Submit your post

Follow Us

2011 वर्ल्ड कप से पहले किस दुविधा में फंस गए थे महेंद्र सिंह धोनी?

अमूमन हर टीम में कैप्टन का एक फेवरेट प्लेयर होता है, जिसे वह हर हाल में सपोर्ट करता है. पूर्व क्रिकेटर युवराज सिंह की मानें, तो महेंद्र सिंह धोनी के लिए वह प्लेयर सुरेश रैना थे. धोनी की कप्तानी में रैना को खूब मौके मिले. लिमिटेड ओवर्स क्रिकेट में दुनिया के महानतम प्लेयर्स में शामिल रहे युवराज हाल ही में क्रिकेट से रिटायर हो गए थे.

युवराज ने इंडिया टुडे के यूट्यूब चैनल, ‘स्पोर्ट्स तक’ से बातचीत की. इस बातचीत में युवराज ने याद किया कि कैसे 2011 वर्ल्ड कप से पहले धोनी दुविधा में पड़ गए थे, जब उन्हें यूसुफ पठान और रैना में से किसी एक को प्लेइंग XI में चुनना था. युवराज ने कहा,

‘सुरेश रैना को उस वक्त काफी सपोर्ट मिलता था, क्योंकि MS उनका साथ देते थे. हर कैप्टन का फेवरेट प्लेयर होता है और मैं सोचता हूं कि उस वक्त माही सच में रैना का बहुत साथ देते थे.’

बाद में यूसुफ, रैना और युवराज- तीनों को टीम इंडिया में जगह मिली थी. हालांकि बाद में यूसुफ को प्लेइंग XI में जगह नहीं मिली और युवराज टूर्नामेंट के बेस्ट प्लेयर रहे.

इस बारे में युवराज ने कहा,

‘उस वक्त यूसुफ पठान अच्छा प्रदर्शन कर रहे थे. मेरा प्रदर्शन भी अच्छा था और मैं विकेट भी ले रहा था, जबकि रैना की फॉर्म खराब चल रही थी. उस वक्त टीम के पास कोई लेफ्ट-आर्म स्पिनर नहीं था और मैं विकेट ले रहा था. ऐसे में उनके पास कोई और चॉइस नहीं थी.’

इसी बातचीत के दौरान युवराज ने 2007 T20 वर्ल्ड कप का एक मज़ेदार किस्सा भी सुनाया. युवराज ने बताया कि स्टुअर्ट ब्रॉड को एक ही ओवर में छह छक्के मारने के बाद उनके बैट पर काफी बातें हुई थीं. ऑस्ट्रेलिया के कोच और प्लेयर्स ने उनके बल्ले पर शक जाहिर किया था, जिसके बाद मैच रेफरी ने उनके बल्ले की जांच की थी.


कुलदीप यादव ने बताया कि किस वजह से MS धोनी को बीच मैच में गुस्सा आया था?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

दिल्ली में शराब पर सरकार की ‘स्पेशल फीस’

..ताकि ‘रहें सलामत पीने वाले’.

लद्दाख BJP अध्यक्ष ने छोड़ी पार्टी, कहा- लद्दाख के लोगों के बारे में न पार्टी सुन रही, न प्रशासन

चेरिंग दोरजे दो महीने पहले ही अध्यक्ष बनाए गए थे.

सूरत में प्रवासी मज़दूरों का सब्र फिर जवाब दे गया है

इस बार भी बीच में पुलिस ही पिस रही है.

यूपी : CM योगी के मृत पिता के बहाने लॉकडाउन में बद्रीनाथ-केदारनाथ जा रहे थे विधायक, पुलिस ने धर लिया

नौतनवा के विधायक अमनमणि त्रिपाठी का है मामला.

जानिए कौन हैं जम्मू कश्मीर के हंदवाड़ा में शहीद हुए पांच सुरक्षाकर्मी

सुरक्षाकर्मी आतंकियों के कब्जे से आम लोगों को निकालने के लिए गए थे.

दिल्ली में एक ही बिल्डिंग में मिले कोरोना के 58 पॉजिटिव मरीज

जिन्हें संक्रमण हुआ है वो लोग एक ही टॉयलेट इस्तेमाल करते थे.

कुलभूषण जाधव मामले में वकील हरीश साल्वे ने खोले पाकिस्तान के कई बड़े राज

भारतीय अधिवक्ता परिषद के ऑनलाइन लेक्चर में कई बातें बताईं.

लोकपाल मेंबर कोरोना पॉज़िटिव पाए गए थे, अब हार्ट अटैक से मौत हो गई

अप्रैल से एम्स में थे अजय कुमार त्रिपाठी.

लॉकडाउन: मां चूल्हे पर बर्तन में पत्थर पकाती जिससे बच्चों को लगे कि खाना बन रहा है

भूखे बच्चे इंतजार करते-करते सो जाते.

पालघर: लिंचिंग स्पॉट पर जा रही पुलिस की बस को 200 लोगों ने रोका था, मारे थे पत्थर

लिंचिंग वाली जगह से करीब 13 किमी दूर तीन घंटे तक रोक कर रखा था.