Submit your post

Follow Us

कोरोना क्राइसिस में भी सिल्वर लाइनिंग ढूंढ ली इस 'बावरे' गीतकार ने

कोरोना की वजह से डर और अशांति का माहौल है. बहुत से कलाकार सोशल मीडिया पर लोगों को घर रहने की हिदायत दे रहे हैं. तो कुछ कलाकार लॉकडाउन को कम बोरिंग बनाने का काम कर रहे हैं.

कल स्वानंद किरकिरे भी ऑनलाइन लाइव आए. ‘इंडियन एक्सप्रेस’ के फेसबुक पेज से. फैंस के लिए गाने गाए और बातचीत की. उनके बहुत से सवालों के जवाब दिए. किसी ने पूछा कि क्या इस ग्लोबल हेल्थ क्राइसिस में कुछ अच्छा देखा जा सकता है. तो उन्होंने आशावादी सोच के साथ कहा –

“मुझे इसमें पॉज़िटिव दिख रहा है, क्योंकि मुझे लगता है कि अगर हम एक-दूसरे से सामाजिक दूरी बनाए रखेंगे, तो हम इसे सही टाइम पर कंट्रोल कर पाएंगे. उसके बाद हम एक नई दुनिया देखेंगे, जिसमें हम मिज़ाइल नहीं बना रहे होंगे. बल्कि वायरस और टीकों पर रिसर्च कर रहे होंगे. विज्ञान पर ज़्यादा पैसा खर्च कर रहे होंगे.”

उनसे पूछा गया कि उनके लिए इस सोशल डिस्टैन्सिंग का सबसे बढ़िया परिणाम क्या रहा है. तो उनका कहना था –

“यह कि मैं अपने मां-बाप के साथ समय बिता रहा हूं. और मैं अपनी खिड़की से पंछियों को देख पा रहा हूं. चहचहाते हुए सुन रहा हूँ. जो मैंने बहुत लंबे समय से नहीं देखा था. मैंने तो इस पर एक कविता भी लिख दी. जिसका शीर्षक है – ये पंछियों की साजिश है.”

उनकी इस छोटी सी खूबसूरत कविता को यहां इंस्टाग्राम पर पढ़ा जा सकता है –


View this post on Instagram

A post shared by Swanand Kirkire (@swanandkirkire) on

उन्होंने इस बात पर अफ़सोस जताया कि लोग लॉकडाउन को सही से फॉलो नहीं कर रहे हैं. बोले कि हमारे देश में लोगों में एक अजीब आदत और विश्वास है कि उनको कुछ नहीं होगा. उन्होंने सभी लोगों को सोशल डिस्टैन्सिंग बनाए रखने के लिए कहा. ताकि वायरस को फैलने से रोका जा सके.

स्वानंद किरकिरे हिंदी और मराठी फिल्मों में गीतकार, सिंगर, एक्टर, और राइटर हैं. सबसे पहले उन्होंने ‘हज़ारों ख्वाहिशें ऐसी’ फिल्म के लिए गाने लिखे और  गाए थे. ‘बावरा मन देखने चला एक सपना’. पहली फिल्म से ही उन्होंने बहुत से हार्डकोर फैन पा लिए थे. उसके बाद ‘परिणीता’, ‘लगे रहो मुन्ना भाई’, ‘खोया खोया चांद’, ‘थ्री इडियट्स’, ‘बर्फी’, ‘मसान’ और ‘विकी डोनर’ जैसी फिल्मों में अपनी कलम और आवाज़ का जादू बिखेरते रहे हैं. बीच में एक्टिंग पर भी हाथ आज़माते रहे हैं.

इस वीडियो का आनंद लीजिए, जहां वे घर पर बैठे हुए ‘बर्फी’ फिल्म का गाना गा रहे हैं –

 

 

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Swanand Kirkire (@swanandkirkire) on

2018 में उन्हें मराठी फिल्म ‘चुंबक’ के लिए ‘बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर’ का नेशनल अवॉर्ड मिला. इससे पहले ‘बेस्ट लिरिक्स’ के लिए दो नेशनल अवॉर्ड हासिल कर चुके हैं – ‘लगे रहो मुन्ना भाई’ के गाने ‘बंदे में था दम, वंदे मातरम’ के लिए (2006), और ‘थ्री इडियट्स’ के गाने ‘बहती हवा सा था वो’ के लिए (2009). ‘मसान’ फिल्म में उनका गाया हुआ गाना ‘तू किसी रेल सी गुज़रती है’ भी म्यूज़िक लवर्स के बीच बहुत पॉपुलर हुआ था.


वीडियो देखें – भयंकर वायरल: सेफ हैंड चैलेंज के दौरान एकता कपूर क्यों ट्रोल हुईं?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

सरकार ने दिया कोरोना पर राहत पैकेज, 80 करोड़ को मुफ्त अनाज और बहुत कुछ

वित्त मंत्री ने कहा, हर व्यक्ति के हाथ में अन्न और धन हमारी पहली प्राथमिकता.

कोरोना के बीच सरकार ने गठिया वाली दवा के एक्सपोर्ट पर रोक क्यों लगा दी?

इस दवा का कोरोना के इलाज में क्या रोल है?

रात को लॉकडाउन के कायदे बताने के बाद सुबह हुजूम के बीच कहां निकल गए सीएम योगी?

सीएम ने लोगों से कहा था, 'घर पर ही रहें, बाहर न निकलें.'

21 दिन के लॉकडाउन में आपको कौन-कौन सी छूट मिलेगी, यहां जान लीजिए

कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए पूरा देश 15 अप्रैल तक लॉकडाउन रहेगा.

आज आधी रात से पूरे देश में 21 दिन का लॉकडाउन, पीएम बोले- एक तरह से ये कर्फ्यू ही है

कोरोना वायरस के खिलाफ सबसे बड़ा फैसला.

कोरोना वायरस: उत्तर प्रदेश के 17 नहीं, अब पूरे 75 जिलों को लॉकडाउन कर दिया गया है

देश में कोरोना वायरस इंफेक्शन के मामले 500 से ऊपर जा चुके हैं.

3 महीने तक ATM से पैसे निकलना फ्री, अब मिनिमम बैलेंस का भी झंझट नहीं

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में ऐलान किया.

कोरोना वायरस की वजह से अब जो काम रुका है, उसका असर 17 राज्यों पर पड़ेगा

क्या मतलब निकला इतनी उठा-पटक का?

चौथी बार MP के सीएम बने शिवराज, बोले- कोरोना से मुकाबला मेरी पहली प्राथमिकता

शिवराज सिंह चौहान ने शपथ लेते ही ये रिकॉर्ड भी बना दिया है.

कोरोना वायरसः लॉकडाउन में घर से निकलने वालों पर क्या एक्शन लिया जा रहा है?

देश के 75 जिले लॉकडाउन हैं.