Submit your post

Follow Us

इधर सब आईपीएल में मशगूल रहे, उधर लड़कों ने बैडमिंटन में इतिहास रच दिया

लीग क्रिकेट के महाकुंभ IPL के बीच बैडमिंटन कोर्ट से देश के लिए एक बड़ी खबर सामने आई है. भारत की पुरुष बैडमिंटन टीम ने इतिहास रच दिया है. मलेशिया की टीम को हराकर भारतीय टीम थॉमस कप के सेमीफाइनल में पहुंच गई है. मतलब की टीम ने इतिहास में पहली बार इस टूर्नामेंट में कोई पदक पक्का कर लिया है. युवाओं की फौज ने मलेशिया को 3-2 से हराकर सेमीफाइनल में अपनी जगह पक्की कर ली है. अब सेमीफाइनल में भारत का सामना डेनमार्क से होगा.

पहले मैच में लक्ष्य सेन हारे

क्वार्टर फाइनल में सेकेंड फेवरेट मानी जाने वाली भारतीय टीम की शुरुआत अच्छी नहीं रही. पहले मुकाबले में भारत की तरफ से लक्ष्य सेन कोर्ट पर उतरे. शानदार फॉर्म में चल रहे युवा खिलाड़ी के कंधों पर बड़ी जिम्मेदारी थी. उनका सामना उसी खिलाड़ी से था जिसे मार्च के महीने में लक्ष्य ने ऑल इंग्लैंड ओपन के सेमीफाइनल में मात दी थी. हालांकि इस बार वो उस प्रदर्शन को दोहरा नहीं सके. विश्व नंबर 6 ली जी जिया ने विश्व के नंबर 9 खिलाड़ी लक्ष्य को  23-21, 21-9 से हराते हुए मलेशिया को 1-0 से आगे कर दिया.

सात्विक-चिराग ने दिलाई बराबरी

इसके बाद पुरुष डबल्स मुकाबले में भारत की टॉप जोड़ी चिराग शेट्टी और सात्विक साईराज रेड्डी कोर्ट पर उतरे. सामने थी गोह जे फेई-नूर इजुद्दीन की जोड़ी. सात्विक-चिराग ने बेहतरीन खेल दिखाते हुए गोह जे फेई-नूर इजुद्दीन को 21-19, 21-15 से हराकर भारत को 1-1 से बराबरी पर ला दिया.

श्रीकांत ने भारत को दिलाई बढ़त

तीसरे मैच में पूर्व विश्व नंबर 1 भारत के किदाम्बी श्रीकांत के सामने थे विश्व नंबर 46 नक जे योंग. मुकाबला श्रीकांत के लिए आसान लग रहा था. जिसका नतीज़ा भी उम्मीद के मुताबिक ही आया. विश्व चैंपियनशिप सिल्वर मेडलिस्ट श्रीकांत ने इस मुकाबले में अपने अनुभव का भरपूर फायदा उठाया और योंग को 21-11, 21-17 से हराते हुए भारत को 2-1 से आगे कर दिया.

गर्ग- विष्णुवर्धन हारे

चौथा मैच फिर डबल्स का था. हालांकि इसका नतीजा मलेशिया के पक्ष में गया. इस मुकाबले में कृष्ण प्रसाद गर्ग और विष्णुवर्धन की जोड़ी को आरन चिया-तियो इ यी ने 21-19, 21-17 से हरा दिया. अब भारत और मलेशिया की टीम 2-2 से बराबरी पर आ गईं.

उम्मीदों पर खरे उतरे प्रणॉय

मुकाबले के बराबरी पर आते ही विश्व रैंकिंग में 23वें नंबर के एच एस प्रणॉय के कंधे पर टीम और देश की उम्मीदों का भार आ गया. निर्णायक मुकाबला थो तो प्रेशर भी उतनी ही ज्यादा था. करो या मरो के इस मुकाबले में प्रणॉय ने मैच की शुरुआत से ही बेहतरीन खेल दिखाया. 124वीं रैंकिंग वाले लियोंग जुन हाओ को उन्होंने कोई मौका नहीं देते हुए 21-13, 21-8 से मैच भारत के नाम कर दिया.

 

 

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Badminton World Federation (@bwf.official)

थोड़ा इतिहास जान लेते हैं…

इससे पहले भारत ने 1979 में सेमीफाइनल तक का सफर तय किया था. साथ ही टीम 1952 और 1955 में भी सेमीफाइनल में पहुंची थी. हालांकि तब केवल फाइनल में पहुंचने वाली टीम ही पदक की हकदार होती थी, इसलिए तब टीम खाली हाथ लौटी थी. वहीं 2020 में भारत को क्वार्टर फाइनल में डेनमार्क के हाथों हार का सामना करना पड़ा था. इससे पहले भारत ने थॉमस कप में कभी भी पदक नहीं जीता था. हालांकि महिलाओं ने साल 2014 और 2016 में उबर कप में कांस्य पदक अपने नाम किया था.

अब जबकि टीम ने कम से कम कांस्य पदक पक्का कर लिया है तो पूरे देश को उम्मीद है कि टीम पीले तमगे के साथ ही वापस लौटे. अब मौका भी है और दस्तूर भी, क्योंकि सामने वही डेनमार्क की टीम है जिससे साल 2020 में मिली हार का बदला लेना है. अगर खिलाड़ियों ने अपना यही प्रदर्शन बरकरार रखा तो ब्रॉन्ज को गोल्ड में तब्दील होने से कोई नहीं रोक पाएगा.


सूर्यकुमार यादव की जगह इस प्लेयर को खिलाएंगे रोहित शर्मा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

छत्तीसगढ़ के रायपुर एयरपोर्ट पर सरकारी हेलीकॉप्टर क्रैश, दो पायलटों की मौत

क्रैश का कारण अभी साफ नहीं हो सका है.

जम्मू-कश्मीर में एक और कश्मीरी पंडित की हत्या, आतंकियों ने सरकारी दफ्तर में घुसकर गोली मारी

मृतक राहुल भट्ट राजस्व विभाग में कार्यरत थे.

क्या क्रिप्टो करंसी के बुरे दिन शुरू हो गए हैं ? छह महीने में आधी हो गईं कीमतें

30% इनकम टैक्स के बाद अब 28% जीएसटी लगाने की तैयारी

पेट्रोल के दाम घटाने की मांग कर रहे विपक्षी राज्यों को पीएम मोदी ने नवंबर याद दिला दिया

मुख्यमंत्रियों के साथ वर्चुअल मीटिंग में पीएम मोदी ने नाम ले-लेकर सुनाया.

धार्मिक जुलूस की अनुमति की प्रक्रिया जान लो, जहांगीरपुरी हिंसा की वजह समझ आ जाएगी

जानकारों ने जहांगीरपुरी में निकले जुलूस पर सवाल उठाए हैं.

लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे का सेनाध्यक्ष बनना खास क्यों है?

मौजूदा आर्मी चीफ मनोज मुकुंद नरवणे के रिटायर्ड होने पर पदभार संभालेंगे.

LIC का IPO: सरकार अब जो करने जा रही है उससे छोटे निवेशकों को फायदा है

LIC के IPO में बहुत कुछ बदलने जा रहा है. अगले हफ्ते आ सकता है अपडेटेड प्रॉस्पेक्टस.

RBI की इस पहल से सभी एटीएम से बिना कार्ड कैश निकलेगा!

अभी ये सुविधा कुछ ही बैंको तक सीमित है.

'शराबी' खिलाड़ी की जानलेवा हरकत की वजह से मरते-मरते बचे थे युजवेंद्र चहल, अब किया खुलासा

2013 की बात है जब चहल मुंबई इंडियन्स की तरफ से खेलते थे.

आकार पटेल के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी करने वाली CBI अब उनसे माफी मांगेगी

कोर्ट ने आकार पटेल को बड़ी राहत दी है.