Submit your post

Follow Us

PM मोदी की सुरक्षा में कथित चूक की जांच करने जा रहे ये 5 लोग कौन हैं?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) की कथित सुरक्षा चूक (Security Breach) मामले में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने जांच कमेटी बना दी है. रिटायर्ड जस्टिस इंदु मल्होत्रा इस कमेटी की अगुवाई करेंगी. कौन-कौन से लोग हैं इस जांच कमिटी में?

1 – इंदु मल्होत्रा, रिटायर्ड जस्टिस इंदु मल्होत्रा

2 – NIA के डायरेक्टर जनरल या उनके द्वारा नामित एक अधिकारी जो कि इंस्पेक्टर जनरल रैंक से नीचे का नहीं होगा,

3 – चंडीगढ़ के डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस

4 – ADGP (सुरक्षा) पंजाब पुलिस

5 – पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार

इससे पहले सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार से कहा था कि वे प्रधानमंत्री मोदी की पांच जनवरी की पंजाब यात्रा से जुड़े सभी रिकॉर्ड्स सही-सलामत रखें. बुधवार 12 जनवरी को सुप्रीम कोर्ट ने हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार जनरल को सभी रिकॉर्ड जस्टिस इंदु मल्होत्रा को सौंपने को कहा.

सीजेआई के अलावा इस बेंच में जस्टिस सूर्यकांत और हेमा कोहली हैं. बेंच ने इस पैनल का गठन करते हुए कहा कि मामले को “एकतरफा जांच पर नहीं छोड़ा जा सकता है” एक व्यापक रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए इसे न्यायिक रूप से प्रशिक्षित व्यक्ति द्वारा देखा जाना चाहिए.

समिति इस बात की जांच करेगी कि सुरक्षा उल्लंघन के लिए कौन जिम्मेदार है. साथ ही सुझाव देगी कि पीएम और संवैधानिक पदाधिकारियों की सुरक्षा के लिए कौन से सुरक्षा उपाय जरूरी हैं. सुप्रीम कोर्ट ने जांच पैनल को जल्द से जल्द अपनी रिपोर्ट देने को भी कहा है.

इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने सभी मौजूदा जांच कमेटी पर रोक लगा दी है.

Lawyers Voice ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी. पीएम मोदी की सुरक्षा में कथित चूक को लेकर पंजाब के चीफ सेक्रेटरी और डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी.

क्या है मामला?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कथित सुरक्षा चूक से जुड़ा ये मामला 5 जनवरी का है. इस दिन पीएम मोदी को पंजाब के फिरोजपुर में रैली करनी थी. वे कई योजनाओं का भी शिलान्यास करने वाले थे. लेकिन रैली को अचानक से रद्द कर दिया गया. केंद्रीय गृह मंत्रालय ने इसके पीछे सुरक्षा कारणों को जिम्मेदार बताया. कहा कि सड़क मार्ग की तरफ से फिरोजपुर की ओर बढ़ रहे प्रधानमंत्री के काफिले को एक फ्लाईओवर पर प्रदर्शनकारियों ने रोक लिया. मंत्रालय ने कहा कि ये पीएम की सुरक्षा में एक बड़ी चूक थी. इससे पहले पीएम को हवाई मार्ग से फिरोजपुर जाना था. हालांकि, केंद्रीय गृह मंत्रालय के मुताबिक, खराब मौसम की वजह से ऐन मौके पर प्रधानमंत्री को सड़क मार्ग से रवाना करने की योजना बनी.

कौन हैं इंदू मल्होत्रा?

12 मार्च 2021 को जस्टिस इंदू मल्होत्रा सुप्रीम कोर्ट से रिटायर्ड हुईं. बेंगलुरु से आने वाली इंदू मल्होत्रा ने 1983 में कानून की पढ़ाई पूरी की. 1988 में एडवोकेट-ऑन-रिकॉर्ड का एग्ज़ाम में टॉप किया.अप्रैल 2018 में इंदू सुप्रीम कोर्ट की जज बनीं. वकील से सीधे सुप्रीम कोर्ट की जज बनने वाली वो पहली महिला हैं. जज के तौर पर अपने तीन साल के कार्यकाल में इंदू मल्होत्रा कई अहम फैसलों का हिस्सा रहीं. इसमें सबसे पहला नाम आता है सबरीमाला केस का. सितंबर 2018 में सुप्रीम कोर्ट के पांच जजों की बेंच ने 10 से 50 साल की औरतों को इस मंदिर में प्रवेश करने की परमिशन दे दी थी. लेकिन बेंच के केवल चार जज इससे सहमत थे. एक जज, जो अकेली महिला जज थीं इस बेंच में, वो इस फैसले के खिलाफ थीं.

दूसरा फैसला IPC के सेक्शन 497 यानी अडल्ट्री से जुड़ा हुआ था. शादी के इतर किसी और व्यक्ति से प्रेम संबंध का होना. पहले अडल्ट्री अपराध के दायरे में आता था. लेकिन सितंबर 2019 में इसे कानूनी अपराध के दायरे से बाहर कर दिया था, हालांकि इसे तलाक का आधार माना जा सकता है. इस फैसले को भी सुप्रीम कोर्ट के पांच जजों की बेंच ने मिलकर सुनाया था. इस बेंच में जस्टिस इंदू मल्होत्रा भी शामिल थीं. तीसरा फैसला IPC के सेक्शन 377 से जुड़ा हुआ था. सितंबर 2018 में सुप्रीम कोर्ट ने समलैंगिक रिश्तों को सेक्शन 377 के तहत अपराध के दायरे से हटा दिया था. इस फैसले को सुनाने वाली बेंच में जस्टिस इंदू भी थीं.


नेता-नगरी: PM मोदी की सुरक्षा में हुई चूक का असली जिम्मेदार कौन है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

RBI की इस पहल से सभी एटीएम से बिना कार्ड कैश निकलेगा!

RBI की इस पहल से सभी एटीएम से बिना कार्ड कैश निकलेगा!

अभी ये सुविधा कुछ ही बैंको तक सीमित है.

'शराबी' खिलाड़ी की जानलेवा हरकत की वजह से मरते-मरते बचे थे युजवेंद्र चहल, अब किया खुलासा

'शराबी' खिलाड़ी की जानलेवा हरकत की वजह से मरते-मरते बचे थे युजवेंद्र चहल, अब किया खुलासा

2013 की बात है जब चहल मुंबई इंडियन्स की तरफ से खेलते थे.

आकार पटेल के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी करने वाली CBI अब उनसे माफी मांगेगी

आकार पटेल के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी करने वाली CBI अब उनसे माफी मांगेगी

कोर्ट ने आकार पटेल को बड़ी राहत दी है.

भारत में कोरोना के XE Variant का पहला केस मिलने के दावे पर सरकार ने क्या कहा?

भारत में कोरोना के XE Variant का पहला केस मिलने के दावे पर सरकार ने क्या कहा?

ये वेरिएंट कितना खतरनाक है, ये भी जान लें.

लल्लनटॉप अड्डा: 9 अप्रैल को मचने वाले धमाल का पूरा शेड्यूल पढ़ लो!

लल्लनटॉप अड्डा: 9 अप्रैल को मचने वाले धमाल का पूरा शेड्यूल पढ़ लो!

हंसी होगी, संगीत होगा और होंगे सौरभ द्विवेदी!

ED ने किन मामलों में सत्येंद्र जैन और संजय राउत के परिवारों की करोड़ों की संपत्ति कुर्क की है?

ED ने किन मामलों में सत्येंद्र जैन और संजय राउत के परिवारों की करोड़ों की संपत्ति कुर्क की है?

कार्रवाई पर संजय राउत भड़क गए हैं.

यूपी सरकार के लिए गोरखनाथ मंदिर हमला 'आतंकी घटना', हमलावर के पिता ने क्या बताया?

यूपी सरकार के लिए गोरखनाथ मंदिर हमला 'आतंकी घटना', हमलावर के पिता ने क्या बताया?

यूपी सरकार ने आरोपी के खिलाफ तगड़ी जांच के आदेश दे दिए हैं.

1 अप्रैल से E-Invoicing अनिवार्य, फर्जी बिल बनाने वालों की नींद उड़ी

1 अप्रैल से E-Invoicing अनिवार्य, फर्जी बिल बनाने वालों की नींद उड़ी

20 करोड़ सालाना बिक्री पर ई-इनवॉइसिंग जरूरी, टैक्स चोरी थमेगी.

रुचि सोया के FPO के 'चमत्कार' को नमस्कार करने के बजाय SEBI ने क्यों दिखाई सख्ती?

रुचि सोया के FPO के 'चमत्कार' को नमस्कार करने के बजाय SEBI ने क्यों दिखाई सख्ती?

वजह पतंजलि समूह का एक कथित संदेश बताया गया है?

योगी सरकार 2.0 में राज्यमंत्री बने नेताओं के बारे में ये बातें जानते हैं आप?

योगी सरकार 2.0 में राज्यमंत्री बने नेताओं के बारे में ये बातें जानते हैं आप?

कई पुराने तो कुछ नए चेहरों को मंत्रीमंडल में जगह मिली है.