Submit your post

Follow Us

इस हादसे की वजह से नवाज़ुद्दीन को लॉकडाउन में मुंबई से घर आना पड़ा

एक्टर नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी लॉकडाउन के दरम्यान मुंबई से मुज़फ्फरनगर पहुंचे. नवाज़ का परिवार मुज़फ्फरनगर के बुढ़ाना गांव में रहता है. पीटीआई की रिपोर्ट के मुताबिक नवाज़ अपने परिवार के साथ शनिवार को ही बुढ़ाना पहुंच गए थे. ये खबर सोमवार को बाहर आई. फिलहाल नवाज को उनकी फैमिली के साथ 14 दिन के लिए क्वारंटीन कर दिया गया है. लेकिन इस खबर के आने से बाद से ही दो सवाल लगातार पूछे जा रहे थे. 1) नवाज मुज़फ्फरनगर पहुंचे कैसे? 2) वो इस मुश्किल परिस्थिति में वहां गए क्यों? पहले सवाल के बारे में तो नहीं पता लेकिन उनके घर जाने की वजह पता चल गई है.

घर आने की खबरों को चर्चा का विषय बनता देख नवाज ने अपने सोशल मीडिया हैंडल पर बताया कि वो मुजफ्फरनगर क्यों आए हैं. नवाज अपने ट्वीट में लिखते हैं-

”कुछ दिनों पहले मेरी छोटी बहन का इंतकाल हो गया था, उसके बाद से मेरी 71 साल की मां को दो बार एंग्ज़ाइटी अटैक आ चुका. (मुंबई से मुजफ्फरनगर आने में) हमने राज्य सरकार द्वारा जारी किए गए सभी दिशा-निर्देशों का पालन किया है. फिलहाल हम मेरे होमटाउन बुढ़ाना में होम क्वारंटीन हैं. प्लीज़ घर में रहिए. सुरक्षित रहिए.”

दिसंबर 2019 में नवाज की छोटी बहन स्यामा तामशी की डेथ हो गई था. स्यामा जब 18 साल की थीं, तब उन्हें अडवांस्ड स्टेज ब्रेस्ट कैंसर होने की बात पता चली. अगले 8 सालों तक अपनी बीमारी से जमकर लड़ीं. लेकिन जीत नहीं पाईं. वो 26 साल की उम्र में गुज़र गईं. नवाज जब बांग्लादेशी फिल्ममेकर मुस्तफा सरवर फारूकी की फिल्म ‘नो लैंड्स मैन’ की शूटिंग कर रहे थे, तब उन्हें अपनी बहन के गुज़रने की खबर मिली. जब तक नवाज बुढ़ाना पहुंचते, स्यामा का अंतिम संस्कार हो चुका था. 

एनडीटीवी में छपी एक रिपोर्ट की मानें, तो नवाज के भाई अयाज़ुद्दीन बुढ़ाना में ही हैं. बकौल अयाज़, नवाज ने घर आने का फैसला इसलिए लिया क्योंकि मुंबई में सभी प्रोडक्शन हाउस बंद हैं और कुछ चार-पांच महीने पहले ही उनकी बहन की डेथ हुई है. इसी महीने में ईद भी है. बहन की मौत की वजह से उनका परिवार इस साल ईद नहीं मनाएगा लेकिन घर में नवाज की मौजूदगी ज़रूरी थी. इस साल ईद 23-24 मई को पड़ रही है. लेकिन देशभर में लगे लॉकडाउन को देखते हुए माहौल काफी फीका ही रहने वाला है.

अगर प्रोफेशनल फ्रंट की बात करें, तो नवाज आखिरी बार अथिया शेट्टी के साथ ‘मोतीचूर चकनाचूर’ में नज़र आए थे. उनकी अगली फिल्म ‘घूमकेतू’ 22 मई को ज़ी5 पर रिलीज़ हो रही है. ये फिल्म पिछले काफी समय से लटकी हुई थी, अब जाकर इसे रिलीज़ होने का मौका मिला है.


वीडियो देखें: नवाजुद्दीन सिद्दीकी की कुटाई का किस्सा | Interview

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

छत्तीसगढ़ में वैक्सीन सर्टिफिकेट से हटाई गई पीएम मोदी की तस्वीर

छत्तीसगढ़ में वैक्सीन सर्टिफिकेट से हटाई गई पीएम मोदी की तस्वीर

BJP ने कांग्रेस सरकार पर लगाया ये आरोप.

बाबा रामदेव ने ऐलोपैथी पर क्या कह दिया कि IMA ने केस दर्ज करने की मांग की है

बाबा रामदेव ने ऐलोपैथी पर क्या कह दिया कि IMA ने केस दर्ज करने की मांग की है

पूछा है कि हेल्थ मिनिस्ट्री की साख पर सवाल उठाना क्या एंटीनेशनल नहीं है?

संबित सहित तमाम BJP नेताओं के ट्वीट को भ्रामक बताने पर केंद्र ने ट्विटर को तगड़ी डोज़ दे दी

संबित सहित तमाम BJP नेताओं के ट्वीट को भ्रामक बताने पर केंद्र ने ट्विटर को तगड़ी डोज़ दे दी

क्या होता है मैनिपुलेटेड मीडिया टैग?

बंगाल: नंदीग्राम से चुनाव हार चुकीं ममता बनर्जी अब इस सीट से लड़ेंगी!

बंगाल: नंदीग्राम से चुनाव हार चुकीं ममता बनर्जी अब इस सीट से लड़ेंगी!

सोवनदेब चट्टोपाध्याय ने अपनी सीट छोड़ी.

चिपको आंदोलन के मशहूर पर्यावरणविद् सुंदरलाल बहुगुणा का कोरोना से निधन

चिपको आंदोलन के मशहूर पर्यावरणविद् सुंदरलाल बहुगुणा का कोरोना से निधन

94 वर्षीय सुंदरलाल बहुगुणा कोरोना संक्रमण के कारण 8 मई से एम्स ऋषिकेश में भर्ती थे.

विदेश जाने वाले भारतीय लोग क्यों Covishield की वैक्सीन लगवाना चाहते हैं?

विदेश जाने वाले भारतीय लोग क्यों Covishield की वैक्सीन लगवाना चाहते हैं?

विदेशों में काम करने और पढ़ने के लिए जाने वालों की टेंशन समझिए?

अजय, सलमान, अमिताभ बच्चन जैसे सितारों के घर, दफ्तर, सेट आए ताउ’ते की चपेट में

अजय, सलमान, अमिताभ बच्चन जैसे सितारों के घर, दफ्तर, सेट आए ताउ’ते की चपेट में

अजय देवगन के 'मैदान' का सेट एकदम तहस-नहस हो गया.

यूपीः पंचायत चुनाव ड्यूटी में लगे शिक्षकों की मौत- हकीकत और सरकारी दावे की पड़ताल

यूपीः पंचायत चुनाव ड्यूटी में लगे शिक्षकों की मौत- हकीकत और सरकारी दावे की पड़ताल

शिक्षकों की मौत के आंकड़े क्या बता रहे हैं?

अगर कोरोना हुआ है तो ठीक होने के 3 महीने बाद ही लगवा सकेंगे वैक्सीन

अगर कोरोना हुआ है तो ठीक होने के 3 महीने बाद ही लगवा सकेंगे वैक्सीन

जानिए वैक्सीनेशन से जुड़े अहम सवालों के जवाब.

पीएम मोदी ने मध्य प्रदेश के जिस कोरोना मॉडल की तारीफ़ की उसकी सच्चाई क्या है?

पीएम मोदी ने मध्य प्रदेश के जिस कोरोना मॉडल की तारीफ़ की उसकी सच्चाई क्या है?

डेटा के साथ खिलवाड़ कर रही शिवराज सरकार?