोक में जाने वाला था.

दिल्ली में संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकी गिरफ्तार, पूछताछ में डराने वाली जानकारी दी

पुलिस ने संदिग्ध आतंकी के पास से एके-47, हैंड ग्रेनेड और कई कारतूस मिलने का दावा किया है.

Urban Company की महिला 'पार्टनर्स' ने इसके खिलाफ मोर्चा क्यों खोल दिया है?

ये महिलाएं अर्बन कंपनी के लिए ब्यूटिशियन या स्पा वर्कर का काम करती हैं.

लखीमपुर केस में आशीष मिश्रा 12 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार

जांच में सहयोग नहीं करने का आरोप.