Submit your post

Follow Us

यूपी: बीजेपी विधायक इंद्र प्रताप तिवारी पर पत्रकार ने पिटाई करवाने का आरोप लगाया

अयोध्या में एक पत्रकार पाटेश्वरी सिंह की 30 जून को कुछ लोगों ने पिटाई कर दी. उसका आरोप है कि इस पिटाई के पीछे विधायक इंद्र प्रताप तिवारी उर्फ खब्बू तिवारी का हाथ है. पत्रकार ने यह आरोप भी लगाया कि विधायक अपने खिलाफ खबर छपने से नाराज थे, इसलिए उन्होंने उसे मारने के लिए लोगों को भेज दिया. पिटाई की वजह से पाटेश्वरी सिंह के सिर पर चोट आई और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया. पुलिस ने इस मामले में अनजान लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है.

क्या है पूरा मामला?

पाटेश्वरी सिंह का कहना है कि वह ‘भारत कनक’ अखबार के ब्यूरो चीफ और ‘जन संदेश टाइम्स’ के नगर संवाददाता हैं. सोशल मीडिया पर पाटेश्वरी सिंह का एक वीडियो वायरल है. इसमें उनके सिर से खून निकलता दिख रहा है. आपबीती बताते हुए पाटेश्वरी दावा कर रहे हैं कि उत्तर प्रदेश की सत्ताधारी पार्टी बीजेपी के कुछ नेताओं के खिलाफ खबर लिखने की वजह से उन्हें निशाना बनाया गया है. वीडियो में वह कह रहे हैं

“जब मैं घर जा रहा था तभी रास्ते में काली सफारी गाड़ी ने मुझे टक्कर मार दी. जैसे ही मैं मोटरसाइकल से नीचे गिरा करीब चार-पांच लोगों ने मुझ पर हमला कर दिया. वे कह रहे थे कि और विकास सिंह देवगढ़ और इंद्र प्रताप तिवारी उर्फ खब्बू तिवारी के ऊपर खबर निकालो, हम तुम्हें जिंदा नहीं छोड़ेंगे. उन्होंने हमारा मोबाइल भी निकाल लिया. जब कालोनी वाले दौड़े तो वे वहां से भाग गए. इन लोगों के खिलाफ अखबार में खबर छापी थी. जिस पर इन लोगों ने मेरे खिलाफ फर्जी केस भी दर्ज कराया है और अब उसी का बदला लेने के लिए मुझ पर हमला किया गया है.”

पुलिस का क्या कहना है?

इस घटना पर अयोध्या के एसपी विजय पाल सिंह ने कहा है,

“पत्रकार से साथ मारपीट मामले में हमने केस दर्ज कर लिया है. अभी पत्रकार का इलाज चल रहा है. गाड़ी और आरोपियों की तलाश जारी है, लोगों से पूछताछ और सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पुलिस जांच कर रही है.”

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक, पुलिस ने जो एफआईआर दर्ज की है उसमें किसी का नाम नहीं है. इंडियन एक्सप्रेस अखबार ने कोतवाली एसएचओ नीतेश कुमार के हवाले से इस बात की पुष्टि की है. अखबार के मुताबिक, जब एसएचओ से पूछा गया कि पीड़ित तो साफ तौर पर उन लोगों के नाम ले रहा है जिन्होंने कथित तौर पर खबर लिखने की वजह से उस पर हमला करवाया तो इस पर एसएचओ ने कहा, ‘अगर पत्रकार सीधे तौर पर हमले में शामिल होने वालों का नाम लेते तो हम नामजद एफआईआर करते.’

बता दें कि जिन इंद्र प्रताप तिवारी उर्फ खब्बू तिवारी पर आरोप लग रहे हैं वो गोसाईंगंज सीट से बीजेपी विधायक हैं. इसके अलावा विकास सिंह देवगढ़ भी बीजेपी के सीनियर नेता है. ये भी बता दें कि कुछ दिन पहले यूपी के प्रतापगढ़ में एक पत्रकार की संदिग्ध हालात में मौत हो गई थी. इस मामले में शराब माफिया पर सवाल उठे थे. हालांकि यूपी पुलिस ने इसे एक्सिडेंट की घटना बताया था.


वीडियो – अयोध्या एयरपोर्ट की जमीन के अधिग्रहण वाली याचिका पर कोर्ट ने जिला प्रशासन से जवाब मांगा

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

जम्मू एयरफोर्स स्टेशन पर धमाका, DGP दिलबाग सिंह बोले-ड्रोन से हुआ हमला

दो संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है.

आंदोलन के सात महीने पूरे, किसानों ने देशभर में राज्यपालों को सौंपे ज्ञापन,कुछ जगहों पर झड़प

चंडीगढ़ और पंचकुला में बवाल.

कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ही नहीं, शशि थरूर का अकाउंट भी लॉक कर दिया था ट्विटर ने

ट्विटर ने क्या वजह बताई?

एक्ट्रेस पायल रोहतगी को अहमदाबाद पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया

मामला एक वायरल वीडियो से जुड़ा है.

CBSE और ICSE की परीक्षाएं रद्द करने के खिलाफ याचिकाओं को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज किया

नंबर देने के फॉर्मूले से सुप्रीम कोर्ट भी सहमत.

LJP में कलह की वजह बताए जा रहे सौरभ पांडेय के बारे में रामविलास पासवान ने चिट्ठी में क्या लिखा था?

चिराग को राजनीति में आने की सलाह किसने दी थी?

सरकार फिल्मों के सर्टिफिकेशन में क्या बदलाव करने जा रही, जो फ़िल्ममेकर्स की आज़ादी छीन सकता है?

कुछ वक़्त से लगातार हो रहे हैं फ़ेरबदल.

यूनिवर्सिटी-कॉलेजों में लग रहे 'थैंक्यू मोदी' के बैनर पर बवाल क्यों हो रहा है?

क्या यूनिवर्सिटीज़ और कॉलेजों को सरकारी प्रचार के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है?

ये किन दो नेताओं को चुनाव से ठीक पहले योगी आदित्यनाथ ने बड़ा काम दे दिया है?

कौन हैं रामबाबू हरित और जसवंत सैनी?

अयोध्याः 20 लाख की जमीन मेयर के भतीजे ने ट्रस्ट को 2.5 करोड़ में बेची, महंत ने उठाए सवाल

ट्रस्ट द्वारा खरीदी जा रही जमीनों के दो और सौदे विवादों के घेरे में.