Submit your post

Follow Us

'महाभारत' में काम करने के बाद ये एक्टर असलियत में फिरोज़ खान से अर्जुन बन गया

‘रामायण’-‘महाभारत’ की ओरिजिनल रिलीज़ के 32-33 साल बाद टीवी पर आने से इसके एक्टर्स काफी खुश हैं. अपने पुराने दिनों को याद कर रहे हैं. इंटरव्यूज़ दे रहे हैं. ऐसा ही एक इंटरव्यू आया है बी.आर. चोपड़ा की ‘महाभारत’ में अर्जुन का रोल करने वाले एक्टर फिरोज़ खान का. वो एक्टर, जिसने अर्जुन का रोल करने के बाद अपना नाम ही अर्जुन रख लिया. हिंदुस्तान टाइम्स के साथ हुई हालिया बातचीत में उन्होंने बताया कि ये रोल उन्हें कैसे मिला और उनके फिरोज खान से अर्जुन बनने के पीछे की कहानी क्या है.

अर्जुन बताते हैं कि जब वो ऑडिशन के लिए बी.आर. चोपड़ा के ऑफिस पहुंचे, तो वहां उन्हें दीपक पराशर, राज बब्बर और गोविंदा जैसे एक्टर्स दिखाई दिए. गोविंदा के कहने पर उन्होंने ‘महाभारत’ का ऑडिशन दिया. उन्हें हिंदी में दो पन्ने की स्क्रिप्ट दी गई थी. लेकिन हिंदी में हाथ तंग होने की वजह से उन्होंने गोविंदा से उन लाइनों को पढ़ने के लिए कहा और अपनी सहूलियत के लिए अंग्रेज़ी में नोटडाउन कर लिया. अर्जुन को लगता है कि अर्जुन का किरदार निभाना उनकी किस्मत में लिखा हुआ था. जबकि रोल पहले जैकी श्रॉफ करने वाले थे. अर्जुन बताते हैं-

”उनके (बी.आर.चोपड़ा) जाने के एक हफ्ते बाद तक जब मुझे फोन नहीं आया, तो मैं वापस उनके ऑफिस पहुंच गया. वहां मुझे किरदार का कॉस्ट्यूम पहनने और मूंछें लगाने को कहा गया. ये सब करने के बाद मैं पहले माले पर चोपड़ा साहब के केबिन में पहुंचा. वहां वो शो के राइटर्स राही मासूम रज़ा और पंडित नरेंद्र शर्मा के साथ बैठे हुए थे. उन्होंने मुझसे कहा कि मैं अर्जुन के रोल के लिए चुन लिया गया हूं.”

फिरोज़ खान को महाभारत में ट्राय करने के लिए गोविंद ने कहा था.
फिरोज़ खान को महाभारत में ट्राय करने के लिए गोविंद ने कहा था.

अर्जुन बताते हैं कि ‘महाभारत’ ने प्रोफेशनली उनके लिए कई दरवाज़े खोल दिए. वो जब भी किसी प्रोड्यूसर को फोन करके अपना नाम बताते, तो सबको लगता कि ‘कुर्बानी’ वाले फिरोज़ खान ने फोन किया है. लेकिन मामला समझने के बाद वो दोबारा फोन करने को कहते. इस चीज़ से अर्जुन बड़ा अपमानित महसूस करते. बी.आर. चोपड़ा और राही मासूम रज़ा ने उन्हें ये सुझाव दिया कि उन्हें अपना नाम फिरोज़ से बदलकर अर्जुन ही रख लेना चाहिए. अर्जुन कहते हैं-

”इस नाम (अर्जुन) ने मुझे वो सबकुछ दिया, जो मैंने कभी सपने में देखा था. और कमाल की बात ये कि मेरी मां भी मुझे अर्जुन के नाम से ही बुलाने लगीं.”

महाभारत के पोस्टर पर युधिष्ठिर और द्रौपदी के साथ अर्जुन.
महाभारत के पोस्टर पर युधिष्ठिर और द्रौपदी के साथ अर्जुन.

‘महाभारत’ जैसे पौराणिक शो में काम करने के अलावा अर्जुन 50 से ज़्यादा हिंदी फिल्मों में नज़र आए. इसमें ‘क़यामत से कयामत तक’, ‘करण अर्जुन’ और ‘साजन चले ससुराल’ जैसी फिल्में भी शामिल हैं.


वीडियो देखें: ‘रामायण’ की टीआरपी से खुश होने वाले ‘महाभारत’ के बारे में जानकर हिल जाएंगे

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

गलवान घाटी में झड़प के बाद भी चीनी सेना मौजूद, 200 से ज्यादा ट्रक और टेंट लगाए

सैटेलाइट से ली गई तस्वीरों में यह सामने आया है.

पेट्रोल-डीजल के दाम में फिर से उबाल क्यों आ रहा है?

रोजाना इनके दाम घटने-बढ़ने की पूरी कहानी.

उत्तर प्रदेश में एक IPS अधिकारी के ट्रांसफर पर क्यों तहलका मचा हुआ है?

69000 भर्ती में कार्रवाई का नतीजा ट्रांसफर बता रहे लोग. मगर बात कुछ और भी है.

गलवान घाटी: LAC पर भारत के तीन नहीं, 20 जवान शहीद हुए हैं, कई चीनी सैनिक भी मारे गए

लड़ाई में हमारे एक के मुकाबले तीन थे चीनी सैनिक.

गलवान घाटीः वो जगह जहां भारत-चीन के बीच झड़प हुई

पिछले कुछ समय से यहां पर दोनों देशों की सेनाएं आमने-सामने हैं.

लद्दाख: गलवान घाटी में भारत-चीन झड़प पर विपक्ष के नेता क्या बोले?

सेना के एक अधिकारी समेत तीन जवान शहीद हुए हैं.

क्या परवीन बाबी की राह पर चल पड़े थे सुशांत?

मुकेश भट्ट ने एक इंटरव्यू में कहा.

सुशांत के पिता और उनके विधायक भाई ने डिप्रेशन को लेकर क्या कहा?

फाइनेंशियल दिक्कत की ख़बरों पर भी बोले.

मुंबई में सुशांत सिंह राजपूत को दी गई अंतिम विदाई, ये हस्तियां हुईं शामिल

मुंबई में तेज बारिश के बीच अंतिम संस्कार.

सुशांत ने किस दोस्त को आख़िरी कॉल किया था?

दोस्त फोन रिसीव न कर सका. जब तक कॉल बैक किया, देर हो चुकी थी.