Submit your post

Follow Us

कोरोना जैसी महामारी पर बन रही फिल्म में दुनिया को बचाने वाले हीरो बनेंगे सुशांत सिंह राजपूत?

स्टार प्लस का सीरियल ‘क्योंकि सास भी कभी बहू थी’ बहुत पॉपुलर हुआ. इसके पहले 82 एपिसोड के डायलॉग लिखे थे आनंद गांधी ने. उन्होंने ‘कहानी घर घर की’ सीरियल का स्क्रीनप्ले भी लिखा. बाद में यानी 2013 में उन्होंने ‘शिप ऑफ़ थीसियस’ जैसी फिल्म बनाई. 2018 में आई ‘तुम्बाड़’ के राइटर, क्रिएटिव डायरेक्टर भी वही थे. अब उन्होंने अपनी नई फिल्म पर काम करना शुरू कर दिया है. फिल्म का नाम रखा है ‘एमरजेंस’, जिसका मतलब होता है उभरना.

कहानी है चार वैज्ञानिकों की, जो दुनिया को एक महामारी से बचाने की कोशिश कर रहे हैं. देखा जाए तो वही हालात, जिनसे दुनिया अभी गुज़र रही है. लेकिन फिल्म की कहानी साल 2025 में बेस्ड है. आनंद ने फिल्म को लेकर एक स्टेटमेंट भी जारी किया:

“चूंकि अब हम सभी को पता है कि महामारी के बीच होना कैसा होता है, मैं ऑडियंस को सीधे इस बात की समझ पर ले जा सकता हूं कि एक पैरासाइट (परजीवी) अपने होस्ट के व्यवहार में किस तरह हेरफ़ेर कर सकता है. अब इस विचार को ज़्यादा अच्छे से समझा जा रहा है कि हमारे (बैक्टीरिया, वायरस, फंगी जैसे) सूक्ष्म जनजीवन से हमारा व्यवहार प्रभावित होता है. मैं इस महामारी की सेटिंग को इस्तेमाल करना चाहता हूं मानव की पहचान और सामाजिक व्यवहार को गहराई से परखने-समझने के लिए.”

फिल्म में सुशांत सिंह राजपूत लीड रोल में दिखेंगे. उन्हें इंस्टाग्राम पर अक्सर अपने टेलीस्कोप से अंतरिक्ष की खूबसूरती को निहारते हुए देखा जाता है. अब उनका यही पोस्ट देख लीजिए, जिसमें उन्होंने ‘जुपिटर, सैटर्न, और मार्स (ऊपर से नीचे)’ दिखाए हैं:

सुशांत कभी नटराज के तांडव नृत्य में क्वांटम फील्ड थ्योरी की झलक देखते हैं, तो कभी मानव जीवन और चेतना पर गहरी चर्चा करते हैं. इस फोटो में देखिए कि कैसे संतरी रंग का सूरज समुद्र में डूबने वाला है, और सुशांत के फैंस उनकी इस गहरी सोच के समुद्र में:

“हम एक दूसरे में जो कुछ देखते हैं, यह सब सितारों में उपजा था. अगर ब्रह्मांड का लेखा-जोखा किया जाए, तो हम 90 प्रतिशत सितारों की धूल से बने हुए हैं. और सितारों की इस धूल से ही वह ‘ज़िंदगी’ बन गई है, जो आसमान में दूसरे सितारों को चमकता हुआ देख सकती है. वे हमसे कितने दूर दिखाई देते हैं, लेकिन (चूंकि हम स्टारडस्ट से बने हैं) हम उनके बहुत क़रीब हैं. ये कितना अद्भुत है न!”

 

अब इस फिल्म में आनंद गांधी और सुशांत की जोड़ी काम करेगी तो उम्मीद है कि कुछ अलग ही फिल्म बनेगी. हालांकि, लॉकडाउन है तो फिलहाल ये साफ नहीं है कि फिल्म की शूटिंग कब तक शुरू होगी और रिलीज़ कब तक हो पाएगी.


 

वीडियो देखें: ‘जोकर’: इस फ़िल्म को लेकर ऐसा क्यों लगता है कि ये हिंसा करवाएगी?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पीएम मोदी ने जिस Y2K क्राइसिस का ज़िक्र किया, वो क्या था?

पीएम ने 12 मई को देश को संबोधित किया.

अपने भाषण में नरेंद्र मोदी ने अगले लॉकडाउन के बारे में ये हिंट दे दिया है

मोदी के 34 मिनट के भाषण में काम की बात क्या थी?

ट्रेन के बाद अब फ़्लाइट शुरू होगी तो यात्रा के क्या नियम होंगे?

केबिन लगेज, जांच और बैठने की व्यवस्था को लेकर क्या नियम हैं?

गुजरात: CM बदलने की संभावना पर खबर चलाई, पुलिस ने राजद्रोह का केस लिख लिया

इस मामले में गुजरात सरकार की किरकिरी हो रही है.

किसी को सही-सही पता ही नहीं कि दिल्ली में कोरोना से कितनी मौतें हुईं!

सरकार और नगर निगम के आंकड़े अलग-अलग.

चीन से ठगे जाने के बाद इंडिया ने अपनी टेस्टिंग किट बनाई, कैसे काम करेगी?

किसने बनाई ये टेस्टिंग किट?

कॉन्स्टेबल साब ने दिल्ली में शराब वितरण का लेटेस्ट तरीका निकाला था, नप गए

दिल्ली में शराब की दुकानों पर भीड़ बहुत ज़्यादा है.

12 मई से चलने वाली ट्रेनों के स्टॉपेज, टाइम टेबल और नियम क़ानून की जानकारी यहां देखिए

किस-किस दिन चलेंगी ट्रेनें?

कोरोना: सुपर स्प्रेडर क्या होते हैं और ये इतने खतरनाक क्यों हैं कि अहमदाबाद में सब कुछ बंद करना पड़ा

अहमदाबाद में 14 हजार सुपर स्प्रेडर होने की आशंका जताई जा रही है.

प्रवासी मजदूरों को लेकर यूपी और राजस्थान की पुलिस में पटका-पटकी हो गई है!

डीएम और एसपी मौके पर पहुंचे तब मामला शांत हुआ.