Submit your post

Follow Us

कब्र से निकालकर रेप की खबर की सच्चाई न बताई गई, तो यूपी में भयंकर दंगे हो सकते हैं

28.62 K
शेयर्स

यूपी का वॉट्सऐप किसी अलग ही लोक से चलाया जा रहा है. त्वरित सूचनाएं वहां पहुंचती हैं और उनको किसी अलग सांचे में ढालकर कुछ और ही बना दिया जाता है.

वॉट्सऐप के अलावा सूचनाएं कई वेबसाइट्स से भी पहुंच रही हैं. ये बताना मुश्किल है कि सूचना वेबसाइट पर पहले आई या फिर वॉट्सऐप पर. अभी कुछ ऐसा चल रहा है, जो यूपी में कभी भी दंगे करवा सकता है.

इंडिया संवाद नाम की वेबसाइट पर एक हेडिंग लगी: Ghaziabad Shocker: Two men dig out body of woman from grave to gangrape her. मतलब गाजियाबाद में दो लोगों ने कब्र से एक औरत की लाश निकालकर उसका रेप किया. इनके मुताबिक ये घटना दो दिन पहले हुई. ये स्टोरी एक और वेबसाइट वायरल इंडिया पर भी लगी. वॉट्सऐप पर तो चल ही रही है.

इनकी रिपोर्ट के मुताबिक गाजियाबाद जिले के तलहटा गांव में एक मुस्लिम औरत की प्रेग्नेंसी की जटिलताओं के चलते मौत हो गई. उनको दफना दिया गया. इसके बाद रिपोर्ट के मुताबिक इस औरत के शव को कब्र से निकालकर दो लोगों ने रेप किया.

इंडिया संवाद

पर अगर गूगल करें तो इंडिया संवाद 2016 में भी इस स्टोरी को अपनी वेबसाइट पर लगा चुका है. दरअसल ये घटना हुई थी अक्टूबर 2015 में. उस वक्त ये घटना बड़े अखबारों में भी छपी थी.

टाइम्स ऑफ इंडिया ने 24 अक्टूबर 2015 के अपने एडिशन में लिखा है कि मेरठ और गाजियाबाद जिलों के बॉर्डर के तलहटा गांव में शुक्रवार की रात को अनजान लोगों ने कब्र से औरत की लाश निकालकर कथित तौर पर रेप किया. लाश कब्र से 20 मीटर दूर पाई गई थी. उसके शरीर पर कोई कपड़ा नहीं था.

26 साल की वो औरत प्रेग्नेंसी के दौरान मर गई थी. पुलिस का कहना था कि रेप हुआ है कि नहीं, तय नहीं है. पुलिस ने ये भी कहा कि ये सांप्रदायिकता फैलाने की कोशिश है. क्योंकि औरत माइनॉरिटी समुदाय से आती है और इस घटना को कुछ यूं दिखाया जा रहा है, जो आसानी से लोगों को विचलित कर सकता है.

एसएचओ ने कहा कि लोग कह रहे हैं कि लाश का बलात्कार हुआ है. लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं मिला है जिससे रेप साबित हो सके. हां, ये जरूर हुआ है कि लाश को कब्र से बाहर निकाला गया था.

गाजियाबाद जिले के सीएमओ ने अखबार को बताया था कि ये बहुत मुश्किल है क्योंकि 24 घंटे से ज्यादा कब्र में पड़ी लाश की स्थिति बहुत खराब हो जाती है, वो फूल जाती है.

उस वक्त की खबरों को देखें तो पता चलता है कि शमा परवीन नाम की लड़की की मौत हो गई थी क्योंकि उसका गर्भ गर्भाशय के बजाय फैलोपियन ट्यूब्स में फैल गया था. 22 अक्टूबर को उन्हें दफना दिया गया. पर 23 अक्टूबर को उनकी पड़ोसी प्रेमवती प्रजापति ने उनके घरवालों को सूचना दी कि लाश कब्र से बाहर है. पाया गया कि जमीन को 5 फीट खोदा गया था. कब्र के ऊपर की लकड़ियां फेंक दी गई थीं. लाश के ऊपर का कपड़ा फाड़ दिया गया था. लाश फूल गई थी. ऐसा लग रहा था कि किसी ने लाश को पैर से पकड़कर खींचा है.

तलहटा गांव दादरी से 50 किमी दूर है. उसी गांव में इस घटना के लगभग एक महीने पहले 28 सितंबर को अखलाक को मार दिया गया था. तलहटा मोदीनगर विधानसभा में आता है.

इस खबर से अभी दंगे कैसे फैल सकते हैं?

अगर पहले की घटनाओं पर जाएं, तो यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की हिंदू युवा वाहिनी से जुड़े कुछ लोगों पर इसी तरह की घटनाओं से जुड़े बयान देने का आरोप है. आरोप लगा था कि योगी आदित्यनाथ उसी स्टेज पर चढ़े थे जिस पर एक नेता भाषण दे रहा था कि मुस्लिम औरतों की लाशों को कब्र से निकालकर रेप करेंगे. इसकी खबर डेलीओ, स्क्रॉल सबमें छपी थी. ये घटना मार्च 2015 की बताई जा रही थी. तो अगर इस पुरानी खबर को लोगों ने अभी की खबर मान ली, तो इसे कहीं से भी जोड़ा जा सकता है. फिर लोगों को भड़कते देर नहीं लगेगी.

उस कथित स्पीच के वीडियो से निकाली गई तस्वीर
उस कथित स्पीच के वीडियो से निकाली गई तस्वीर

ये खबर एक टाइम बम की तरह है. इसे जहां प्लांट कर दिया जाए, फट ही जाएगा. फेक न्यूज के दौर में भावनाओं को काबू में रखने की जरूरत है. वरना ऐसे बम मिलते ही रहेंगे. अभी कम्युनिस्ट नेता कविता कृष्णन को लेकर ऐसी ही फेक न्यूज उड़ी थी. ख़बरों में कहा गया कि कविता कृष्णन ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नपुंसक बताते हुए बेहद घटिया बात कही. इसके सच की पूरी जानकारी आप यहां ले सकते हैं:

कविता कृष्णन और मोदी के बारे में फैलाई गई गंदी अफवाह का सच

इससे पहले नास्त्रेदमस की भविष्यवाणी को लेकर भी एक झूठी अफवाह उड़ी थी. इसमें कहा गया था कि चार सौ साल पहले ही नास्त्रेदमस ने नरेंद्र मोदी के भारत के प्रधानमंत्री बनने की भविष्यवाणी कर दी थी. इसको ले के बहुत रोचक चौपाइयां भी लिखी गई थीं. इसका सच आप यहां पढ़ सकते हैं:

नरेंद्रस मोदुस को पीएम बनाने वाला नास्त्रेदमस सबसे बड़ा फ्रॉड था

इसी तरह कुछ महीने पहले एक और स्टोरी वायरल हुई थी. इसमें मां हिरन और उसके बच्चों की कहानी बताई गई थी. लोगों ने फोटो को लेकर इतनी प्रतिक्रियाएं दीं कि फोटॉग्रफर परेशान हो गया. तो लोगों ने उनके डिप्रेशन में जाने की अफवाह उड़ा दी. इसके झांसे में तो बॉलीवुड हीरो शाहिद कपूर भी आ गए थे. इसकी कहानी आप यहां पढ़ सकते हैं:

मां हिरन की बच्चों के लिए दी गई कुर्बानी का सच होश उड़ाने वाला है

इस तरह की खबरें लगातार आ रही हैं. मुजफ्फरनगर दंगों के दौरान फेक तस्वीरें ही लोगों ने इस्तेमाल की थीं भावनाएं भड़काने के लिए.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

नेटफ्लिक्स पर आने वाली शाहरुख़ की 'बार्ड ऑफ़ ब्लड' में कश्मीर क्यूं खचेर रहा है पाकिस्तान?

पाकिस्तानी आर्मी के प्रवक्ता के बयान पर सोशल मीडिया कहने लगा 'पीछे तो देखो'.

केरल बाढ़ के हीरो आईएएस कन्नन गोपीनाथन ने कश्मीर मसले पर नौकरी छोड़ते हुए ये बातें कही हैं

नौकरी छोड़ दी. अब न कोई सेविंग्स है, न ही रहने को अपना ख़ुद का घर.

धरती पर क्राइम तो रोज़ होते हैं, लेकिन पहली बार अंतरिक्ष में हुए क्राइम की खबर आई है

अंतरिक्ष में रहते क्राइम करने की बात चौंकाती है.

अरुण जेटली नहीं रहे, यूएई से पीएम मोदी ने कुछ यूं किया याद

गौतम गंभीर ने जेटली को पिता तुल्य बताया.

रफाल के अलावा फ्रांस से और क्या-क्या लाने वाले हैं पीएम मोदी?

इस बड़े मुद्दे पर भारत की तगड़ी मदद करने वाला है फ्रांस.

चंद्रमा पर पहुंचने वाला है चंद्रयान-2, कैसे करेगा काम?

चंद्रयान के एक-एक दिन का हिसाब दे दिया है

विंग कमांडर अभिनंदन को पकड़ने वाला पाकिस्तानी सैनिक मारा गया!

पाकिस्तानी आर्मी की तस्वीर में अभिनंदन को पकड़े हुए दिखा था अहमद खान.

नकली दूध बेचा, पुलिस ने आतंकियों वाला NSA लगा दिया

सरकार ने तो पहले ही कह दिया था.

कांग्रेस और सपा छोड़कर भाजपा में आए नेताओं ने मोदी के बारे में क्या कहा?

वो भी कल लखनऊ में...

कश्मीर में बैन के बाद भी किसकी मेहरबानी से गिलानी इस्तेमाल कर रहे थे फोन-इंटरनेट?

बैन के चार दिन बाद तक गिलानी के पास इंटरनेट और फोन था. प्रशासन को इसकी भनक भी नहीं थी.