Submit your post

Follow Us

उन्नाव रेप पीड़िता की मौत के बाद पिता और भाई ने जो बोला, वो दिल दहलाने वाला

5 दिसंबर को उन्नाव में रेप के बाद जलाई गई पीड़िता ने शुक्रवार 6 दिसंबर की रात पौने 12 बजे दम तोड़ दिया. 90 फीसदी जलने के बाद उसे दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भर्ती करवाया गया था. सफदरजंग अस्पताल के बर्न एंड प्लास्टिक सर्जरी डिपार्टमेंट के हेड डॉ. शलभ कुमार ने बताया-

‘हमारे बड़े प्रयासों के बावजूद पीड़िता को बचाया नहीं जा सका. शाम में ही उसकी हालत खराब होनी शुरू हो गई थी. रात 11.10 बजे उसे कार्डियक अरेस्‍ट आया. हमने इलाज शुरू किया और उसे बचाने की पूरी कोशिश की, लेकिन रात में 11.40 बजे उसकी मौत हो गई.’

वहीं पीड़िता के पिता का कहना है कि प्रशासन की तरफ से उनकी बेटी की मौत की सूचना काफी देर बाद दी गई. उन्होंने बेटी के लिए इंसाफ की मांग करते हुए कहा-

जिस तरह हैदराबाद कांड के आरोपियों को मारा गया ऐसे ही हमारी बेटी के दरिंदों को दौड़ा-दौड़ाकर मारा जाना चाहिए या फिर फांसी दी जानी चाहिए. आरोपियों को सजा मिलने के बाद ही बेटी की आत्मा को शांति मिलेगी.

पीड़िता के पिता के मुताबिक रेप की घटना के बाद से ही आरोपी के परिवार की तरफ से लगातार जान से मारने की धमकी मिल रही थी. उनके परिवार के साथ तो मारपीट की घटना आम हो चुकी थी. बावजूद इस मामले में मुकम्मल कार्रवाई नहीं हुई. पीड़िता के पिता ने योगी सरकार से इंसाफ की गुहार लगाते हुए कहा कि हमें पैसे या किसी चीज का लालच नहीं है, यही चाहते हैं कि आरोपियों को सजा हो और हमें इंसाफ मिले. ताकी उनकी बेटी की आत्मा को शांति मिल सके.

बहन की मौत के बाद पीड़िता के भाई ने बहन की अंतिम इच्छा बताई. भाई ने कहा-

मेरी बहन मुझसे सिर्फ इतना कह सकी कि वह जीना चाहती है और दोषियों को फांसी पर लटकते देखना चाहती है. यह राज्य की असफलता है. हमें इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि अपराधी एनकाउंटर में मारे जाते हैं या फांसी पर लटकाए जाते हैं, उन्हें जिंदा नहीं रहना चाहिए, यही हम चाहते हैं. मेरी बहन की बॉडी इस कदर जल चुकी है कि जलाने लायक कुछ बचा ही नहीं. हम शव को अपने गांव ले जाएंगे और वहीं शव को दफना देंगे.

क्या था मामला

इस मामले में पीड़िता के साथ एक आरोपी का पुराना विवाद था. पीड़िता के मुताबिक आरोपी ने शादी के नाम पर कई बार उसके साथ यौन संबंध बनाए. उसके बाद जब वो शादी के लिए तैयार नहीं हुआ तो बाद में ब्लैकमेलिंग पर उतर आया. फिर 12 दिसंबर 2018 के दिन भी उसने एक और दोस्त के साथ मिलकर बलात्कार किया. जिसकी शिकायत करने के बाद आरोपी की गिरफ्तारी हुई थी. तब से लेकर लगातार ही आरोपियों के परिवार की तरफ से जान से मारने की धमकी मिल रही थी.

पुलिस क्या कर रही?

लॉ एंड ऑर्डर आईजी प्रवीण कुमार के मुताबिक पीड़िता को जलाने वाले 5 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है. इनमें से 2 ने पिछले साल पीड़िता के साथ रेप किया था. उस वक्त उनमें से एक को गिरफ्तार किया गया था जो हाल ही में जमानत पर बाहर आया था. जमानत पर बाहर आने के बाद ही उसने 5 लोगों के साथ मिलकर रेप पीड़िता को ज़िंदा जलाने की कोशिश की.

जिन्होंने इस मामले को सामने से देखा, उनके मुताबिक पीड़िता ने हिम्मत दिखाई और जलने के बावजूद 1 किलोमीटर दूर चलकर गई. खुद पुलिस से मदद की गुहार लगाई. दिल दहलाने वाली ये घटना उन्नाव के पास सिंदुपुर गांव में घटी, जिसके बाद 90 फीसदी जली हालत में पीड़िता को लखनऊ रेफर किया गया. हालत बिगड़ते देख उस रात ही उसे दिल्ली के सफदरजंग लाया गया. जहां शुक्रवार की रात यानी कि 6 दिसंबर की रात उसकी मौत हो गई.

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से अपील की कि बलात्कारियों की फांसी 1 महीने के भीतर हो.

यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने ट्वीट करके कहा कि राज्य सरकारें लोगों में कानून का खौफ पैदा करें, तभी जाकर स्थिति सुधरेगी. लिखा-

कांग्रेस और सीपीएम के अलावा कई विपक्षी दल सरकार पर आरोपियों को बचाने के आरोप लगा रहे हैं. समाजवादी पार्टी के नेता रविदास मेहरोत्रा ने कहा-

प्रदेश में लगातार बढ़ती हुई घटनाओं से जन आक्रोश व्याप्त है. इन घटनाओं के बाद प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री को एक दिन भी सत्ता में रहने का नैतिक अधिकार और हक नहीं है. भारतीय जनता पार्टी के नेता कुलदीप सिंह सेंगर, केंद्रीय गृह राज्यमंत्री चिन्मयानंद और तमाम लोग बलात्कार के आरोप में बंद हैं. भारतीय जनता पार्टी बेटियों के साथ नहीं बल्कि बलात्कारियों के साथ खड़ी है.

वहीं यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उन्नाव की घटना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है, अत्यंत दुखद है. इसके साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि वह परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त करते हैं. सभी आरोपी पकड़े जा चुके हैं. सरकार उन्हें जल्द से जल्द सजा दिलवाएगी.


हैदराबाद एनकाउंटर: रेप के आरोपी पुलिस फायरिंग में मारे गए, लेकिन ये सवाल पीछे छूट गए!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पेट्रोल-डीजल के दाम में फिर से उबाल क्यों आ रहा है?

रोजाना इनके दाम घटने-बढ़ने की पूरी कहानी.

उत्तर प्रदेश में एक IPS अधिकारी के ट्रांसफर पर क्यों तहलका मचा हुआ है?

69000 भर्ती में कार्रवाई का नतीजा ट्रांसफर बता रहे लोग. मगर बात कुछ और भी है.

गलवान घाटी: LAC पर भारत के तीन नहीं, 20 जवान शहीद हुए हैं, कई चीनी सैनिक भी मारे गए

लड़ाई में हमारे एक के मुकाबले तीन थे चीनी सैनिक.

गलवान घाटीः वो जगह जहां भारत-चीन के बीच झड़प हुई

पिछले कुछ समय से यहां पर दोनों देशों की सेनाएं आमने-सामने हैं.

लद्दाख: गलवान घाटी में भारत-चीन झड़प पर विपक्ष के नेता क्या बोले?

सेना के एक अधिकारी समेत तीन जवान शहीद हुए हैं.

क्या परवीन बाबी की राह पर चल पड़े थे सुशांत?

मुकेश भट्ट ने एक इंटरव्यू में कहा.

सुशांत के पिता और उनके विधायक भाई ने डिप्रेशन को लेकर क्या कहा?

फाइनेंशियल दिक्कत की ख़बरों पर भी बोले.

मुंबई में सुशांत सिंह राजपूत को दी गई अंतिम विदाई, ये हस्तियां हुईं शामिल

मुंबई में तेज बारिश के बीच अंतिम संस्कार.

सुशांत ने किस दोस्त को आख़िरी कॉल किया था?

दोस्त फोन रिसीव न कर सका. जब तक कॉल बैक किया, देर हो चुकी थी.

सुशांत के साथ काम कर चुके मनोज बाजपेयी, राजकुमार राव और अनुष्का शर्मा ने क्या कहा?

सुशांत ने 11 फिल्मों में काम किया था.