Submit your post

Follow Us

टीचर से हिज़बुल आतंकी बना रियाज़ नाइकू मुठभेड़ में मारा गया

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले के अवंतीपोरा में आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ में हिज़बुल मुजाहिदीन कमांडर रियाज़ नाइकू मारा गया है. रियाज़ कश्मीर घाटी में हिज़बुल का टॉप वांटेड आतंकी था. उसने मार्च महीने में ऑडियो जारी कर सेना पर हमले की चेतावनी दी थी. रियाज़ बरसों से सुरक्षाबलों के रडार पर था. उस पर 12 लाख रुपये का इनाम था.

नवंबर, 2019 को हुए एक मुठभेड़ में हिजबुल के दो आतंकी मारे गए थे, लेकिन रियाज़ बच गया था. लेकिन 6 मई, 2020 को रियाज़ मारा गया. अधिकारियों ने इस बात की पुष्टि की है.

कौन था रियाज़ नाइकू

35 साल का नाइकू गणित का टीचर रह चुका था. हिज़बुल मुजाहिदीन के पोस्टर बॉय बुरहान वानी के मारे जाने के बाद रियाज़ घाटी में आतंक का नया चेहरा बन गया था. आतंकी सद्दाम पोद्दार के मारे जाने बाद उसे संगठन का कमांडर बनाया गया था.

साल 2019 के अमरनाथ यात्रा को लेकर सुरक्षा एजेंसियों ने रियाज़ को बड़ा खतरा बताया था. 2017 में हिज़बुल का एक आतंकी शौकत अहमद लोन पकड़ा गया था. यह भी रियाज़ के इशारों पर काम करता था. रियाज़ ने इसे सुरक्षाबालों से हथियार छीनने का काम दिया था.

नाइकू भागने और छुपने में बहुत माहिर था. कई मुठभेड़ों में बेहद करीब होते हुए भी वह हमेशा बच निकलने में कामयाब रहा था.

कैसे पकड़ा गया रियाज़

5 मई की रात को बहुत सटीक ‘खुफिया सूचना’ मिलने के बाद सुरक्षाबलों ने उसे घेर लिया गया. संभावित सुरंगों या भूमिगत ठिकाने के बारे में जानकारी मिलने के बाद सबको खंगाला गया था. 5 मई की रात कॉर्डन सर्च ऑपरेशन शुरू किया था और यह सुबह तक चलता रहा. सुबह आतंकवादियों से सामना हुआ और मुठभेड़ शुरू हो गई. कहा जा रहा है कि रियाज़ की मां बीमार थी. इसी सिलसिले में वह अपने घर आया हुआ था.

नाइकू के अभी तक जिंदा बचे रहने का कारण था कि उसे अपने बेहद करीबी ग्रुप के अलावा किसी और पर भरोसा नहीं था. सुरक्षाबलों ने 2018 और 2019 में उसे घेरने के लिए कड़ी मेहनत की थी, लेकिन असफल रहे थे.

दक्षिणी कश्मीर से हिज़बुल का सफाया हो गया?

कश्मीर के इंस्पेक्टर जनरल ऑफ़ पुलिस (IGP) विजय कुमार ने जनवरी, 2020 में कहा था कि अगर हम रियाज़ नाइकू को मारने में सफल रहते हैं, तो दक्षिणी कश्मीर से हिज़बुल मुजाहिदीन का सफाया हो जाएगा.

रियाज़ ने एक बार एक टॉप ऑफिसर को भी धोखा दिया था. उसने कहा था कि 2018 में वह सरेंडर कर देगा, लेकिन उसने ऐसा नहीं किया. यह जान-बूझकर किया गया एक छलावा था. रियाज़ का मारा जाना हिज़बुल के लिए एक बड़ा झटका है और सुरक्षाबलों के एक बड़ी सफलता है. उसने इसी साल घाटी में दर्जनों युवकों की भर्ती​ की थी.


विडियो- हंदवाड़ा एनकाउंटर: कर्नल आशुतोष शर्मा और उनकी टीम की बहादुरी की कहानी

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पूरी दुनिया में पेट्रोल-डीजल पर सबसे ज्यादा टैक्स भारत में लिया जा रहा है

इस मामले में भारत ने फ्रांस और जर्मनी को पीछे छोड़ दिया है.

इज़रायल का दावा, कोरोना की दवा मिल गयी!

बस बड़े लेवल पर निर्माण का इंतज़ार.

कोरोनावायरस : आंकड़े की जांच हुई तो पश्चिम बंगाल का सच सामने आ गया!

पश्चिम बंगाल का कोरोना से जुड़ी मौतों का आंकड़ा छिपा रहा है?

दिल्ली में शराब पर सरकार की ‘स्पेशल फीस’

..ताकि ‘रहें सलामत पीने वाले’.

लद्दाख BJP अध्यक्ष ने छोड़ी पार्टी, कहा- लद्दाख के लोगों के बारे में न पार्टी सुन रही, न प्रशासन

चेरिंग दोरजे दो महीने पहले ही अध्यक्ष बनाए गए थे.

सूरत में प्रवासी मज़दूरों का सब्र फिर जवाब दे गया है

इस बार भी बीच में पुलिस ही पिस रही है.

यूपी : CM योगी के मृत पिता के बहाने लॉकडाउन में बद्रीनाथ-केदारनाथ जा रहे थे विधायक, पुलिस ने धर लिया

नौतनवा के विधायक अमनमणि त्रिपाठी का है मामला.

जानिए कौन हैं जम्मू कश्मीर के हंदवाड़ा में शहीद हुए पांच सुरक्षाकर्मी

सुरक्षाकर्मी आतंकियों के कब्जे से आम लोगों को निकालने के लिए गए थे.

दिल्ली में एक ही बिल्डिंग में मिले कोरोना के 58 पॉजिटिव मरीज

जिन्हें संक्रमण हुआ है वो लोग एक ही टॉयलेट इस्तेमाल करते थे.

कुलभूषण जाधव मामले में वकील हरीश साल्वे ने खोले पाकिस्तान के कई बड़े राज

भारतीय अधिवक्ता परिषद के ऑनलाइन लेक्चर में कई बातें बताईं.