Submit your post

Follow Us

कभी फिल्मी सितारों के पीछे नाचते थे सुशांत, फिर एकता कपूर ने कहा- मैं तुझे स्टार बनाऊंगी

सुशांत सिंह राजपूत नहीं रहे. उन्होंने मुंबई में अपने घर पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. 34 साल के सुशांत ने सुसाइड क्यों की, यह अभी साफ नहीं हो पाया है. लेकिन कहा जा रहा है कि वे डिप्रेशन से जूझ रहे थे. सुशांत सिंह राजपूत की गिनती कामयाब एक्टर्स में होती है. उन्होंने टीवी से शुरुआत की और फिर बॉलीवुड में जगह बनाई. दोनों जगह सुशांत ने अपनी एक्टिंग से नाम और कामयाबी हासिल की. लेकिन एक्टर बनने से पहले सुशांत पढ़ाकू लड़के थे. उन्होंने इंजिनियरिंग की पढ़ाई के लिए ऑल इंडिया इंजिनियरिंग एंट्रेस एग्जामिनेशन (AIEEE) दी. इसमें उन्हें पूरे भारत में 7वीं रैंक मिली. उन्होंने पढ़ाई के लिए दिल्ली इंजिनियरिंग कॉलेज चुना.

इंजिनियरिंग में ही डांस और एक्टिंग क्लास शुरू की

इंजिनियरिंग के दौरान ही वे श्यामक डावर के डांस ग्रुप से जुड़ गए. साथ ही बैरी जॉन के एक्टिंग स्कूल में भी शामिल हो गए. श्यामक डावर के ग्रुप के साथ उन्होंने कई डांस परफॉर्मेंस दी. इसके तहत कई फिल्मों में भी वे बैकग्राउंड डांसर के रूप में शामिल हुए. यानी बड़े एक्टर और एक्ट्रेसेज के पीछे नाचा करते थे. 2006 में कॉमनवेल्थ गेम्स में ऐश्वर्या राय की परफॉर्मेंस के दौरान सुशांत बैकग्राउंड डांसर थे. बाद में बंटी और बबली फिल्म में वे अभिषेक बच्चन के पीछे नाचे. इसी समय में श्यामक डावर ने सुशांत से कहा था कि एक दिन तुम फिल्मों में काम करोगे.

तीन साल में छोड़ी इंजिनियरिंग

तीन साल में सुशांत इंजिनियरिंग से उब गए और एक्टिंग में किस्मत आजमाने मुंबई चले गए. यहां वे नादिया बब्बर के थिएटर ग्रुप से जुड़ गए. इसका नाम था एकजुटे. लगभग ढाई साल तक उन्होंने इस थिएटर ग्रुप में काम किया. इसी समय उन्हें एक विज्ञापन भी मिला. यह विज्ञापन नेस्ले मंच का था. थिएटर में काम करने के दौरान ही एकता कपूर के प्रोडक्शन हाउस बालाजी टेलीफिल्मस की टीम ने उन्हें देखा. सुशांत का काम उन्हें पसंद आया.

एकता कपूर ने दिया ब्रेक

उन्होंने ऑडिशन के लिए सुशांत को बुलाया. ऑडिशन सही रहा और उन्हें ‘किस देश में है मेरा दिल’ सीरियल मिल गया. इसमें उन्होंने प्रीत जुनेजा की भूमिका निभाई. इसमें उनका रोल सहायक अभिनेता का था. वे मेन एक्टर प्रेम जुनेजा के सौतेले भाई बनते हैं. इसमें सुशांत की भूमिका थोड़े से समय के लिए ही होती है. लेकिन दर्शकों के दिलों पर वे छाप छोड़ जाते हैं. इसी वजह से सीरियल के आखिरी एपिसोड में सुशांत को फिर से दिखाया जाता है. वे आत्मा के रूप में दिखाई देते हैं.

किस देश में है मेरा दिल सीरियल में सुशांत सिंह राजपूत.
किस देश में है मेरा दिल सीरियल में सुशांत सिंह राजपूत.

एकता ने कहा था- मैं तुझे स्टार बनाऊंगी

सीरियल में सुशांत का काम एकता कपूर को भी भा गया. इसलिए एकता ने उन्हें ‘पवित्र रिश्ता’ नाम का सीरियल ऑफर कर दिया. इसमें सुशांत लीड रोल में थे. इस बारे में सुशांत ने बताया था कि एकता उनके लुक टेस्ट से प्रभावित थी. लुक टेस्ट देखकर एकता ने कहा था कि ‘मैं तुझे स्टार बनाउंगी.’

पवित्र रिश्ता से घर-घर में पहचाने गए सुशांत

जून 2009 से यह सीरियल टीवी पर आना शुरू हुआ. इसमें सुशांत के किरदार का नाम मानव देशमुख होता है. इस सीरियल को काफी पसंद किया गया था. घर-घर में सुशांत चर्चित हो गए. पवित्र रिश्ता को टीवी के सबसे कामयाब सीरियल्स में गिना जाता है. दो साल तक सुशांत सिंह ने यह सीरियल किया. इसके बाद उन्होंने इसे छोड़ दिया. फिर उन्होंने झलक दिखला जा और जरा नचके दिखा जैसे डांस रियलिटी शो में काम किया.

पवित्र रिश्ता की मेन लीड सुशांत सिंह और अंकिता लोखंडे. यह सीरियल काफी पसंद किया गया था.
पवित्र रिश्ता की मेन लीड सुशांत सिंह और अंकिता लोखंडे. यह सीरियल काफी पसंद किया गया था.

बाद में सुशांत ने भी एकता कपूर की काफी तारीफ की थी. उन्होंने कहा था,

थिएटर के दिनों में एकता पहली इंसान थीं जिन्होंने उनमें भरोसा दिखाया था. आज वे जो कुछ भी हैं, उसमें एकता बड़ी वजह हैं. इंड्स्टूी में वह इकलौती प्रोड्यूसर हैं जिनकी फिल्म वह बिना स्क्रिप्ट पढ़े कर लेंगे.

यहां से उन्होंने फिल्मों के लिए छलांग लगाई. पहली फिल्म काई पो छे थी. इसे अभिषेक कपूर ने डायरेक्ट किया था. यह फिल्म चेतन भगत के नॉवेल ‘थ्री मिस्टेक्स ऑफ माई लाइफ’ पर आधारित थी. फिल्म बॉक्स ऑफिस पर भी कामयाब रही और सुशांत का काम भी सराहा गया. इसके बाद तो सुशांत एक के बाद कई कमाल की फिल्में करते गए.


Video: बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत ने अपने घर में फांसी लगाकर की आत्महत्या

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

सुशांत सिंह ने अपने आखिरी इंस्टाग्राम पोस्ट में मां को याद करते हुए क्या लिखा था?

सुशांत की मां का निधन कुछ सालों पहले हुआ था.

इस दिग्गज IT कंपनी का ऑफिस 450 बेड वाले कोरोना अस्पताल में बदला

मरीजों के लिए खाने और बिस्तर का इंतज़ाम कंपनी करेगी, डॉक्टर सरकारी होंगे.

सुशांत की मौत पर अक्षय कुमार, अजय देवगन, संजय दत्त, नवाज़ुद्दीन, ज़ीशान अय्यूब ने क्या कहा?

और भी कलाकारों ने अपनी संवेदनाएं ज़ाहिर की हैं.

केजरीवाल सरकार दिल्ली में बेड का टोटा पूरा करने के लिए क्या कर रही है?

कोरोना नर्सिंग होम बनाए गए हैं. लेकिन ये है क्या?

मोदी सरकार से जुड़ीं इस अर्थशास्त्री ने 20 लाख करोड़ के पैकेज पर जो कहा है वो केंद्र को अच्छा नहीं लगेगा

शहरी गरीबों के लिए मनरेगा जैसी योजना लाने का सुझाव भी दिया.

गर्लफ्रेंड से बात करते हुए देखकर विराट कोहली को जब इग्लैंड के इस क्रिकेटर पर गुस्सा आ गया था

आठ साल पुरानी बात अब जाकर पता चली है.

गंभीर क्यों बोले एमएस धोनी टीम इंडिया के कप्तान नहीं बनते तो अच्छा रहता!

धोनी से गंभीर का 36 का आंकड़ा रहा है.

दिल्ली में कोरोना टेस्ट कराने वाला हर तीसरा व्यक्ति पॉजिटिव मिल रहा है

ये आंकड़ा पिछले एक हफ्ते का है.

कोरोना की मार, अब ये कंपनी 1100 लोगों को नौकरी से निकालेगी!

हर रोज नौकरी जाने की खबर आ रही है.

मास्क नहीं पहनने पर इस राज्य में छह महीने की जेल और 5000 का जुर्माना देना होगा

कोरोना से बचाव के लिए सार्वजनिक जगहों पर मास्क पहनना अनिवार्य है.