Submit your post

Follow Us

14 साल के दलित बच्चे के साथ जो हुआ उसे जानकर गुस्सा भी आएगा और शर्म भी!

तमिलनाडु का धर्मपुरी जिला. यहां कथित तौर पर सवर्ण व्यक्ति की जमीन पर शौच करने पर 14 साल के दलित बच्चे को पीटने का मामला सामने आया है. आरोप है कि बच्चे को हाथों से शौच साफ करने को मजबूर किया गया. मामला 15 जुलाई का है. इस बारे में पुलिस में शिकायत की गई है. लेकिन अभी तक आरोपी पकड़ में नहीं आया है.

क्या है मामला 

इंडिया टुडे की अक्षया नाथ की खबर के मुताबिक मामला धर्मपुरी जिले के पेन्नागारम का है. पीड़ित बच्चे ने बताया कि 15 जुलाई को शाम पांच बजे शौच के लिए गया था. उसने बताया,

के राजशेखरन नाम के व्यक्ति ने मुझे शौच करते देख लिया. यह जमीन उसी की थी. देखते ही वह चिल्लाने लगा. उसने जाति के आधार पर गालियां दीं. फिर पिटाई करने लगा. उसने कहा कि शौच को साफ करो. चाहे इसे खाओ या हाथ से उठाकर लेकर जाओ.

रिपोर्ट के अनुसार, बाद में बच्चे को हाथ से शौच उठाकर ले जाना पडा.

गांव के वीरभद्रन नाम के एक शख्स ने इस बारे में कहा कि उसने राजशेखरन को बच्चे को डांटते देखा था. वह बच्चे को बचाने गया. उसने राजशेखरन से शांत होने को कहा, लेकिन वह नहीं माना. उसने बच्चे की पिटाई भी. वीरभद्र ने कहा कि जब राजशेखरन ने उसकी बात नहीं मानी तो वह बच्चे के घरवालों को इस बारे में बताने गया. पीछे से उसने बच्चे से उसके हाथों शौच उठाने को मजबूर किया.

बच्चे के पिता ने दर्ज कराया केस

वहीं आकाश के पिता कृष्णमूर्ति ने कहा कि जब उन्हें घटना का पता चला तो वे हैरान रह गए. उन्होंने इस बारे में पेन्नागारम थाने में रिपोर्ट लिखाई. पुलिस ने आरोपी राजशेखरन के खिलाफ एससी-एसटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है. साथ ही बच्चे से मारपीट और उससे गंदगी साफ कराने का मामला भी लिखा गया है.

घटना के बाद से सदमे में है बच्चा

कृष्णमूर्ति का कहना है कि उनका बेटा इस घटना से सदमे में है. वह किसी से भी बात नहीं कर रहा है. उनका कहना है कि सरकार को इस तरह के लोगों के खिलाफ कड़ा कदम उठाना चाहिए. ऐसे लोगों को कड़ी सजा देनी चाहिए, तभी जाति के आधार पर होने वाले अपराध रुकेंगे. पेन्नागारम थाने के इंस्पेक्टर पेरियार ने कहा कि मामला 16 जुलाई को दर्ज कराया गया है. आरोपी की तलाश की जा रही है. वह अभी फरार चल रहा है.


Video: दुर्गंध आ रहे सुटकेस को खोलने पर जो मिला वो किसी ने नहीं सोचा था

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

राजस्थान: तीन ऑडियो क्लिप और तीन बड़े नेताओं के नाम, क्या है पूरी कहानी

राजस्थान की राजनीति में उथल-पुथल जारी है.

क्या है रिलायंस जियो की नई पेशकश जियो टीवी+

जियो टीवी+ की सारी खासियतों पर एक नजर.

कानपुर कांड का एक और फ़ोन कॉल, 'आसपास पुलिस हो, तो बस खांस देना, हम समझ जाएंगे'

क्या घर वाले छिपे आरोपियों के बारे में जानते थे?

ऐपल ने सैमसंग को 7100 करोड़ का जुर्माना किस गलती के लिए चुकाया?

इसके पीछे ऐपल और सैमसंग के बीच का एक क़रार है.

मोदी के 'आत्मनिर्भर भारत' को समर्पित करते हुए मुकेश अंबानी बोले, 'जियो का 5G तैयार हुआ पड़ा है!'

सोचा, केवल चीन और अमेरिका जैसे देशों को ही इस रेस में शामिल मान रहे लोगों को बता दें.

जांचे बिना ही पुलिस ने शख्स को मरा घोषित कर दिया, फोटोग्राफर ने बचाया

कोरोना के डर से पुलिस ने छूकर भी नहीं देखा.

यूपी पुलिस ने अपनी ही FIR में माना, 'हां, विकास दुबे की गाड़ी बदली गई थी'

गोली के खोखे बारिश और घासफूस में खो गए.

राजस्थान के झमेले के बीच सचिन पायलट ने बीजेपी का दिल तोड़ने वाली बात कह दी है

CM अशोक गहलोत से क्यों ग़ुस्सा हैं, बता दिया सचिन पायलट ने.

कानपुर कांड की रात वहां मौजूद औरत ने फोन करके अपनी भाभी को क्या बताया, सुनिए ऑडियो

“पुलिस वाले हैं. विकास भैया ने मारा है, इन सब लोगों ने मारा है.”

यूपी पुलिस विकास दुबे के घर ये वाले हथियार खुद नहीं खोज पाई, आरोपी ने बताया कहां रखे हैं

इसके पहले पुलिस और फ़ोरेंसिक टीम विकास दुबे का घर ढहाकर छान चुकी है.