Submit your post

Follow Us

अनशन पर बैठे सपा के पूर्व विधायक को अस्पताल के बेड से क्यों बांध दिया गया?

राकेश प्रताप सिंह. अमेठी के गौरीगंज से सपा के विधायक, जिन्होंने हाल ही में अपने पद से इस्तीफा दे दिया था. इस्तीफे के साथ ही अनिश्चितकालीन अनशन पर बैठने का ऐलान किया था. राकेश प्रताप सिंह दो सड़कों का पुनर्निर्माण कराए जाने की मांग को लेकर 31 अक्टूबर से धरना दे रहे थे.  इसी क्रम में राकेश प्रताप सिंह 3 नवंबर से आमरण अनशन पर थे.

5 नवंबर को जब लखनऊ में गांधी प्रतिमा के सामने अनशन पर थे तभी मेडिकल टीम पहुंची. मेडिकल टीम ने कहा कि हेल्थ को ध्यान में रखते हुए उन्हें जल्द अनशन तोड़ देना चाहिए. लेकिन पूर्व विधायक नहीं माने.  मेडिकल टीम की सलाह के बावजूद राकेश प्रताप सिंह आमरण अनशन खत्म करने को तैयार नहीं थे. बाद में पुलिस प्रशासन ने राकेश को एम्बुलेंस के जरिए सिविल अस्पताल भिजवा दिया.

राकेश प्रताप सिंह का कहना है कि पुलिस प्रशासन ने जबरन उन्हें अस्पताल पहुंचाया. इस बारे में उन्होंने ट्वीट किया,

मैं अपने अनशन के पहले दिन से लोकतांत्रिक तरीक़े से अनशन पर था, ना मेरी ओर से ना मेरे समर्थकों की ओर से कोई ऐसा कृत किया गया जिससे सामाजिक संतुलन बिगड़े. शासन व प्रशासन द्वारा मुझे जबरन सिविल अस्पताल लाया गया और मेरे दोनों हाथ बांधकर जबरन ड्रिप लगाई गई. क्या अपनी जनता के लिए आवाज़ उठाना गुनाह है ? क्या हमारे लोकतंत्र में जनहित के लिए कोई जगह नहीं है ? मैं पूछता हूं इस सरकार से.

रविवार, 31 अक्टूबर को उन्होंने विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित को इस्तीफा सौंप दिया था. उन्होंने अपने इस्तीफे में लिखा था कि वह अपने क्षेत्र के लोगों की समस्याएं दूर नहीं कर पा रहे हैं. ऐसे में उनके विधायक बने रहने का कोई मतलब नहीं है. अपने इस्तीफे में उन्होंने लिखा है,

प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत बनी दो सड़कें कादू नाला से थौरी मार्ग और मुसाफिरखाना से पारा मार्ग पूरी तरह ध्वस्त हो चुकी हैं. पिछले तीन साल से इन दोनों सड़कों के पुनर्निर्माण की मांग का मुद्दा विधानसभा में उठा रहा हूं. इसी साल फरवरी में इन सड़कों के पुनर्निर्माण का काम तीन महीने में पूरा होने का भरोसा दिया गया था. 2 अक्टूबर को मैंने अमेठी के कलेक्टर को ज्ञापन दिया था और बताया था कि अगर 31 अक्टूबर तक सड़क के पुनर्निर्माण का काम शुरू नहीं होता है तो इस्तीफा दे दूंगा. अनिश्चितकाल के लिए अनशन पर चला जाऊंगा. 31 अक्टूबर तक सड़क के पुनर्निर्माण का काम शुरू नहीं हो पाया है, इसलिए अपनी तय घोषणा के मुताबिक पद से इस्तीफा दे रहा हूं.

राकेश प्रताप सिंह 2017 के विधानसभा चुनाव में एसपी और कांग्रेस गठबंधन के प्रत्याशी थे.इससे पहले समाजवादी पार्टी के टिकट पर 2012 के विधानसभा चुनाव में राकेश प्रताप सिंह गौरीगंज विधानसभा क्षेत्र से विधायक चुने गए थे.


वीडियो देखें: अमेठी में सड़क बनाने की मांग पूरी नहीं हुई तो विधायक ने इस्तीफा दे दिया!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

धार्मिक जुलूस की अनुमति की प्रक्रिया जान लो, जहांगीरपुरी हिंसा की वजह समझ आ जाएगी

धार्मिक जुलूस की अनुमति की प्रक्रिया जान लो, जहांगीरपुरी हिंसा की वजह समझ आ जाएगी

जानकारों ने जहांगीरपुरी में निकले जुलूस पर सवाल उठाए हैं.

लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे का सेनाध्यक्ष बनना खास क्यों है?

लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे का सेनाध्यक्ष बनना खास क्यों है?

मौजूदा आर्मी चीफ मनोज मुकुंद नरवणे के रिटायर्ड होने पर पदभार संभालेंगे.

LIC का IPO: सरकार अब जो करने जा रही है उससे छोटे निवेशकों को फायदा है

LIC का IPO: सरकार अब जो करने जा रही है उससे छोटे निवेशकों को फायदा है

LIC के IPO में बहुत कुछ बदलने जा रहा है. अगले हफ्ते आ सकता है अपडेटेड प्रॉस्पेक्टस.

RBI की इस पहल से सभी एटीएम से बिना कार्ड कैश निकलेगा!

RBI की इस पहल से सभी एटीएम से बिना कार्ड कैश निकलेगा!

अभी ये सुविधा कुछ ही बैंको तक सीमित है.

'शराबी' खिलाड़ी की जानलेवा हरकत की वजह से मरते-मरते बचे थे युजवेंद्र चहल, अब किया खुलासा

'शराबी' खिलाड़ी की जानलेवा हरकत की वजह से मरते-मरते बचे थे युजवेंद्र चहल, अब किया खुलासा

2013 की बात है जब चहल मुंबई इंडियन्स की तरफ से खेलते थे.

आकार पटेल के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी करने वाली CBI अब उनसे माफी मांगेगी

आकार पटेल के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी करने वाली CBI अब उनसे माफी मांगेगी

कोर्ट ने आकार पटेल को बड़ी राहत दी है.

भारत में कोरोना के XE Variant का पहला केस मिलने के दावे पर सरकार ने क्या कहा?

भारत में कोरोना के XE Variant का पहला केस मिलने के दावे पर सरकार ने क्या कहा?

ये वेरिएंट कितना खतरनाक है, ये भी जान लें.

लल्लनटॉप अड्डा: 9 अप्रैल को मचने वाले धमाल का पूरा शेड्यूल पढ़ लो!

लल्लनटॉप अड्डा: 9 अप्रैल को मचने वाले धमाल का पूरा शेड्यूल पढ़ लो!

हंसी होगी, संगीत होगा और होंगे सौरभ द्विवेदी!

ED ने किन मामलों में सत्येंद्र जैन और संजय राउत के परिवारों की करोड़ों की संपत्ति कुर्क की है?

ED ने किन मामलों में सत्येंद्र जैन और संजय राउत के परिवारों की करोड़ों की संपत्ति कुर्क की है?

कार्रवाई पर संजय राउत भड़क गए हैं.

यूपी सरकार के लिए गोरखनाथ मंदिर हमला 'आतंकी घटना', हमलावर के पिता ने क्या बताया?

यूपी सरकार के लिए गोरखनाथ मंदिर हमला 'आतंकी घटना', हमलावर के पिता ने क्या बताया?

यूपी सरकार ने आरोपी के खिलाफ तगड़ी जांच के आदेश दे दिए हैं.