Submit your post

Follow Us

TMC ने PM मोदी को पत्र लिखकर सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता के इस्तीफे की मांग क्यों की?

सॉलिसिटर जनरल यानी अदालती मसलों में केंद्र सरकार का पक्ष रखने वाला वकील. भारत के मौजूदा सॉलिसिटर जनरल हैं तुषार मेहता. उनके इस्तीफे की मांग की गई है. ये मांग उठी है तृणमूल कांग्रेस (TMC) की तरफ से. खबर के मुताबिक, TMC के तीन सांसदों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर ये मांग की है. लेकिन क्यों? क्योंकि TMC का कहना है कि सॉलिसिटर जनरल ने हाल ही में शुवेंदु अधिकारी से मुलाकात की है. वही शुवेंदु अधिकारी, जो कभी TMC का हिस्सा हुआ करते थे और हाल में हुए बंगाल चुनाव से पहले BJP में चले गए थे. TMC सांसदों का कहना है कि शुवेंदु अधिकारी नारद स्कैम में आरोपी हैं और उनसे मुलाकात करने वाले तुषार मेहता को सॉलिसिटर जनरल के पद पर नहीं रहना चाहिए.

पत्र लिखने वाले तीनों TMC सांसद हैं- डेरेक ओ ब्रायन, महुआ मोइत्रा और सुखेंदु शेखर रॉय. इन्होंने पत्र में लिखा कि शुवेंदु नारद स्कैम में और सारदा चिटफंड में आरोपी हैं. केस की जांच CBI कर रहा है. ऐसे में एक आरोपी का देश के बड़े कानून अधिकारी से मिलना ठीक नहीं. वो भी ऐसा अधिकारी, जो सरकार और एजेंसियों को सलाह देता है. इसी आधार पर PM मोदी से मांग की गई है कि वे मेहता को पद से हटाएं.

लेकिन कहानी में एक ट्विस्ट अभी बाकी है. टीएमसी सांसदों की मांग के बाद तुषार मेहता का पक्ष सामने आया. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, तुषार मेहता ने कहा कि शुवेंदु अधिकारी उनके घर आए ज़रूर थे लेकिन मुलाकात नहीं हुई. मेहता ने कहा कि शुवेंदु अधिकारी पहले से समय लिए बिना आए थे, इसलिए वे उनसे मुलाकात नहीं कर सके. कहा गया कि शुवेंदु दफ्तर आए, चाय-पानी पिया और चले गए.

स्टिंग ऑपरेशन में आया था नाम

बता दें कि भारतीय जनता पार्टी ने 2016 में अपने यूट्यूब चैनल पर एक स्टिंग ऑपरेशन का वीडियो अपलोड किया था. नारद न्यूज़ ने ये स्टिंग ऑपरेशन किया था, जिसमें पश्चिम बंगाल की सत्ताधारी पार्टी तृणमूल कांग्रेस (TMC) के कई नेता किसी व्यक्ति से अलग-अलग जगहों पर पैसे लेते दिख रहे थे. कहा गया कि ये सभी TMC नेता सामने वाली पार्टी को लाभ पहुंचाने के बदले घूस ले रहे हैं.

BJP ने यूट्यूब के अलावा अपने तमाम सोशल मीडिया हैंडल्स पर ये वीडियो शेयर किया था. तब पार्टी ने आरोप लगाते हुए कहा था कि पश्चिम बंगाल की सरकार और TMC पार्टी कितनी भ्रष्ट है. वीडियो में दिखे TMC नेताओं में शुवेंदु अधिकारी भी शामिल थे. लेकिन उनके भाजपा में आने के बाद पार्टी ने अपने तमाम सोशल मीडिया हैंडल्स से ये वीडियो हटा दिया.


बंगाल चुनाव: क्या सच में ममता बनर्जी ने शुवेंदु अधिकारी के करीबी से फोन करके मदद मांगी है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

नेमावर हत्याकांड: आरोपी सुरेंद्र चौहान की प्रॉपर्टी पर चली जेसीबी, CBI जांच की मांग उठी

कांग्रेस का आरोप है कि भाजपा नेता होने के चलते सुरेंद्र चौहान को इस मामले में संरक्षण मिला.

जम्मू एयरफोर्स स्टेशन पर धमाका, DGP दिलबाग सिंह बोले-ड्रोन से हुआ हमला

दो संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है.

आंदोलन के सात महीने पूरे, किसानों ने देशभर में राज्यपालों को सौंपे ज्ञापन,कुछ जगहों पर झड़प

चंडीगढ़ और पंचकुला में बवाल.

कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ही नहीं, शशि थरूर का अकाउंट भी लॉक कर दिया था ट्विटर ने

ट्विटर ने क्या वजह बताई?

एक्ट्रेस पायल रोहतगी को अहमदाबाद पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया

मामला एक वायरल वीडियो से जुड़ा है.

CBSE और ICSE की परीक्षाएं रद्द करने के खिलाफ याचिकाओं को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज किया

नंबर देने के फॉर्मूले से सुप्रीम कोर्ट भी सहमत.

LJP में कलह की वजह बताए जा रहे सौरभ पांडेय के बारे में रामविलास पासवान ने चिट्ठी में क्या लिखा था?

चिराग को राजनीति में आने की सलाह किसने दी थी?

सरकार फिल्मों के सर्टिफिकेशन में क्या बदलाव करने जा रही, जो फ़िल्ममेकर्स की आज़ादी छीन सकता है?

कुछ वक़्त से लगातार हो रहे हैं फ़ेरबदल.

यूनिवर्सिटी-कॉलेजों में लग रहे 'थैंक्यू मोदी' के बैनर पर बवाल क्यों हो रहा है?

क्या यूनिवर्सिटीज़ और कॉलेजों को सरकारी प्रचार के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है?

ये किन दो नेताओं को चुनाव से ठीक पहले योगी आदित्यनाथ ने बड़ा काम दे दिया है?

कौन हैं रामबाबू हरित और जसवंत सैनी?