Submit your post

Follow Us

पहले बल्ले से रिकॉर्ड बनाया, अब बॉल से विंडीज़ की खाट खड़ी करेगा ये अंग्रेज?

इंग्लैंड-वेस्ट इंडीज़ के बीच तीन मैचों की सीरीज़ का आखिरी मैच रोमांचक मोड़ पर पहुंचता दिख रहा है. टॉस हारकर पहले बैटिंग करने उतरी इंग्लैंड की टीम 369 रन पर आउट हुई. इंग्लैंड के लिए ओली पोप, जोस बटलर, रोरी बर्न्स और स्टुअर्ट ब्रॉड ने हाफ-सेंचुरीज जड़ीं. सिर्फ 280 के टोटल पर 8 विकेट खोने वाले इंग्लैंड को ब्रॉड ने अंत में धमाकेदार बैटिंग कर साढ़े तीन सौ के पार पहुंचाया.

इस दौरान ब्रॉड ने इंग्लैंड की तरफ से तीसरी सबसे तेज टेस्ट फिफ्टी भी जड़ दी. बैटिंग में कमाल करने के बाद ब्रॉड ने बोलिंग में भी झंडे गाड़े. उन्होंने अपने पहले ही ओवर में क्रेग ब्रैथवेट को रूट के हाथों कैच करा दिया. बाद में ब्रॉड ने रोस्टन चेज को भी आउट किया. दूसरे एंड से जेम्स एंडरसन ने भी उनका बखूबी साथ दिया. एंडरसन ने भी दो विकेट निकाले.

इनके साथ जोफ्रा आर्चर और क्रिस वोक्स ने भी विंडीज़ को एक-एक झटका दिया. खराब लाइट के चलते दूसरे दिन का खेल रुकने तक वेस्ट इंडीज़ ने छह विकेट खोकर 137 रन बना लिए हैं. क्रीज़ पर कैप्टन जेसन होल्डर का साथ दे रहे हैं शेन डॉवरिच.

ब्रॉड और एंडरसन के चलते मैच दूसरे दिन ही इंग्लैंड के कब्जे में जाता दिख रहा है. ऐसे में उम्मीद है कि यही दोनों प्लेयर तीसरे दिन के गेमचेंजर हो सकते हैं.

# स्टुअर्ट ब्रॉड

अगर आपने मैच का दूसरा दिन देखा होगा, तो आपको हमारे इस सेलेक्शन पर आश्चर्य नहीं हो सकता. सस्ते में सिमटने जा रही इंग्लैंड के लिए ब्रॉड ने बल्ले से वो किया जिसकी उम्मीद लोगों को बटलर से रही होगी. बटलर ने भी हाफ सेंचुरी मारी लेकिन वह टीम की जरूरत के वक्त काम नहीं आए. ब्रॉड का बल्ला ना चला होता तो इंग्लैंड 300 के अंदर ही सिमट जाता और मैच में इतनी मज़बूत पकड़ नहीं बना पाता.

अब आप कहेंगे कि इंग्लैंड में ब्रॉड का असली काम तो बॉल से कमाल करने का है. तो भैया लड़के ने बॉल से भी तो कोई कसर नहीं छोड़ी है. पहले ही ओवर में उन्होंने ब्रैथवेट को निपटा दिया और फिर बाद में अच्छी फॉर्म में चल रहे रोस्टन चेज को भी पलटाया. ब्रॉड ओल्ड ट्रैफर्ड में खतरनाक बोलिंग कर रहे हैं. मैच के तीसरे दिन वह विंडीज़ को सस्ते में सिमटाकर इंग्लैंड को बड़ी लीड दिला सकते हैं. पहले टेस्ट में ब्रॉड को नहीं खिलाया गया था, उन्होंने इस पर खुलकर नाराज़गी भी जाहिर की थी.

दूसरे टेस्ट में वापसी के बाद ब्रॉड ने पीछे मुड़कर नहीं देखा है. वह लगातार गेंद और अब तो बल्ले से भी आग उगल रहे हैं. मैच के तीसरे दिन भी उनका यह प्रदर्शन जारी रहने की पूरी उम्मीद है.

# जेम्स एंडरसन

जेम्स एंडरसन. इंग्लैंड के सबसे सफल टेस्ट बोलर और दुनिया के सबसे दिग्गज बोलर्स में से एक. एंडरसन पहले टेस्ट की दूसरी पारी में विकेट नहीं ले पाए थे जिसके बाद उनकी खूब आलोचना हुई. यही कारण था कि उन्हें दूसरे टेस्ट से बाहर रखा गया था. इसके बाद तीसरे टेस्ट में उन्हें दोबारा टीम में बुलाया गया. आते ही एंडरसन ने दिखा दिया कि वह क्यों इंग्लैंड के महानतम टेस्ट बोलर हैं.

एंडरसन ने अपने पहले ही स्पेल में विंडीज़ को दो करारे झटके दे दिए.अपने पहले तीन ओवर्स में एंडरसन ने बिना कोई रन दिए शे होप और ब्रूक्स को वापस भेज दिया. एंडरसन अपने 600 टेस्ट विकेट पूरे करने से सिर्फ 11 विकेट दूर हैं. ऐसी बड़ी अचीवमेंट के करीब पहुंचने से अपने आप मोटिवेशन हाई हो जाता है, और दूसरे एंड पर ब्रॉड जैसी बोलिंग कर रहे हैं उसमें निश्चित तौर पर एंडरसन जैसा चैंपियन और मोटिवेट होगा, इसी मोटिवेशन में कल एंडरसन गेम चेंजर बन सकते हैं.


लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

मास्क बांटने के बहाने बच्चे को किडनैप किया, चार करोड़ मांगे, पुलिस ने 24 घंटे में पकड़ लिया

यूपी के गोंडा का मामला, पांच आरोपी भी गिरफ्तार.

चुनाव आयोग ने बीजेपी IT सेल से जुड़ी कंपनी से चुनावी कामधाम करवाया!

ये कम्पनी पूर्व महाराष्ट्र सरकार और दूसरे सरकारी विभागों का भी काम देख रही थी.

इंडिया में कोरोना की वैक्सीन का दाम पता चल गया है, लेकिन पैसे आपको नहीं देने होंगे!

क्या कहा बनाने वाले आदर पूनावाला ने?

बाइक चला रहे CJI बोबड़े पर ट्वीट करने पर twitter और वकील प्रशांत भूषण पर अवमानना का केस हो गया!

सुनवाई में ट्वीट डिलीट करने की बात पर कोर्ट ने क्या कहा?

जाटों-पंजाबियों को बिना बुद्धि का बोलकर माफ़ी मांगने लगे बीजेपी के सीएम

और कौन? वही त्रिपुरा के सीएम बिप्लब देब.

इन तीन परिवारों के उजड़ने की कहानी से समझिए कि कोरोना से बचाव कितना ज़रूरी है

पहले मां की मौत, फिर एक के बाद एक 5 बेटों की मौत

दिशा सालियान की मौत के बाद क्या सुशांत सिंह ने डिप्रेशन की दवाइयां लेनी बंद कर दी थीं?

डॉक्टर ने पुलिस द्वारा की गई पूछताछ में बताया

मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन नहीं रहे

वो 85 बरस के थे, कई दिनों से अस्पताल में भर्ती थे.

उत्तर बिहार में हर साल क्यों आती है बाढ़, अभी कैसे हैं हालात

भौगोलिक स्थिति समझना बहुत जरूरी है.

बिहार महादलित विकास मिशन घोटाला: 'स्पोकन इंग्लिश' के नाम पर कैसे हुई हेरा-फेरी

एक निलंबित और तीन रिटायर्ड IAS अधिकारियों समेत 10 लोगों पर FIR.