Submit your post

Follow Us

तबलीगी जमात मामले में दर्ज हुई FIR में क्या लिखा है, किन लोगों का नाम हैं?

दिल्ली के निज़ामुद्दीन मरकज़ में हुए तबलीगी जमात मामले में मरकज़ मैनेजमेंट के ख़िलाफ FIR दर्ज़ की गई है. इसमें तबलीगी जमात प्रमुख मौलाना मोहम्मद साद समेत सात लोगों के नाम हैं. इनके ख़िलाफ़ आईपीसी की धारा 188, 279, 120B और महामारी ऐक्ट की धारा 3 के तहत केस दर्ज किया गया है.  इसमें मौलाना साद के अलावा मोहम्मद अशरफ, मोहम्मद सलमान, मुफ्ती शहज़ाद. डॉक्टर जीशान, मुर्सलीन सैफी साद, यूनुस के नाम हैं. मौलाना साद की तलाश जारी है. हालांकि एक ऑडियो में उन्होंने कहा है कि उन्होंने ख़ुद को क्वारंटीन किया हुआ है.

और क्या है FIR में

#FIR में कहा गया है कि इन लोगों ने जानबूझकर आदेशों का उल्लंघन किया.

# मरकज़ के लोगों ने 16 मार्च के दिल्ली सरकार के आदेश का उल्लंघन किया.

# 21 मार्च को कैंपस खाली करने को कहा गया लेकिन कोई ध्यान नहीं दिया गया.

# इसमें सोशल मीडिया में वायरल एक ऑडियो का ज़िक्र है, जिसमें कथित तौर पर मौलाना साद लोगों से सरकार का आदेश ना मानने को कह रहे हैं.

# पुलिस की टीम ने 26, 27, 28, 29 और 30 मार्च को परिसर का मुआयना किया. कोई भी सोशल डिस्टेंसिंग को फॉलो नहीं कर रहा था. न ही किसी ने मास्क लगाया था और न ही सैनिटाइज़र का इस्तेमाल हो रहा था.

# दूसरों की जान जोखिम में डाली गई.

एफआईआर की कॉपी.
एफआईआर की कॉपी.

 

मार्च में दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में आलमी मरकज़ बंगले वाली मस्जिद में एक धार्मिक कार्यक्रम हुआ. इसमें देश के कई राज्यों और विदेशों से लोग हज़ारों लोग शामिल हुए. कार्यक्रम के बाद सब लोग अपने-अपने ठिकाने लौट गए. अब इसमें शामिल हुए सैकड़ों लोगों को कोरोना वायरस इंफेक्शन होने का पता चला है. कई लोग दिल्ली से अन्य राज्यों के लिए निकल गए थे तो ऐसे में उन्हें खोजा जा रहा है ताकि उन्हें क्वारंटीन किया जा सके. इन लोगों के संपर्क में जो भी लोग आए हैं उन्हें भी खोजा जा रहा है. कई कोरोना संक्रमित लोगों के तार इस कार्यक्रम से जुड़े हैं.

कई राज्य हाई अलर्ट पर

निज़ामुद्दीन मरकज़ में शामिल कई लोग अलग-अलग राज्यों में जा चुके हैं. इसे देखते हुए कई ज़िलों को हाई अलर्ट पर रखा गया है. यहां से निकले लोग दूसरे राज्यों में गए हैं, जिससे कोरोना वायरस फैलने का खतरा बढ़ गया है. उत्तर प्रदेश के 157 लोगों के शामिल होने के बाद प्रदेश के 19 जिलों को अलर्ट पर रखा गया. गृह मंत्रालय की तरफ से दी गई जानकारी के अनुसार 1 अप्रैल तक कार्यक्रम से लौटे 1,051 लोगों को क्वारंटीन किया गया है.

दुनियाभर में कोरोना वायरस के सात लाख से ज्यादा एक्टिव केस हैं. 47 हज़ार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है.

कोरोना ट्रैकर:


निज़ामुद्दीन के तबलीगी जमात से लौटने के बाद किन राज्यों में कोरोना के मरीज़ पाए गए?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

यूपी: औरैया में दो ट्रक टकराने से 24 मज़दूर मारे गए, योगी ने कई पुलिसवालों को सस्पेंड किया

पीएम मोदी ने घटना पर शोक जताया है.

घर-घर खाना पहुंचाने वाली ये कंपनी 600 कर्मचारियों को नौकरी से निकाल रही है

राहत वाली बात ये है कि छह महीने तक आधी सैलरी मिलती रहेगी.

बंगाल में हफ्तेभर से क्या बवाल चल रहा है, जिसमें 129 लोग गिरफ्तार हो चुके हैं

‘तुम कोरोना फैला रहे हो’ कहकर हमला किया, हिंसा भड़की.

लंबे वक्त तक क्रिकेट के नक्शे पर पाकिस्तान को जिंदा रखा था इस जोड़ी ने

वो दिन, जब मिस्बाह-उल-हक़ और यूनिस खान ने क्रिकेट को अलविदा कहा

कश्मीर : चेकप्वाइंट पर गाड़ी नहीं रोकी तो आम नागरिक को CRPF ने गोली मार दी?

क्या है घटना का सच?

रेलवे ने टिकट कटा चुके लोगों को बड़ा झटका दिया है

इसका श्रमिक और स्पेशल ट्रेनों पर क्या असर पड़ेगा?

20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज में से पहले दिन वित्त मंत्री ने क्या-क्या ऐलान किया?

20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज की डिटेल दी.

पीएम मोदी ने जिस Y2K क्राइसिस का ज़िक्र किया, वो क्या था?

पीएम ने 12 मई को देश को संबोधित किया.

अपने भाषण में नरेंद्र मोदी ने अगले लॉकडाउन के बारे में ये हिंट दे दिया है

मोदी के 34 मिनट के भाषण में काम की बात क्या थी?

ट्रेन के बाद अब फ़्लाइट शुरू होगी तो यात्रा के क्या नियम होंगे?

केबिन लगेज, जांच और बैठने की व्यवस्था को लेकर क्या नियम हैं?