Submit your post

Follow Us

स्नैपचैट से इंडियंस नाराज नहीं होते, अगर ये पढ़ लेते

मार्केट में ऐसी कथित खबर चल रही है कि स्नैपचैट के मालिक इवान स्पीगल ने भारत को गरीब देश कहा था. भारत के साथ स्पेन को भी गरीब कहने की बात आई थी. स्पेन में तो लोगों ने उतना क्रांतिकारी रुख नहीं अपनाया है, लेकिन इस खबर के बाद से ही इंडिया के बहुत सारे लोग स्नैपचैट अनइंस्टॉल करके देश में क्रांति ला रहे हैं. जबकि स्नैपचैट लगातार अपने ट्विटर अकाउंट पर पोस्ट कर रहा है कि उनके मालिक ने ऐसा कुछ कहा ही नहीं था.

गरीब देश कहने वाली ये बात स्नैपचैट के ही एक पूर्व कर्मचारी एंथनी पोंप्लिआनो के लॉ-सूट से लीक हुई थी. एंथनी को 2015 में स्नैपचैट से निकाल दिया गया था. उसका दावा है कि स्नैपचैट कंपनी अपने यूजर डाटा का गलत इस्तेमाल करके एडवर्टाइजर को बहकाती है.

लेकिन ये लॉ-सूट असल में क्या आरोप लगाता है, इस पूरे मामले में आरोपों और प्रत्यारोपों की पूरी लिस्ट ‘स्क्रिब्ड (scribd)’ पर आ गई है.ये कोर्ट में जानेवाले डॉक्यूमेंट हैं.

Snapchat unredacted lawsuit by gmaddaus on Scribd

एंथनी की बात मानी जाए तो स्नैपचैट का ‘रजिस्ट्रेशन फ्लो कंप्लीशन रेट’ भी 40 प्रतिशत से कम था, मतलब इतने लोग रजिस्ट्रेशन पूरा करते थे. जबकि कंपनी एडवर्टाइजर्स को बरगलाती थी कि उसका ये रेट 87 प्रतिशत है. यूजर रिटेंशन सिर्फ 20 प्रतिशत है मतलब ये हर सात दिन 80 प्रतिशत यूजर खो रहा है. इस लॉ-सूट में ये भी लिखा है कि एडवरटाइजर्स को डीएयू की जो लिस्ट दिखाई गई थी उसमें 100 प्रतिशत का आंकड़ा दिखाया गया था.

भारत और गरीबी वाली बात आई कहां से?

एंथनी के मुताबिक, उन्होंने स्नैपचैट डेटा के साथ चल रहे इश्यूज पर एक प्रजेंटेशन बनाया था.  कंपनी ने बताया था कि उनके 100 मिलियन यूजर हैं, एंथनी ने कहा कि ये गलत है. एंथनी दावा करते हैं कि स्पीगल ने ऐसा मानने से मना कर दिया और कहा कि उससे कोई फर्क नहीं पड़ता है.

ये भारत और गरीबी वाली बात तब आई थी, जब स्नैप इंक के इंटरनेशनल यूजर के बारे में बात हो रही थी. जो कि एंथनी के मुताबिक बहुत कम थे. उसने भारत और स्पेन का उदाहरण दिया. जहां पर लोग सोशल मीडिया का इस्तेमाल तो बहुत करते हैं लेकिन स्नैपचैट यूज नहीं करते.

इसके बाद लॉ-सूट में लिखा है कि स्पीगल ने इस बात को बीच में ही काटते हुए कहा था कि ये ऐप केवल अमीर लोगों के लिए है. मैं इसे भारत और स्पेन जैसे गरीब देशों में बढ़ाना नहीं चाहता.

एंथनी का दावा है कि स्नैपचैट ने उसे इसलिए निकाल दिया क्योंकि कंपनी को डर था कि वो इंफॉर्मेशन लीक कर देगा और कंपनी को उससे खतरा है. एंथनी को कंपनी जॉइन करने के तीन हफ्ते के भीतर ही निकाल दिया गया था.

इन सबसे स्नैप इंक और स्नैपचैट पर क्या फर्क पड़ेगा?

स्नैपचैट इस मामले को बीच-बचाव करके खत्म कर देना चाहता था, लेकिन इन डॉक्यूमेंट्स को पब्लिक करने की इजाजत दे दी गई थी. इस तरह से ये गरीब देश वाली बात बाहर आ गई थी. अगर आप स्नैपचैट की जून 2015 की एसईसी फाइलिंग देखेंगे तो इसमें डीएयू को 89 प्रतिशत दिखाया गया है. स्नैपचैट की इस लिस्ट में ये भी बताया गया कि कैसे उसने डीएयू के कलेक्शन के लिए अलग तरकीबें लगाई हैं.

ज्यादातर भारतीयों को बस स्पीगल के उस बयान से मतलब है. इसको साबित करने का कोई रास्ता नहीं है. स्नैपचैट लगातार इस आरोप को खारिज कर रहा है.


ये भी पढ़ें:

स्नैपचैट के मालिक प्रिय, ऐप डाउनलोड करने के पैसे कौन देता है?

अपनी इस हरकत के बाद फेसबुक ने खत्म होने की तरफ कदम बढ़ा दिए हैं

तन्मय का नया वीडियो गहरी चोट करेगा मगर आप चिल्लाएंगे नहीं

भाई वो बंदा कौन था जो कैब में 15 लाख छोड़ गया!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

TRP स्कैम: FIR में इंडिया टुडे टीवी का नाम आने पर मुंबई पुलिस ने क्या कहा है?

TRP स्कैम: FIR में इंडिया टुडे टीवी का नाम आने पर मुंबई पुलिस ने क्या कहा है?

रिपब्लिक टीवी का आरोप है कि FIR में इंडिया टुडे टीवी का नाम आने पर एक्शन नहीं लिया गया.

IPL 2020: मयंक-राहुल के विकेट से नहीं, इन छह गेंदों से हार गया पंजाब

IPL 2020: मयंक-राहुल के विकेट से नहीं, इन छह गेंदों से हार गया पंजाब

सीजन बदला पर पंजाब की हालत नहीं.

मुंबई पुलिस का दावा, पैसे देकर TRP खरीदता है रिपब्लिक टीवी

मुंबई पुलिस का दावा, पैसे देकर TRP खरीदता है रिपब्लिक टीवी

रैकेट में दो और चैनलों के भी नाम हैं, उनके मालिक गिरफ्तार कर लिए गए है.

दो बार छह छ्क्के लगा चुका वह भारतीय, जिसे करोड़पति बनना रास ना आया

दो बार छह छ्क्के लगा चुका वह भारतीय, जिसे करोड़पति बनना रास ना आया

गणित के मास्टर भी हैं CSK को पीटने वाले राहुल त्रिपाठी.

आधी रात को क्यों जलाई थी हाथरस विक्टिम की बॉडी, यूपी सरकार ने अब बताया है

आधी रात को क्यों जलाई थी हाथरस विक्टिम की बॉडी, यूपी सरकार ने अब बताया है

साथ ही ये भी बताया कि 14 सितंबर से अब तक क्या-क्या किया.

कंफर्म हो गया, अकेले चुनाव लड़ेगी चिराग पासवान की पार्टी

कंफर्म हो गया, अकेले चुनाव लड़ेगी चिराग पासवान की पार्टी

क्या ये चिराग पासवान के लिए ज़मीन तैयार करने की रणनीति है?

शिक्षा मंत्रालय की गाइडलाइंस, बताया 15 अक्‍टूबर से किन शर्तों पर खुलेंगे स्कूल-कॉलेज

शिक्षा मंत्रालय की गाइडलाइंस, बताया 15 अक्‍टूबर से किन शर्तों पर खुलेंगे स्कूल-कॉलेज

स्टूडेंट्स, अभिभावकों की लिखित सहमति से ही स्कूल जा सकते हैं.

इस शर्त पर यूपी प्रशासन ने राहुल-प्रियंका को हाथरस जाने की अनुमति दी

इस शर्त पर यूपी प्रशासन ने राहुल-प्रियंका को हाथरस जाने की अनुमति दी

कथित गैंगरेप पीड़िता के परिवार से मिलने जा रहे हैं राहुल-प्रियंका.

हाथरस केस: एसपी और सीओ सस्पेंड, जानिए डीएम का क्या हुआ?

हाथरस केस: एसपी और सीओ सस्पेंड, जानिए डीएम का क्या हुआ?

सभी पक्ष-विपक्ष वालों का पॉलीग्राफी टेस्ट भी होगा.

हाथरस केस: यूपी पुलिस को किसी को भी गांव में जाने से रोकने का बहाना मिल गया है!

हाथरस केस: यूपी पुलिस को किसी को भी गांव में जाने से रोकने का बहाना मिल गया है!

खबर है कि राहुल गांधी और प्रियंका गांधी पीड़ित परिवार से मिलने जाने वाले हैं.