Submit your post

Follow Us

तबलीगी जमात मामले में दर्ज हुई FIR में क्या लिखा है, किन लोगों का नाम हैं?

दिल्ली के निज़ामुद्दीन मरकज़ में हुए तबलीगी जमात मामले में मरकज़ मैनेजमेंट के ख़िलाफ FIR दर्ज़ की गई है. इसमें तबलीगी जमात प्रमुख मौलाना मोहम्मद साद समेत सात लोगों के नाम हैं. इनके ख़िलाफ़ आईपीसी की धारा 188, 279, 120B और महामारी ऐक्ट की धारा 3 के तहत केस दर्ज किया गया है.  इसमें मौलाना साद के अलावा मोहम्मद अशरफ, मोहम्मद सलमान, मुफ्ती शहज़ाद. डॉक्टर जीशान, मुर्सलीन सैफी साद, यूनुस के नाम हैं. मौलाना साद की तलाश जारी है. हालांकि एक ऑडियो में उन्होंने कहा है कि उन्होंने ख़ुद को क्वारंटीन किया हुआ है.

और क्या है FIR में

#FIR में कहा गया है कि इन लोगों ने जानबूझकर आदेशों का उल्लंघन किया.

# मरकज़ के लोगों ने 16 मार्च के दिल्ली सरकार के आदेश का उल्लंघन किया.

# 21 मार्च को कैंपस खाली करने को कहा गया लेकिन कोई ध्यान नहीं दिया गया.

# इसमें सोशल मीडिया में वायरल एक ऑडियो का ज़िक्र है, जिसमें कथित तौर पर मौलाना साद लोगों से सरकार का आदेश ना मानने को कह रहे हैं.

# पुलिस की टीम ने 26, 27, 28, 29 और 30 मार्च को परिसर का मुआयना किया. कोई भी सोशल डिस्टेंसिंग को फॉलो नहीं कर रहा था. न ही किसी ने मास्क लगाया था और न ही सैनिटाइज़र का इस्तेमाल हो रहा था.

# दूसरों की जान जोखिम में डाली गई.

एफआईआर की कॉपी.
एफआईआर की कॉपी.

 

मार्च में दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में आलमी मरकज़ बंगले वाली मस्जिद में एक धार्मिक कार्यक्रम हुआ. इसमें देश के कई राज्यों और विदेशों से लोग हज़ारों लोग शामिल हुए. कार्यक्रम के बाद सब लोग अपने-अपने ठिकाने लौट गए. अब इसमें शामिल हुए सैकड़ों लोगों को कोरोना वायरस इंफेक्शन होने का पता चला है. कई लोग दिल्ली से अन्य राज्यों के लिए निकल गए थे तो ऐसे में उन्हें खोजा जा रहा है ताकि उन्हें क्वारंटीन किया जा सके. इन लोगों के संपर्क में जो भी लोग आए हैं उन्हें भी खोजा जा रहा है. कई कोरोना संक्रमित लोगों के तार इस कार्यक्रम से जुड़े हैं.

कई राज्य हाई अलर्ट पर

निज़ामुद्दीन मरकज़ में शामिल कई लोग अलग-अलग राज्यों में जा चुके हैं. इसे देखते हुए कई ज़िलों को हाई अलर्ट पर रखा गया है. यहां से निकले लोग दूसरे राज्यों में गए हैं, जिससे कोरोना वायरस फैलने का खतरा बढ़ गया है. उत्तर प्रदेश के 157 लोगों के शामिल होने के बाद प्रदेश के 19 जिलों को अलर्ट पर रखा गया. गृह मंत्रालय की तरफ से दी गई जानकारी के अनुसार 1 अप्रैल तक कार्यक्रम से लौटे 1,051 लोगों को क्वारंटीन किया गया है.

दुनियाभर में कोरोना वायरस के सात लाख से ज्यादा एक्टिव केस हैं. 47 हज़ार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है.

कोरोना ट्रैकर:


निज़ामुद्दीन के तबलीगी जमात से लौटने के बाद किन राज्यों में कोरोना के मरीज़ पाए गए?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

सरकार के साथ बातचीत में शामिल इस यूनियन के नेता को NIA ने समन क्यों भेजा?

सरकार के साथ बातचीत में शामिल इस यूनियन के नेता को NIA ने समन क्यों भेजा?

NIA का समन मिलने के बाद क्या बोले बलदेव सिंह सिरसा.

कोविड-19 वैक्सीन लॉन्च करते हुए PM मोदी ने कही ये ज़रूरी बातें

कोविड-19 वैक्सीन लॉन्च करते हुए PM मोदी ने कही ये ज़रूरी बातें

आज से देशभर में वैक्सीनेशन शुरू.

BJP का तमिलनाडु प्लान क्या है?

BJP का तमिलनाडु प्लान क्या है?

क्यों BJP को अबकी तमिलनाडु में अपनी जगह बनती दिख रही है?

कृषि कानून पर फैसले के बाद वो सवाल, जिनके जवाब सुप्रीम कोर्ट को देने चाहिए

कृषि कानून पर फैसले के बाद वो सवाल, जिनके जवाब सुप्रीम कोर्ट को देने चाहिए

SC ने फैसले में ऐसा क्या कह दिया, जिस पर सवाल उठ रहे हैं.

सुप्रीम कोर्ट ने जिन चार लोगों की कमिटी बनाई है, क्या उनमें ज्यादातर कृषि कानूनों के समर्थक हैं?

सुप्रीम कोर्ट ने जिन चार लोगों की कमिटी बनाई है, क्या उनमें ज्यादातर कृषि कानूनों के समर्थक हैं?

किसान आंदोलन को लेकर सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले से किसे ख़ुश होना चाहिए?

क्या सुप्रीम कोर्ट ने तीनों कृषि कानूनों को ग़लत माना?

क्या सुप्रीम कोर्ट ने तीनों कृषि कानूनों को ग़लत माना?

क्या सुप्रीम कोर्ट कृषि कानूनों को होल्ड पर रखने जा रही है?

डॉनल्ड ट्रम्प के समर्थकों ने अमेरिका की राजधानी में मचाया दंगा, 4 लोगों की मौत, वॉशिंगटन में कर्फ़्यू

डॉनल्ड ट्रम्प के समर्थकों ने अमेरिका की राजधानी में मचाया दंगा, 4 लोगों की मौत, वॉशिंगटन में कर्फ़्यू

फ़ेसबुक, ट्विटर और इंस्टाग्राम ने ट्रम्प पर बैन लगा दिया है.

चांदनी चौक: हनुमान मंदिर तोड़ने के पीछे की असल वजह क्या है, जान लीजिए

चांदनी चौक: हनुमान मंदिर तोड़ने के पीछे की असल वजह क्या है, जान लीजिए

BJP, AAP और कांग्रेस मंदिर ढहाने का ठीकरा एक दूसरे पर फोड़ रही हैं.

शाहजहांपुर बॉर्डर से हरियाणा में घुस रहे किसानों पर पुलिस ने किया लाठीचार्ज

शाहजहांपुर बॉर्डर से हरियाणा में घुस रहे किसानों पर पुलिस ने किया लाठीचार्ज

किसान नेताओं ने क्या ऐलान किया है?

कॉमेडियन मुनव्वर फारुकी को किस मामले में जेल भेज दिया गया है?

कॉमेडियन मुनव्वर फारुकी को किस मामले में जेल भेज दिया गया है?

मध्य प्रदेश में बीजेपी विधायक के बेटे ने दर्ज करवाया था केस.