Submit your post

Follow Us

यूपी: असिस्टेंट CMO और 16 हेल्थ सेंटरों के इंचार्ज ने इस्तीफा देकर DM पर क्या गंभीर आरोप लगाए?

उत्तर प्रदेश का गोंडा जिला. यहां स्वास्थ्य विभाग में बड़ी संख्या में इस्तीफे हुए हैं. अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी (ACMO) डॉ. अजय प्रताप सिंह ने डीएम मार्कण्डेय शाही पर अभद्र भाषा इस्तेमाल करने का आरोप लगाते हुए इस्तीफा दे दिया. इसके बाद सभी 16 CHC (कम्युनिटी हेल्थ सेंटर) अधीक्षकों ने भी सामूहिक इस्तीफा दे दिया.

डीएम की मीटिंग में हुआ बवाल?

आजतक के अंचल श्रीवास्तव की रिपोर्ट के मुताबिक, जिलाधिकारी मार्कण्डेय शाही ने 6 जुलाई को कोविड को लेकर मीटिंग बुलाई थी. गोंडा के ACMO डॉ. एपी सिंह इसमें शामिल हुए. आरोप है कि जिलाधिकारी ने ACMO के लिए अशोभनीय भाषा का इस्तेमाल किया. इससे आहत होकर ACMO ने CMO को अपना त्यागपत्र सौंप दिया. इस घटना के बाद गोंडा प्रांतीय चिकित्सा सेवा संघ ने रात में ही एक मीटिंग की. और जिलाधिकारी के व्यवहार से दुखी अपने सीनियर अधिकारी के पक्ष में सभी CHC अधीक्षकों ने इस्तीफा दे दिया.

पीएमएस संघ गोंडा के अध्यक्ष डॉ. टीपी जायसवाल ने बताया,

एडिशनल CMO डॉक्टर अजय प्रताप सिंह काफी वरिष्ठ डॉक्टर हैं. लगभग 22 वर्षों से वह प्रांतीय चिकित्सा सेवा संघ में कार्य कर रहे हैं. जैसा उनसे पता चला कि कोविड को लेकर बैठक में 6 जुलाई की शाम को जिलाधिकारी महोदय द्वारा उनके साथ अभद्र भाषा का उपयोग किया गया. निकम्मा और कामचोर जैसे शब्दों का प्रयोग किया गया. कहा गया कि क्यों ना आपको बेलसर का अधीक्षक बना दिया जाए, क्योंकि बेलसर की कुछ रिपोर्ट की बात चल रही थी.

उन्होंने आगे कहा,

एक वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी के लिए इस तरह की भाषा का प्रयोग करने का संघ विरोध करता है. मौजूदा जिलाधिकारी की कार्यशैली के बारे में पांच-छह महीनों में संघ को कई बार सूचनाएं प्राप्त हुई हैं. उनके दुर्व्यवहार के बारे में अधीक्षकों और डॉक्टरों ने संघ तक अपनी बातें पहुंचाई हैं. कोविड महामारी को देखते हुए हम लोग कार्य करते रहे. लेकिन ये अच्छा व्यवहार नहीं है. उसी के पक्ष में डॉक्टरों ने सामूहिक रूप से सीएमओ को इस्तीफा सौंपा है. इनमें 16 अधीक्षक और कुछ अन्य डॉक्टर भी हैं.

इस्तीफे में क्या लिखा है?

इस इस्तीफे पर 17 डॉक्टरों के साइन हैं. इस्तीफे की कॉपी यूपी के स्वास्थ्य मंत्री, यूपी के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाएं महानिदेशक, अपर मुख्य सचिव, प्रांतीय चिकित्सा संघ के अध्यक्ष, अपर निदेशक और गोंडा के जिला अधिकारी को भी भेजा गई है. लेटर में अधीक्षकों ने डीएम पर समीक्षा बैठकों में अमर्यादित भाषा प्रयोग करने का आरोप लगाया है. डॉक्टरों का आरोप है कि जिलाधिकारी समीक्षा बैठकों में हमारे लिए असंसदीय और अमर्यादित भाषा का इस्तेमाल करते हैं. जमूरा, निकम्मा और कामचोर जैसे शब्दों का प्रयोग कर चुके हैं. हम इस परेशानी से काफी समय से गुजर रहे हैं. लेकिन कोविड महामारी और टीकाकरण को देखते हुए मरीजों को निर्बाध रूप से सेवाएं दे रहे थे. लेकिन अब और नहीं.

Letter
डॉक्टरों की ओर से दिया गया इस्तीफा.

अधीक्षकों का कहना है कि कोरोना योद्धा के तौर पर सम्मानित करने की बजाय जिलाधिकारी का ऐसा बर्ताव उन शहीद हुए डॉक्टरों का भी अपमान है, जिन्होंने महामारी से लड़ते हुए प्राणों की आहुति दी.

गोंडा के CMO डॉक्टर राधे श्याम केसरी का कहना है,

जनपद के सारे चिकित्सा अधीक्षकों ने शिकायत करते हुए इस्तीफे का लेटर लिखा है. डीएम के साथ मीटिंग के दौरान कुछ बातें हुईं. इसी से आहत होकर ACMO ने त्यागपत्र सौंपा. उसके बाद डॉक्टरों का त्यागपत्र आया है.

डीएम का क्या कहना है?

इस प्रकरण पर डीएम मार्कडेण्य शाही ने भी अपना जवाब दिया और इसे ध्यान भटकाने की कोशिश बताया. दैनिक जागरण की खबर के मुताबिक, डीएम ने कहा कि जिले में पटरी से उतर चुकी स्वास्थ्य सेवाओं को सुधारने की जद्दोजहद, और विगत वर्षों में करोड़ों की अनियमितताओं के दोषी कर्मचारियों के खिलाफ की जा रही कार्रवाई से ध्यान भटकाने के लिए ये सब हो रहा है. विभाग के कुछ लोगों द्वारा जिला प्रशासन पर दबाव बनाने का प्रयास किया जा रहा है. उच्चाधिकारियों को भी पूरे मामले से अवगत करा दिया गया है.

इस मामले में दी लल्लनटॉप ने खुद डीएम मार्कण्डेय शाही का पक्ष जानने के लिए उन्हें फोन किया. फोन उनके प्रतिनिधि ने उठाया. बताया कि डीएम भ्रमण पर निकले हैं. हमने उनसे इस्तीफों और डीएम पर लग रहे आरोपों के बारे में डीएम का पक्ष जानना चाहा, तो उन्होंने पहले तो कहा कि बताते हैं, उसके बाद फोन काट दिया. उनका पक्ष मिलने पर हम आपको जरूर बताएंगे.


गोंडा कोविड हॉस्पिटल ने चार प्रेग्नेंट नर्सों को बिना नोटिस दिए नौकरी से क्यों निकाल दिया?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

कांवड़ यात्रा को उत्तराखंड की 'ना' लेकिन यूपी की 'हां', आखिर होगा क्या?

कांवड़ यात्रा को उत्तराखंड की 'ना' लेकिन यूपी की 'हां', आखिर होगा क्या?

कोरोना संकट के चलते पिछले साल कांवड़ यात्रा पर ब्रेक लग गया था.

मोदी कैबिनेट फेरबदल: शपथ लेने वाले 43 मंत्रियों के बारे में जानिए

मोदी कैबिनेट फेरबदल: शपथ लेने वाले 43 मंत्रियों के बारे में जानिए

15 कैबिनेट मंत्रियों ने ली शपथ.

कैबिनेट विस्तार से पहले टीम मोदी के 2 कद्दावर मंत्रियों ने भी इस्तीफा दे दिया है

कैबिनेट विस्तार से पहले टीम मोदी के 2 कद्दावर मंत्रियों ने भी इस्तीफा दे दिया है

राष्ट्रपति ने 12 मंत्रियों के इस्तीफे मंजूर कर लिए हैं.

दलितों के घर ढहाने और महिलाओं से छेड़खानी के आरोपों पर क्या बोली आजमगढ़ पुलिस?

दलितों के घर ढहाने और महिलाओं से छेड़खानी के आरोपों पर क्या बोली आजमगढ़ पुलिस?

भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर ने इसे 'पुलिस की गुंडागर्दी' करार दिया है.

मुस्लिम औरतों की बोली लगाने वाली वेबसाइट की लिंक शेयर कर घिरा राइट विंग 'पत्रकार'

मुस्लिम औरतों की बोली लगाने वाली वेबसाइट की लिंक शेयर कर घिरा राइट विंग 'पत्रकार'

बवाल हुआ तो शिकायत करने वाली औरतों को ही कोसने लगे.

नेमावर हत्याकांड: आरोपी सुरेंद्र चौहान की प्रॉपर्टी पर चली जेसीबी, CBI जांच की मांग उठी

नेमावर हत्याकांड: आरोपी सुरेंद्र चौहान की प्रॉपर्टी पर चली जेसीबी, CBI जांच की मांग उठी

कांग्रेस का आरोप है कि भाजपा नेता होने के चलते सुरेंद्र चौहान को इस मामले में संरक्षण मिला.

जम्मू एयरफोर्स स्टेशन पर धमाका, DGP दिलबाग सिंह बोले-ड्रोन से हुआ हमला

जम्मू एयरफोर्स स्टेशन पर धमाका, DGP दिलबाग सिंह बोले-ड्रोन से हुआ हमला

दो संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है.

आंदोलन के सात महीने पूरे, किसानों ने देशभर में राज्यपालों को सौंपे ज्ञापन,कुछ जगहों पर झड़प

आंदोलन के सात महीने पूरे, किसानों ने देशभर में राज्यपालों को सौंपे ज्ञापन,कुछ जगहों पर झड़प

चंडीगढ़ और पंचकुला में बवाल.

कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ही नहीं, शशि थरूर का अकाउंट भी लॉक कर दिया था ट्विटर ने

कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ही नहीं, शशि थरूर का अकाउंट भी लॉक कर दिया था ट्विटर ने

ट्विटर ने क्या वजह बताई?

एक्ट्रेस पायल रोहतगी को अहमदाबाद पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया

एक्ट्रेस पायल रोहतगी को अहमदाबाद पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया

मामला एक वायरल वीडियो से जुड़ा है.