Submit your post

Follow Us

सूरज के वोल्टेज को कम करेंगे वैज्ञानिक ताकि इस शहर में पानी बचा रहे

दक्षिण अफ्रीका का केपटाउन शहर. प्राकृतिक नजारों से भरा हुआ. क्रिकेट प्रेमियों की ज़ुबान पर रहने वाला शहर. ये शहर पिछले कुछ सालों एक अलग वजह से ख़बरों में है. ख़बर ये कि शहर में पानी की भारी किल्लत हो गई है. शहर में पानी की समस्या इतनी भयानक है कि 2018 में जब भारतीय क्रिकेट टीम केपटाउन में खेलने गई थी तो टीम के हर सदस्य को एक हिदायत दी गई. वो ये कि 2 मिनट से ज़्यादा नहीं नहाना है. ऐसा शायद पहली बार हुआ, जब किसी क्रिकेट टीम को नहाने को लेकर कोई एडवाइजरी दी गई हो.

शहर में पानी की समस्या को देखते हुए वैज्ञानिकों ने एक बेहद अजीब सुझाव दिया है. वैज्ञानिकों का कहना है कि अगर हम शहर पर पड़ रहे सूरज की रोशनी को कम कर पाएं तो शहर में पानी की समस्या को कुछ समय के लिए टाला जा सकता है. सुनने में बेशक ये अजीब लग रहा हो लेकिन वज्ञानिकों के मुताबिक ऐसा मुमकिन है.

सूरज की तपिश कम करने के लिए क्या किया जाएगा?

वैज्ञानिकों का कहना है कि केपटाउन को पूरी तरह सूखने से बचाने के लिए, सल्फर डाइऑक्साइड गैस को बड़ी मात्रा में शहर के आसमान के ऊपर छोड़ा जाएगा. इस गैस से शहर के ऊपर ढ़ेर सारे बादल बन जाएंगे. इन बादलों के कारण सूरज की रोशनी नीचे कम आएगी. और अगर प्रयोग सफल रहा तो इससे प्राकृतिक जलाशयों में पानी को सूखने से बचाया जा सकता है. यानि डे-जीरो को कुछ सालों तक और टाला जा सकता है.

क्या है “डे-जीरो”?

केपटाउन के जल संकट की जब चर्चा होती है तो डे जीरो शब्द बार-बार आता है. आइये जानते हैं क्या है ये डे-जीरो. डे-जीरो का अर्थ है वो दिन जब पानी की सप्लाई शहर में बंद हो जाएगी. यानी जब शहर का निगम हाथ खड़े कर के ये कह दे कि अब हमारे पास सप्लाई करने के लिए पानी नहीं है. केपटाउन कई सालों से इस डर से जूझ रहा है.

डे-जीरो के दिन क्या हो सकता है?

अनुमान है कि डे-जीरो के दिन शहर के जलाशयों में उसकी क्षमता का केवल 13.5% जल बचा होगा. अस्पतालों और अतिआवश्यक सेवाओं के लिए ही सिर्फ़ पानी सप्लाई की सुविधा होगी. लोगों के घरों में होने वाले सप्लाई को पूरी तरह बंद कर दिया जाएगा. लोग केवल 200 सार्वजनिक जगहों से पानी ले सकते हैं. वो भी एक दिन के लिए सिर्फ़ 25 लीटर प्रति व्यक्ति पानी मिलेगा.

शोधकर्ताओं का मानना है कि सूरज की रौशनी को कम करने वाली तकनीक का इस्तेमाल करके इस डे-जीरो वाले संकट को साल 2100 तक लगभग 90% तक टाला जा सकता है. हालांकि कुछ वैज्ञानिकों का मानना है कि ऐसा करना पर्यावरण के लिए ख़तरनाक साबित हो सकता है.


मुंबई के जुहू बीच पर आधी रात को क्यों ब्लू लाइट मारने लगा समुद्र का पानी?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

हार के साथ टीम इंडिया का ये नुकसान और हो गया!

हार के साथ टीम इंडिया का ये नुकसान और हो गया!

स्मिथ और ज़म्पा ने भी की शिकायत.

विराट कोहली की घरवापसी से इन ऑस्ट्रेलिया वालों को क्या तकलीफ है?

विराट कोहली की घरवापसी से इन ऑस्ट्रेलिया वालों को क्या तकलीफ है?

फॉक्स से लेकर चैनल 7 तक परेशान हैं.

छेड़खानी का विरोध करने पर लड़के ने काट दिया लड़की का गला!

छेड़खानी का विरोध करने पर लड़के ने काट दिया लड़की का गला!

मामला यूपी के बलिया इलाके का है.

हार्दिक बोले, ऑल-राउंडर चाहिए तो इस खिलाड़ी को आज़मा लो!

हार्दिक बोले, ऑल-राउंडर चाहिए तो इस खिलाड़ी को आज़मा लो!

खुद कब गेंदबाज़ी करेंगे ये भी बता दिया.

जानें कौन हैं पवन बंसल जिनको कांग्रेस ने अपना नया कोषाध्यक्ष बनाया है

जानें कौन हैं पवन बंसल जिनको कांग्रेस ने अपना नया कोषाध्यक्ष बनाया है

अहमद पटेल के निधन से खाली हुई थी जगह

इंग्लैंड से अब ये कौन सा काउंटर अटैकिंग बल्लेबाज ला रहे हैं कोहली?

इंग्लैंड से अब ये कौन सा काउंटर अटैकिंग बल्लेबाज ला रहे हैं कोहली?

RCB में आएंगे हैरी केन!

नाइट कर्फ्यू का कोरोना वायरस के फैलने से क्या लेना-देना है? क्या कहता है पुलिस और प्रशासन?

नाइट कर्फ्यू का कोरोना वायरस के फैलने से क्या लेना-देना है? क्या कहता है पुलिस और प्रशासन?

जानिए क्या कहते हैं डॉक्टर्स और विशेषज्ञ?

गिलक्रिस्ट ने सिराज और नवदीप सैनी से माफी क्यों मांगी?

गिलक्रिस्ट ने सिराज और नवदीप सैनी से माफी क्यों मांगी?

कॉमेंट्री के दौरान हुआ ब्लंडर

मरियम नवाज़ ने पहले जेल के बाथरूम में कैमरे होने की बात कही और अब ये दावा किया है

मरियम नवाज़ ने पहले जेल के बाथरूम में कैमरे होने की बात कही और अब ये दावा किया है

इस मामले में पीएम के सलाहकार ने भी अपना पक्ष रखा है.

भारत ने समंदर में चीन की हरकतों पर नज़र रखने के लिए लगाए हैं ये खास रडार!

भारत ने समंदर में चीन की हरकतों पर नज़र रखने के लिए लगाए हैं ये खास रडार!

जानिए क्या है भारत का SAGAR कार्यक्रम?