Submit your post

Follow Us

ये कैसा कैच जिसे पकड़कर भी विकेट नहीं ले पाई फील्डिंग वाली टीम?

इंग्लैंड में चल रही T20 काउंटी लीग के फाइनल में एक कैच ने फ़ैन्स को हैरान कर दिया. केंट और समरसेट के बीच हुए इस मैच में केंट के खिलाड़ी जॉर्डन कॉक्स ने बाउंड्री पर एक बेहतरीन कैच लपका, लेकिन अंपायर ने इसके बाद भी बल्लेबाज को आउट नहीं दिया. अंपायर का मानना था कि जॉर्डन के साथी खिलाड़ी ने बाउंड्री के बाहर से कैच पकड़ने में उनकी मदद की.

दरअसल समरसेट की पारी के दसवें ओवर में जॉर्डन ने बाउंड्री के अंदर रहते हुए एक कैच पकड़ा, जिसे अंपायर ने इसलिए अमान्य घोषित कर दिया क्योंकि कैच पकड़ने के वक़्त जॉर्डन अपनी टीम के दूसरे खिलाड़ी के साथ संपर्क में थे, और वह बाउंड्री लाइन के संपर्क में था. अंपायर ने कैच को इस आधार भी अमान्य बताया कि दोनों, या दोनों में से कोई एक खिलाड़ी कैच पकड़ने में मदद करने के लिए जानबूझकर दूसरे खिलाड़ी से टकराया. सीधे शंब्दों में कहें तो अंपायर का मानना था कि दोनों खिलाड़ी गलती से नहीं टकराए.

दरअसल हुआ यह कि केंट के जो डेनली की गेंद पर समरसेट के विल स्मीड ने मिडविकेट की दिशा में शॉट लगाया. गेंद हवा में काफी ऊपर गई. मिडविकेट बाउंड्री पर खड़े जॉर्डन  आसानी से गेंद के नीचे आए लेकिन उन्होंने जैसे ही गेंद को लपका, तभी उन्हीं की टीम के बैल-ड्रमंड रपटते हुए आए और जॉर्डन से जा भिड़े. जिस समय गेंद जॉर्डन के हाथ में थी उस समय बैल-ड्रमंड बाउंड्री और जॉर्डन दोनों के साथ संपर्क में थे.

और इसीलिए अंपायर ने आउट देने से मना कर दिया. हालांकि बाद में जॉर्डन ने इसी ओवर में इसी बल्लेबाज का कैच पकड़ा और इस बार बल्लेबाज को आउट भी दिया गया.

मैच की बात करें तो शनिवार 18 सितंबर को हुए वाइटैलिटी T20 ब्लास्ट के फाइनल में समरसेट की टीम ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाज़ी का फैसला किया. केंट की टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 20 ओवर्स में सात विकेट खोकर 167 रन बनाए. केंट के लिए सर्वाधिक रन जॉर्डन कॉक्स ने ही बनाए. जॉर्डन ने 28 गेंदों में 58 रनों की पारी खेली.

जवाब देने उतरी समरसेट की टीम 20 ओवर्स में महज़ 149 रन रन ही बना पाई. और 25 रन से हार गई. अपनी 58 रनों की पारी के लिए जॉर्डन कॉक्स को मैन ऑफ द मैच मिला.


IPL 2021: सनराइजर्स हैदराबाद की वापसी UAE में किन पर निर्भर है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

क्या समीर वानखेड़े को NCB जोनल डायरेक्टर पद से हटा दिया गया है?

Covaxin को WHO के एक्सपर्ट पैनल से इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिली

Covaxin को WHO के एक्सपर्ट पैनल से इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिली

स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने पीएम मोदी के लिए क्या कहा?

आज आए चुनाव नतीजे में ममता, कांग्रेस और BJP को कहां-कहां जीत हार का सामना करना पड़ा?

आज आए चुनाव नतीजे में ममता, कांग्रेस और BJP को कहां-कहां जीत हार का सामना करना पड़ा?

उपचुनाव के नतीजे एक जगह पर.

जेल से बाहर आए शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान, मन्नत के लिए रवाना

जेल से बाहर आए शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान, मन्नत के लिए रवाना

3 अक्टूबर को आर्यन खान को गिरफ्तार किया गया था.

वरुण गांधी ने कहा- UP में किसानों का फसल जलाना सरकार के लिए शर्म की बात, जेल कराऊंगा

वरुण गांधी ने कहा- UP में किसानों का फसल जलाना सरकार के लिए शर्म की बात, जेल कराऊंगा

किसानों के बहाने फिर बीजेपी पर निशाना साध रहे वरुण गांधी?