Submit your post

Follow Us

बेंगलुरु: अस्पताल ने बरती ऐसी लापरवाही, डेढ़ साल शव गृह में पड़े रहे कोरोना मृतकों के शव

बेंगलुरु का राजाजी नगर. यहां का ESI अस्पताल. अस्पताल के शव गृह में दो शव मिले हैं. बताया गया है कि दोनों व्यक्ति कोविड-19 से मारे गए थे. हाल में नहीं, बल्कि लगभग डेढ़ साल पहले. खबर के मुताबिक इन दोनों की मौत जुलाई 2020 में कोरोना संक्रमण के कारण हुई थी. उस वक्त देश में कोविड-19 की पहली लहर चल रही थी.

डेक्कन हेराल्ड की रिपोर्ट के अनुसार, ESI अस्पताल के कर्मचारियों को बीती 26 नवंबर को ये शव तब मिले, जब वे पुराने शव गृह की साफ सफाई करने गए थे. दोनों शवों की पहचान दुर्गा और मणिराजू के तौर पर हुई है. रिपोर्ट के मुताबिक, अस्पताल में दो शव गृह हैं. पुराने शव गृह में चार और नए शव गृह में 10 शव रखने की क्षमता है. ये दोनों शव पुराने शव गृह में मिले हैं.

शवों को निकालना भूला अस्पताल प्रशासन!

राजाजी नगर स्थित इस ESI अस्पताल के पुराने शव गृह को इस साल अगस्त में बंद कर दिया गया था. ऐसा करते हुए अस्पताल प्रशासन इन दोनों शवों को निकालना ही भूल गया. ये जानकारी सामने आई तो अस्पताल को निशाने पर लिया जाने लगा. अस्पताल प्रशासन भी इसे अपनी एक बड़ी गलती मान रहा है. आम तौर पर शव गृह के फ्रीजर में बॉडी होने पर उसके बाहर स्टिकर लगाया जाता है. बताया गया कि इन दोनों शवों के मामले में ये स्टिकर नहीं लगाया गया.

देश में कोरोना की पहली लहर ने साल 2020 के मार्च के आखिर में दस्तक दी थी. (प्रतीकात्मक चित्र)
देश में कोरोना की पहली लहर ने साल 2020 के मार्च के आखिर में दस्तक दी थी. (प्रतीकात्मक चित्र)

अस्पताल प्रशासन पर ये भी आरोप है कि उसने इन शवों का कोविड प्रोटोकॉल के तहत अंतिम संस्कार भी नहीं किया. और तो और उसने लापरवाही में जुलाई, 2020 में अपने रिकॉर्ड्स में ये तक लिख दिया कि शवों को अंतिम संस्कार के लिए नगरपालिका को सौंपा जा चुका है. फिलहाल, इन दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए विक्टोरिया अस्पताल भेजा गया है.

परिवार की कार्रवाई की मांग

दूसरी तरफ, दोनों मृतकों के घरवालों को 29 नवंबर की दोपहर राजाजी नगर पुलिस स्टेशन बुलाया गया. उन्हें इस बात पर विश्वास नहीं हुआ कि उनके परिजनों के शव 15 महीने बाद मिले हैं, जबकि वो पहले ही उनका अंतिम संस्कार कर चुके हैं. वे ये सोचकर हैरान हैं कि अस्पताल की लापरवाही की वजह से जाने किन लोगों के शवों का अंतिम संस्कार उन्होंने कर दिया.

इस पूरे मामले को लेकर दोनों मृतकों के रिश्तेदार गुस्से में हैं और कार्रवाई की मांग कर रहे हैं. रिपोर्ट के अनुसार, इस लापरवाही के लिए अस्पताल के डीन और मेडिकल सुप्रीटेंडेंट को जिम्मेदार बताया जा रहा है. खबर सामने आने के बाद स्थानीय विधायक और बीजेपी नेता सुरेश कुमार ने अस्पताल प्रशासन से कहा है कि वो मामले की अच्छे से जांच करे. वहीं राजाजी नगर पुलिस का कहना है कि एक बार अस्पताल की तरफ से जांच होने के बाद ही वो कोई कार्रवाई करेगी.


वीडियो-  कोरोना के नए वेरिएंट को अब तक का सबसे खतरनाक क्यों कहा जा रहा है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

आपको फर्जी शेयर टिप्स देकर इस परिवार ने करोड़ों का मुनाफा कैसे पीट लिया?

आपको फर्जी शेयर टिप्स देकर इस परिवार ने करोड़ों का मुनाफा कैसे पीट लिया?

Bull Run कांड में सेबी का फैसला, एक ही परिवार के 6 लोगों पर लगा बैन.

आदिवासी, आंदोलनकारी, पत्रकार और ऐक्ट्रेस, जानिए यूपी में कांग्रेस ने किन चेहरों पर दांव लगाया है?

आदिवासी, आंदोलनकारी, पत्रकार और ऐक्ट्रेस, जानिए यूपी में कांग्रेस ने किन चेहरों पर दांव लगाया है?

कांग्रेस की पहली लिस्ट में 50 महिला उम्मीदवार शामिल हैं

इस तस्वीर ने यूपी चुनाव से पहले सपा गठबंधन को लेकर क्या सवाल खड़े कर दिए?

इस तस्वीर ने यूपी चुनाव से पहले सपा गठबंधन को लेकर क्या सवाल खड़े कर दिए?

तस्वीर गौर से देखेंगे तो समझ आ जाएगा, हम तो बता ही देंगे.

योगी सरकार को एक और झटका, मंत्री दारा सिंह चौहान ने भी साथ छोड़ा

योगी सरकार को एक और झटका, मंत्री दारा सिंह चौहान ने भी साथ छोड़ा

बीते 24 घंटों के भीतर यूपी के दो कैबिनेट मंत्रियों ने इस्तीफा दे दिया है.

ITR फाइलिंग की डेडलाइन बढ़ी है, लेकिन नाचने से पहले ये खबर पढ़ लो!

ITR फाइलिंग की डेडलाइन बढ़ी है, लेकिन नाचने से पहले ये खबर पढ़ लो!

सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेस ने असल में क्या कहा है?

दिल्ली में प्राइवेट ऑफिस, रेस्टोरेंट और बार पूरी तरह बंद किए गए, छूट किसे मिली है ये जान लो

दिल्ली में प्राइवेट ऑफिस, रेस्टोरेंट और बार पूरी तरह बंद किए गए, छूट किसे मिली है ये जान लो

कोरोना के केस बढ़ने के बीच DDMA की नई गाइडलाइंस जारी.

यूपी में MSP कृषि लागत से ज्यादा नहीं तो BJP इसका ढोल क्यों पीट रही है?

यूपी में MSP कृषि लागत से ज्यादा नहीं तो BJP इसका ढोल क्यों पीट रही है?

यूपी में MSP की तारीफ़ का सच.

Nykaa का IPO अशनीर ग्रोवर और कोटक महिंद्रा के बीच जंग की वजह कैसे बन गया?

Nykaa का IPO अशनीर ग्रोवर और कोटक महिंद्रा के बीच जंग की वजह कैसे बन गया?

BharatPe के लीगल नोटिस और अशनीर ग्रोवर के 'गाली' वाले ऑडियो पर क्या बोला Kotak?

Xiaomi ने सरकार को कैसे लगा दिया 653 करोड़ का चूना?

Xiaomi ने सरकार को कैसे लगा दिया 653 करोड़ का चूना?

Xiaomi भारत में सबसे ज्यादा मोबाइल बेचने वाली चीनी कंपनी है.

नरसिंहानंद का एक और घटिया बयान, 'जिसने एक बेटा पैदा किया, उस मां को औरत मत मानना'

नरसिंहानंद का एक और घटिया बयान, 'जिसने एक बेटा पैदा किया, उस मां को औरत मत मानना'

नरसिंहानंद ने कहा, "मुसलमानों से हिंदुओं को मरवाओगे क्या?"